हिंदुस्तान के युव हिंदी अब कहते भी शर्माते हैं

23 सितम्बर 2020   |  अभिनव मिश्रा"अदम्य"   (7178 बार पढ़ा जा चुका है)

हिंदी दिवस पर विशेष___

*प्रतियोगिता हेतु*

*मातृभाषा,हिन्दी*

*हास्य,कविता*

🥦🥦🥦🥦🥦🥦🥦🥦🥦🥦🥦🥦

देश हमारा उन्नति पर है,

सब अंग्रेजी बतलाते हैं ।

हिंदुस्तान के युवा हिंदी,

अब कहते भी शर्माते है ।

🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷

कविता हो या छन्द-वन्दना,

कुछ ऐसा तुम श्रंगार करो ।

हिंदी के नौ रस छन्दो से,

मन चाहें जैसा भाव भरो ।

गाँवों में अब भी हिंदी में,

सब बूढ़े जन बतलाते है ।

हिंदुस्तान के युवा हिंदी,

अब कहते भी शर्माते है।

🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷󝰼󝰊

हिंदुस्तान में जन्म हुआ,

तुम हिंदी का सम्मान करो ।

तुम पढो-लिखो कुछ भी लेकिन,

मत हिंदी का अपमान करो ।

राजभाषा छोड़के अब वो,

अंग्रजी पढ़ने जाते हैं ।

हिंदुस्तान के युवा हिंदी,

अब कहते भी शर्माते है ।

🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷

साहित्यकारों ने मेहनत,

कर आज सफलता पायी है ।

वर्षो कलम चलाई सब ने,

तब हिंदी पर तरुणाई है ।

अब हिंदी को स्वीकार करो,

क्यों आप मजाक बनाते है ।

हिंदुस्तान के युवा हिंदी,

अब कहते भी शर्माते है ।

🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷

सारे जग में रौशन कर दो,

घर-घर में स्वीकार करो ।

हे हिन्दुस्तनी मानव तुम,

कुछ हिंदी पर उपकार करो ।

कुछ शहरी बाबू बड़े हुये,

वो हिंदी से कतराते हैं ।

हिंदुस्तान के युवा हिंदी,

अब कहते भी शर्माते है ।

🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷

युवा-वृध्द या बालक हो सब ,

मिल हिंदी का विस्तार करो ।

अंग्रेजी माध्यम जो पढ़ते,

उन्हें हिंदी भी प्रदान करो ।

पापा मम्मी भूल गये वो,

अब डैडी मॉम बुलाते हैं ।

हिंदुस्तान के युवा हिंदी,

अब कहते भी शर्माते है ।

🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷

स्वरचित:-

अभिनव मिश्रा✍️✍️

( शाहजहांपुर )

🔺🔺🔺🔺🔺🔺🔺🔺🔺🔺🔺🔺🔺

अगला लेख: मरीजों सा हुआ है अब हमारा हाल कुछ ऐसा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x