अर्पण करते स्व जीवन - शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

05 सितम्बर 2019   |  शालिनी कौशिक एडवोकेट   (3587 बार पढ़ा जा चुका है)

Sarvepalli Radhakrishnan



अर्पण करते स्व-जीवन शिक्षा की अलख जगाने में ,

रत रहते प्रतिपल-प्रतिदिन शिक्षा की राह बनाने में .

..........................................................................................

आओ मिलकर करें स्मरण नमन करें इनको मिलकर ,

जिनका जीवन हुआ सहायक हमको सफल बनाने में .

.........................................................................................

जीवन-पथ पर आगे बढ़ना इनसे ही हमने सीखा ,

ये ही निभाएं मुख्य भूमिका हमको राह दिखाने में .

.......................................................................................

खड़ी बुराई जब मुहं खोले हमको खाने को तत्पर ,

रक्षक बनकर आगे बढ़कर ये ही लगे बचाने में .

...................................................................................

मात-पिता ये नहीं हैं होते मात-पिता से भी बढ़कर ,

गलत सही का भेद बताकर लगे हमें समझाने में .

...................................................................................

पुष्प समान खिले जब शिष्य प्रफुल्लित मन हो इनका ,

करें अनुभव गर्व यहाँ ये उसको श्रेय दिलाने में .

............................................................................................

शीश झुकाती आज ''शालिनी ''अहर्नीय के चरणों में ,

हुए सहाय्य ये ही सबके आगे कदम बढ़ाने में .

.................................................................

शालिनी कौशिक

[कौशल ]

अगला लेख: आश्चर्यजनक है वकीलों की चुप्पी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x