औरत - मां से पहले पत्नी थी : ( प्रश्न - उत्तर, चिंतन 1 )

20 दिसम्बर 2018   |  उदय पूना   (100 बार पढ़ा जा चुका है)

औरत - मां से पहले पत्नी थी : ( प्रश्न - उत्तर, चिंतन 1 )


आवश्यक है, अनिवार्य है मां का सम्मान;

मां, बच्चे का जीवन है, क्यों न हो

मां का सम्मान।


इस के संबंध में कुछ चर्चा करते हैं;

मां पहले पत्नी थी, पत्नी रूप में कितना था सम्मान ??


मां का; समाज, व्यक्ति और संतान; करें इतना सम्मान;

पहले पहले मां पत्नी थी; पत्नी रूप में कितना था सम्मान ??


कृपया ध्यान दें, विचार करें :


पत्नी रूप से ही देना शुरू हो सम्मान;

तब वो, मन और शरीर से, स्वस्थ रहेगी;

मां बनने केलिए पूर्णरूप से तैयार रहेगी;

फिर और भी सार्थक हो जायेगा मां का सम्मान।।


तब संतान और भी स्वस्थ होगी;

और भी बढ़ जाएगा, देश परिवार समाज का सम्मान।।


उदय पूना,

92847 37432,


विशेष :

इस रचना में जो इशारा है उस के सबंध में आपकी क्या राय है ?

आपका क्या सुझाव है ?

अभी तक जीवन में, इस संबंध में आप ने क्या देखा है ?


उदय पूना,

92847 37432,

अगला लेख: मां पहले पत्नी थी; पत्नी रूप में कितना था सम्मान ??



उदय पूना
21 दिसम्बर 2018

शब्दनगरी मंडल ने इस रचना को आज की सर्वश्रेष्ठ रचना के रूप में चयनित कर के और इसे आज शब्दनगरी के मुख्यपृष्ठ (www.shabd.in) पर प्रकाशित करके सम्मान किया है| साधुवाद, प्रणाम; समाज पर चर्चा होते रहना चाहिए;

उदय पूना
20 दिसम्बर 2018

इस पर विचार करें, यहां अपनी राय अवश्य लिखें; प्रणाम

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 दिसम्बर 2018
झगड़ा और दुश्मनीयदि आपस में कुछ या गंभीर;मनमुटाव, गलतफहमी, तकलीफ, घाटा आदि हो जाये;और बहुत गुस्सा आ जाये;तो भले ही छोटा झगड़ा कर लेना;पर दुश्मनी करना नहीं।। दुश्मनी कर लेने के बाद, पछताना ही शेष रहता है;फिर रिश्ता बचता ही नहीं; फिर से एक
06 दिसम्बर 2018
17 दिसम्बर 2018
" आगे क्या होगा " -- हम क्यों मानकर चलें कि आगे बुरा ही होगा : प्रस्तावना, भूमिका क्या हमें पता होता है कि भविष्य में क्या क्या होने वाला है ??पर दिन-प्रतिदिन के जीवन में हमें यदा-कदा अनुभव होता है कि हम मानकर चलने लगतें हैं "आगे बुर
17 दिसम्बर 2018
18 दिसम्बर 2018
** ज्ञान की ओर - ( मनन - 2 ) **हम ज्ञान की ओर तभी बढ़ेंगे;जब हमें जानने की इच्छा हो;उत्सुकता हो;हमारे स्वयं के निज ज्ञान में क्या है या क्या नहीं है कि स्पष्टता हो;हमारे स्वयं के निज अनुभव में क्या आया है या क्या नहीं आया है कि स्पष्टता हो। एक उदाहरण लेलें, तो बात औ
18 दिसम्बर 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x