कविता खुशबू का झोंका

03 अप्रैल 2019   |  सुखमंगल सिंह   (48 बार पढ़ा जा चुका है)

कविता  खुशबू का झोंका - शब्द (shabd.in)

कविता खुशबू का झोंका

----------------------------

कविता खुशबू का झोंका, कविता है रिमझिम सावन

कविता है प्रेम की खुशबू, कविता है रण में गर्जन


कविता श्वासों की गति है, कविता है दिल की धड़कन

हॅंसना रोना मुस्काना, कवितामय सबका जीवन


कविता प्रेयसी से मिलन है, कविता अधरों पर चुंबन

कविता महकाती सबको, कविता से सुरभित यह मन


कभी मेल कराती सबसे, कभी करवाती है अनबन

कण कण में बसती कविता, कवितामय सबका जीवन


कविता सूर के पद हैं, कविता तुलसी की माला

कविता है झूमती गाती, कवि बच्चन की मधुशाला


कहीं गिरधर की कुंडलियां, कहीं है दिनकर का तर्जन

गालिब और मीर बिहारी, कवितामय सबका जीवन


कविता है कभी हॅंसी तो, कभी दर्द है कभी चुभन है

बन शंखनाद जन मन में, ला देती परिवर्तन है


हैं रूप अनेकों इसके, अदभुत कविता का चिंतन

मानव समाज का दर्शन, कवितामय सबका जीवन

अगला लेख: खिली बसंती धुप "



अलोक सिन्हा
07 अप्रैल 2019

सुख मंगल जी ! बहुत ही सुगठित व् सरस् रचना है यह आपकी |

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
29 मार्च 2019
*मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है जो एक समाज में रहता है | किसी भी समाज में रहने के लिए मनुष्य को समाज से संबंधित बहुत से विषय का ज्ञान होना चाहिए , और मानव जीवन से संबंधित सभी प्रकार के ज्ञान हमारे महापुरुषों ने पुस्तकों में संकलित किया है | पुस्तकें हमें ज्ञान देती हैं | किसी भी विषय के बारे में जानने
29 मार्च 2019
20 मार्च 2019
बहुत से लोग पेट में गैस होने की समस्या से परेशान रहते है, लेकिन लोग इसे साधारण समस्या समझकर नजरअंदाज कर देते हैं. कई बार पेट में गैस होने की वजह भूख की कमी, सीने में दर्द, सांस लेने में परेशानी और पेट का फूलना माना जाता है. पेट की समस्या बीमारियों में गैस की समस्या आम होती है और ये बहुत से लोगों को
20 मार्च 2019
26 मार्च 2019
लहू के आंसू...कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान सेलहू के आंसू गिरने लगे आसमान सेदेखे थे जो सपने सब चकनाचूर हुएतार-तार सब उनके शुभ दस्तूर हुएनहीं मिलेंगे वो हमको इतने दूर हुएभेजा था सीमा पर किस अरमान से कौन रुख़सत हुआ है हिन्दुस्तान से लहू के आंसू गिरने लगे आसमान सेआंधियों से तूफां बनकर टकरा गयाफर्ज
26 मार्च 2019
25 मार्च 2019
आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपनी सेहत का ख्याल नहीं रख पा रहे हैं और ऐसे में लोगों को बीमारियां या वजन बढ़ने की शिकायत होती है. जो लोग घर से दूर अकेले रहते हैं या फिर जिनका दिनभर बैठने का काम है उनमें वजन बढ़ने और पेट निकलने की शिकायत अक्सर हो जाती है. ऐसा इसलिए
25 मार्च 2019
22 मार्च 2019
वैसे तो हर बीमारी शरीर को हानि पहुंचाती है लेकिन हैजा बहुत ही खतकनाक संक्रामक बीमारी है जिसके कारण जीवाणु भोजन और पानी के द्वारा शरीर में प्रवेश करता है. कीटाणुओं के शरीर में फैलते ही इसका असर 3 से 4 दिनों में दिखने लगता है और अगर समय पर इसके लक्षण पता चल जाएं तो इसकी जांच में बिल्कुल देरी नहीं करनी
22 मार्च 2019
22 मार्च 2019
वि
कविताविज्ञापनविजय कुमार तिवारीजागते ही खोजती है अखबार,झुँझलाती है-कि जल्दी क्यों नहीं दे जाता अखबार। अखबार में खोजती है-नौकरियों के विज्ञापन। पतली-पतली अंगुलियों से,एक -एक शब्द को छूती हुई,हर पंक्ति पर दृष्टि जमाये,पहुँच जाती है अंतिम शब्द तक। गहरा निःश्वांस छोड़ती है
22 मार्च 2019
21 मार्च 2019
शुक्र का कुम्भ राशि में गोचर आज दिन में सभीने रंग और उत्साह का पर्व होली धूम धाम से मनाया | सभी को एक बार पुनः इस रंगपर्वकी रंगभरी उल्लासभरी हार्दिक शुभकामनाएँ |आज फाल्गुनकृष्ण प्रतिपदा है, और आज अर्द्धरात्र्योत्तर तथा कल 22 मार्च को सूर्योदय से पूर्व तीन बजकरपैंतालीस मिनट के लगभग कौलव करण और वृद्धि
21 मार्च 2019
22 मार्च 2019
ईरानी खानम, जीना सिखा गयी डॉ शोभा भारद्वाज पलवल शटल से जा रही थी गाड़ी चलने से पहले एक महिला डिब्बे में चढ़ीं उनको देखकर यात्रियों ने तुरंत बैठने के लिए सीट दे दी जबकि मैं पहले से खड़ी थी महिला नेमेरे लिए भी अपने पास जगह बना दी मैं उनको एकटक देख रही थी , बोलने के मीठे लहजेमें ईरानी शिष्टाचार था नील
22 मार्च 2019
14 अप्रैल 2019
मु
जाने कैसा घुटन भरा अँधेरा है , सकल कारवां विपदाओं ने घेरा है | पथ दर्शक सब दरबारी चारण हुये , किससे पूछें कितनी दूर सवेरा है | 2 मैंने उगता छिपता सूरज देखा है ,क्षितिज नहीं कुछ भी बस भ्रम की रेखा है | तुम शासन के प्रगति आंकड़े
14 अप्रैल 2019
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x