मातारानी के दरबार में दुःख दर्द मिटाए जाते हैं....

23 अक्तूबर 2020   |  अशोक सिंह 'अक्स'   (429 बार पढ़ा जा चुका है)

मातारानी के दरबार में दुःख दर्द मिटाए जाते हैं....

मातारानी के दरबार में दुःख दर्द मिटाए जाते हैं...


मातारानी के दरबार में
दुःख दर्द मिटाए जाते हैं..
दुनिया के सताए लोग यहाँ
सीने से लगाए जाते हैं।
मातारानी के दरबार में
दुःख दर्द मिटाए जाते हैं।


संसार मिला है रहने को
यहाँ दुःख ही दुःख है सहने को
पर भर-भर के अमृत के प्याले
यहाँ रोज पिलाये जाते हैं।
मातारानी के दरबार में
दुःख दर्द मिटाए जाते हैं।


पल-पल में आस निराश भई
दिन-दिन घटती पल-पल बढ़ती
दुनिया जिनको ठुकरा देती
वे गोद बिठाए जाते हैं।
मातारानी के दरबार में
दुःख दर्द मिटाए जाते हैं।


माँ का जयकारा लगाने वाले
माता की शरण में रहते हैं
कृपा मिलती है मातारानी का
वे भवन बुलाये जाते हैं।
मातारानी के दरबार में
दुःख दर्द मिटाए जाते हैं।


माँ दामन सबका भरती है
माँ झोली सबका भरती है
माँ गोदी सबका भरती है
माँ तिजोरी सबका भरती है
माँ बिगड़ी सबका सँवारती है
माँ कृपा सब पर बरसाती है
माँ भक्तों के मन में रहती हैं
दुनिया के ठुकराए लोग यहाँ
पलकों पर बिठाए जाते हैं।
मातारानी के दरबार में
दुःख दर्द मिटाए जाते हैं।

➖ अशोक सिंह
☎️ 9867889171

#पागल_पंथी_का_जुनून
#स्वरचित_हिंदीकविता

मातारानी के दरबार में दुःख दर्द मिटाए जाते हैं....

अगला लेख: अनमोल वचन ➖ 3



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
14 अक्तूबर 2020
"उठो बहना शमशीर उठा लो..."उठो बहना शमशीर उठा लोसोयी सरकार न जागेगीहर घर में है दुःशासन बैठाऔर कब तक तू भागेगी...?समय आ गया फिर बन जाओतुम झाँसी की रानीशमशीर उठाकर लिख डालोएकदम नई कहानीमरते दम तक याद रहेसबको एकदम जुबानी....।उठो बहना शमशीर उठा लोबन जाओ तुम मरदानीकोई नज़र
14 अक्तूबर 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x