इस बिछड़न हम कोई गीत लिख दे

03 जुलाई 2020   |  AYESHA MEHTA   (298 बार पढ़ा जा चुका है)

इस बिछड़न हम कोई गीत लिख दे

इस बिछडन हम कोई गीत लिख दे

या लिख दे हम अपनी दुःख भरी कहानी

दिन बीते नहीं रतियन कटे नहीं

एक अखियन से दूजे अखियन में बहे पानी

भूल भुलाने को दिल को बहलाने को

यहाँ कितने खिलौने है दिल को हरसाने को

पर तोहरे बिना न जियरा हमरा लागी

इन पलकों पर अब कोई ख्वाब नहीं सजते

सुबह के नव उजाले में नव उम्मीद नहीं जगते

शामो सहर है अब तेरी यादों की बस रवानी

अगला लेख: कल्पना



रचना अच्छी है पर रचना की सादगी से पेज पर दिख रही एक अन्य फोटो मेल नहीं खाती ।

आलोक सिन्हा
03 जुलाई 2020

अच्छी रचना है |

AYESHA MEHTA
14 जुलाई 2020

आभार आलोक जी 🙏

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 जुलाई 2020
💐💐राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस💐💐भारत का डॉक्टर हार रहा-हुआ हताशकवि अश्रु बहा थकित-हो रहा निराश''कोभिड'' फटेहाल देख डॉक्टर कोआगोश में समेट कहीं छुप जाता हैघर में बने 'मास्क' पहन क्या (?) कोईकोभिड संक्रमण से क्या बच पाता हैपैदल चल कर आखीर कैसे डॉक्टर५लाख पार खाने वाले को-मार भगा पाएगापहुँच रहा आँकड़
01 जुलाई 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x