गुरु की महता

05 नवम्बर 2019   |  व्यंजना आनंद   (468 बार पढ़ा जा चुका है)

🌷गुरु की महता 🌷

*****************


गुरु तम मिटाने वाला ,

गुरु हैं संजीवनी।

उनकी कृपा वृष्टि हो तो,

होती सुंदर जीवनी ।।

*

माँ प्रथम गुरु होती है,

पिता मार्ग दर्शक।

माँ पीड़ा हर लेती है,

पिता बनते रक्षक।।

*

सच्चा गुरु वही होता है,

जो चरित्र बदल दे।

शिष्य के हर व्यवहार

कर दे वे सरल रे।।

*

गुरु संस्कार मिटाने वाला,

पीड़ा को हटाने वाला ।

मनसा पूर्ण कर के जो ,

बंधनों से मुक्त कराने वाला ।।

**

✡व्यंजना आनंद ✡

अगला लेख: प्रेम पावनी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
30 अक्तूबर 2019
कु
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:SaveIfXMLInvalid>false</w:SaveIfXMLInvalid> <w:IgnoreMixedContent>false</w:IgnoreMixedContent> <w:AlwaysShowPlaceh
30 अक्तूबर 2019
23 अक्तूबर 2019
दो दिन गुजर गए-मुई ये रात भी-बीत हीं जाएगी।चलो तुम्हारीखुशबुओं से,कल की सुबह-दमक-गमक जाएगी।।रौशन शाम;महक------सराबोर कर जाएगी।ग़रीब की झोपड़ीआशियाना बन,मुहब्बत की,मिशाल बन जाएगी।।डॉ. कवि कुमार निर्मल
23 अक्तूबर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x