सजना

08 मई 2019   |  मंजू गीत   (36 बार पढ़ा जा चुका है)

आपके लबों का काला तिल, प्रेम से भरा मतवाला दिल, हमें आपका बताता है। गालों पर बिखरी, आपकी काली लट, आपके कंधे पर पड़ती, आंचल की चुनन्ट, हमें आपका बनाता है। आपकी गोरी कलाई में इतराता कंगना, बाहों में भर आपका कहना, ओ सजना... हमें आपका बताता है। आपके नाक की लोंग, कानों में लटकती सोने की लड़ियां। आपके बिन गुजरी ,जो दूरी की घड़ियां... हमें आपका बनाता है। आपकी आंखों का मस्त काजल, गोरे पांव में छनकती पायल... हमें आपका बनाता है। सुबह आपको देख जगना, रात को आपसे बतियाना, हमें आपका बनाता है। आपकी सांसों की खुशबू, सीने से लग करना, प्यार भरी गुफ्तगू... हमें आपका बताती है। आपका नज़रों के आइने में देखना, और अपनी हथेली में रख मेरी हथेली आपका समझाना.. हमें आपका बनाता है।

अगला लेख: संवरना



जी

वाह

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x