लहू के आंसू...

26 मार्च 2019   |  Arshad Rasool   (40 बार पढ़ा जा चुका है)

लहू के आंसू...


कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान से

लहू के आंसू गिरने लगे आसमान से


देखे थे जो सपने सब चकनाचूर हुए

तार-तार सब उनके शुभ दस्तूर हुए

नहीं मिलेंगे वो हमको इतने दूर हुए

भेजा था सीमा पर किस अरमान से

कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान से
लहू के आंसू गिरने लगे आसमान से

आंधियों से तूफां बनकर टकरा गया

फर्ज था उसका निभाकर चला गया

जैसे वह सोचकर निकला हो घर से

तिरंगे में लिपटकर आऊंगा शान से

कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान से
लहू के आंसू गिरने लगे आसमान से

बरबाद नहीं होगी वीर! कुर्बानी तेरी

ओ दुश्मन याद दिला देंगे नानी तेरी
और ज्यादा नहीं चलेगी मनमानी तरेी
हम भी अब सौ सिर उड़ाएंगे एलान से

कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान से
लहू के आंसू गिरने लगे आसमान से

कैसे सब्र करें इतने वीरों को खोया है

धरती तो क्या आसमान तक रोया है

देखें तो तुमने बारूद कितना बोया है

चलो आरपार हो जाए पाकिस्तान से

कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान से
लहू के आंसू गिरने लगे आसमान से

होली हो, वह ईद हो चाहे हो दीवाली

तुम बिन लगती हर खुशी अब काली

हर खुशी मानो जैसे द रही हो गाली

मगर जीना सिखा गए वो सम्मान से

कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान से
लहू के आंसू गिरने लगे आसमान से

सुन ले तू धोखे से हमला करने वाले

इन ललकारों से हम नहीं डरने वाले

मरते नहीं कभी वतन पर मरने वाले

अमरत्व भी पाया है निराली शान से

कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान से
लहू के आंसू गिरने लगे आसमान से

गद्दारों हम तुमको औकात बता देंगे

एक के बदले हम सौ सिर गिरा देंगे

नेताजी देश को अब जवाब क्या देंगे

हर बार क्यों मुकर जाते हो जुबान से

कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान से
लहू के आंसू गिरने लगे आसमान से

अगला लेख: गम का तूफान



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
26 मार्च 2019
सभी जानते हैं कि बादशाह शाहजहां अपनी बेगम मुमताज़ से बहुत प्यार करते थे। उन्होंने अपनी बेगम की याद में संगमरमर की इमारत तामीर कराई थी, जिसको हम ताजमहल के नाम से जानते हैं। यह ताज दुनिया के सात अजूबों में से एक है। संगमरमर की यह इमारत बेहद खूबसूरत है। इसकी खूबसूरती ने श
26 मार्च 2019
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x