महेंद्र सिह धोनी प्राउड ऑफ़ इंडियन क्रिकेट टीम

17 अगस्त 2020   |  प्रभात पांडेय   (401 बार पढ़ा जा चुका है)

जब जब गरजा धोनी का बल्ला

विश्व पताका लहराई

1983 के बाद ,2011 में ट्रॉफी आई

स्टम्पिंग और बैटिंग देखकर जिसकी

दुनिया स्तब्ध हो जाती थी

शान्त रहकर कैसे देते हैं मात

धोनी ने ही सिखायी थी

फौलादी था जिगर जिसका

न झुकने वाला हौसला था

दुनिया ने माना था लोहा

जब हेलीकॉप्टर शॉट निकला था

२८ साल का ख्वाब जब कोई पूरा न कर पाया था

अपने सिक्सर से जीत दिलाकर

धोनी ने ही जश्न मनवाया था

कभी धोनी की उड़ती जुल्फों का

मुशर्रफ ने गुणगान गाया था

अपने कप्तानी की कूटनीति से

पाकिस्तानियों को नचाया था

जब झुक गए थे भारत के कन्धे

देश को टी 20 विजेता बनवाया था

जब चल रहे हों आखरी ओवर

धोनी का बल्ला आग उगलता था

ऐसे ही नहीं चेन्नई सुपर किंग्स को

आईपीएल विजेता बनाया था

महेंद्र सिंह धोनी ही वह नाम है

जो कप्तानों का कप्तान है

वह शूरवीर योद्धा ही नहीं

पूरे भारत का अभिमान है

धोनी तुम्हारी खेली पारियों के सम्मत

मैं शीश झुकाता हूँ

आगे भी हो उज्जवल भविष्य तुम्हारा

ईश्वर से यह मनाता हूँ

अगला लेख: ॐ साई राम



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x