एक कलम हूं मैं

05 नवम्बर 2019   |  शिल्पा रोंघे   (3117 बार पढ़ा जा चुका है)

एक कलम हूं मैं,
खुद को ही सजाती हूं मैं।
और खुद को ही सवांरती हूं मैं।
कविता, कहानी और लेख बनकर
अपने ही हाथों से शब्दों की तस्वीर कागज़ पर बनाती हूं
मैं।
जो कैमरे से नहीं स्याही से बनती है।
जो आंखों से नहीं दिखती लेकिन
सीधे ज़हन में उतरती है

शिल्पा रोंघे

अगला लेख: किताबें पढ़ने से होते है ये फ़ायदे



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
25 अक्तूबर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormattin
25 अक्तूबर 2019
04 नवम्बर 2019
मा
मासूम बन के बहुत दिल तोड़ लिए साहिब, अब गुनाह कबूलने का है वक्त आ गया. आग इश्क की लगाईं जो है दिल में मेरे, उस आग में जलने का तेरा वक्त आ गया. ना जियेंगे हम ना तुम ही यूँ जी पाओगे, खेल आग का है इससे यूँ बच ना पाओगे. आसान
04 नवम्बर 2019
21 अक्तूबर 2019
दिल्ली विधानसभा चुनाव अगले साल होने वाले हैं और ऐसे में कांग्रेस, बीजेपी और केजरीवाल ने अपनी-अपनी कमर कस ली है। हर कोई अपनी पार्टी को अच्छा साबित करने की प्रक्रिया शुरु कर चुका है। इसी मैदानी जंग मे अपने पिता का समर्थन करने के लिए वर्तमान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बेटी भी उतर आई हैं। उन्हें दिल
21 अक्तूबर 2019
06 नवम्बर 2019
कि
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <w:ValidateAgainstSchemas></w:Val
06 नवम्बर 2019
06 नवम्बर 2019
कि
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <w:ValidateAgainstSchemas></w:Val
06 नवम्बर 2019
23 अक्तूबर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <
23 अक्तूबर 2019
21 अक्तूबर 2019
देशभर में दीपावली का माहौल चल रहा है और हर कोई खरीददारी में लगा हुआ है। 25 अक्टूबर को धनतेरस का पर्व मनाया जाएगा और इस दिन आमतौर पर लोग बर्तन, सोना या चांदी खरीदते हैं, लेकिन इस विधायक ने ऐसा बयान दे दिया है कि आपको इनकी बात सही भी लग सकती है और गलत भी। ये बयान भारतीय जनता पार्टी के एक नेता ने कही ह
21 अक्तूबर 2019
12 नवम्बर 2019
सांप सीढ़ी सिर्फखेल नहीं,जीवन दर्शन भी है.सफलता और विफलता दुश्मन नहीं, एक दूसरे की साथी है.हर रास्ते पर सांप सा रोड़ा, कभी मंजिल के बेहद करीब आकर भी लौटना पड़ता है.कभी सिफ़र से शिखर तो कभी शिखर से सिफ़र का सफ़र तय करना पड़ता है.सफलता का कोई
12 नवम्बर 2019
21 अक्तूबर 2019
भारत में कुछ जगहें ऐसी हैं जहां पर नकल कराकर पास करवाने की अलग से फीस लगती है और अगर कोई फीस नहीं दे पाता है तो उन्हें फेल कर दिया जाता है। स्टूडेंट्स स्कूल प्रशासन की बातों में आकर ऐसी फीस देने को तैयार भी हो जाते हैं क्योकि उन्हें अच्छे मार्क्स से मतलब होता है। मगर कर्नाटक के स्कूल में छात्रों के
21 अक्तूबर 2019
19 नवम्बर 2019
हुई सभा एक दिन गुड्डे गुड़ियों की.गुड़िया बोली,मैं सुंदरता की पुड़ियामुझसे ना कोई बढ़िया.इतने में आया गुड्डापहन के लाल चोला,कितनों का घमंड है मैंने तोड़ा.बीच में उचका काठी का घोड़ाअरे चुप हो जाओ तुम थोड़ा.मैंने ही हवा का रुख़ है मोड़ा.लट्टू घूमा, कुछ झूमा.बोला लड़ों
19 नवम्बर 2019
15 नवम्बर 2019
सो
फ्रेंच के साथ फ्रांसीसी जर्मन के साथ जर्मनवासी,जापानी भाषा के साथ जापान निवासी बना गए देश को विकसित और उन्नत.अंग्रेजी सभ्यता के बनकरअनुगामी, विकासशील से विकसित राष्ट्र का सफर अब तक क्या तय कर पाए है हिन्दुस्तानी ?
15 नवम्बर 2019
30 अक्तूबर 2019
कु
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:SaveIfXMLInvalid>false</w:SaveIfXMLInvalid> <w:IgnoreMixedContent>false</w:IgnoreMixedContent> <w:AlwaysShowPlaceh
30 अक्तूबर 2019
02 नवम्बर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <
02 नवम्बर 2019
23 अक्तूबर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <
23 अक्तूबर 2019
02 नवम्बर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <
02 नवम्बर 2019
21 अक्तूबर 2019
कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर एक ही नाम और एक ही धुन खूब छाई हुई थी। कोलकाता के रेलवे स्टेशन पर गाना गाकर अपना पेट भरने वाली रानू मंडल ने पिछले दिनों खूब लोकप्रियता बटोरी। सोशल मीडिया पर उन्हें काफी सहानुभूति मिली और धीरे-धीरे वे स्टेशन से बॉलीवुड तक पहुंच गई, इतना ही नहीं म्यूजिक डायरेक्टर हिमेश रेश
21 अक्तूबर 2019
24 अक्तूबर 2019
💓💓💓💓💓💓💓💓💓💓भाषा में "साहित्य" छुपा है💓💓भाषाविद् "हित" करता है💓💓काव्य सरीता का अविरल प्रवाह💓💓"क्षिर सागर" से जा मिलता है।💓💓💓डॉ कवि कुमार निर्मल💓💓
24 अक्तूबर 2019
27 अक्तूबर 2019
दीपवाली में 'मन' माना दूर,मंदीर अलग-अलग चमकते हैं!चंचल लक्ष्मी ठम- खड़ी दूर,हृदयहीन के घर-आँगन सजते हैं!!निर्मल
27 अक्तूबर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x