भावना का दीप

12 नवम्बर 2020   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (411 बार पढ़ा जा चुका है)

भावना का दीप

कल हमारी प्यारी बिटिया स्वस्ति ने बहुत ही नयनाभिराम पुष्प “प्रवीर शर्मा जीतसिंह” को जन्म दिया... नानी बनने पर कैसे आनन्द का अनुभव होता है इसका कल पता चला... अचानक ही “पदोन्नति” का आभास होने लगा... आनन्द के आवेग में कुछ पंक्तियाँ मन में उपजीं... जो आपके साथ साँझा करने का मन हुआ... कात्यायनी...

भावना के दीप में अतुलित भरा है स्नेह मन का
कर रहा सबको प्रकाशित, साथ में ले स्नेह मन का |
एक अंकुर नेहलतिका का, जो आया गोद में है
ओ री बिटिया, पल्लवित होगा वही, ले स्नेह मन का ||
चपल नयनों ने लुटाया फिर नया अनुराग देखो
प्रेम की नव कोपलों से खिल उठा उद्यान मन का |
बाँटता है स्वप्न मोहक, देखता भोले नयन से
अँजुली में नेह भरकर खटखटाता द्वार मन का ||
नयन में आनन्द के आँसू भरे, है उल्लसित मन
झूम कर आह्लाद में है नाचता हर भाव मन का ||
आँख का तारा तू सबकी, है सभी के मन का प्यारा
मुस्कराहट से ही तेरी महकता आँगन ये मन का |
सूर्य की किरणें सदा ही मार्ग में भर दें उजाला
चाँद तारे बाँसुरी पर राग छेड़ें मधुर मन का ||

__________कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा

भावना का दीप

अगला लेख: सूर्योपासना का पर्व छठ पूजा



रेणु
12 नवम्बर 2020

बहुत बहुत बधाई पूर्णिमा जी, दिवाली पर घर के दीपक का आगमन मुबारक हो🙏🙏, बिटिया रानी और नवागत शिशु स्वस्थ, सकुशल रहे यही कामना और दुआ करती हूँ. दिवाली शुभ हो मुबारक हो🌹🌹🌹🌹 रेणु शब्द नगरी

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
09 नवम्बर 2020
सूर्य का वृश्चिकमें गोचरमंगलवार सोलह नवम्बर कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा को प्रातः 6:54 के लगभग बव करण और अतिगण्ड योग में भगवान भास्कर विशाखा नक्षत्र पर रहतेहुए ही तुला राशि से निकल कर अपने मित्र ग्रह मंगल की वृश्चिक राशि में प्रस्थानकरेंगे | चन्द्रमा के साथ साथ राहु-केतु के मध्य भी सूर्यदेव रहेंगे | अपनी
09 नवम्बर 2020
01 नवम्बर 2020
धन्वन्तरीत्रयोदशीॐ नमो भगवते महासुदर्शनायवासुदेवाय धन्वन्तरयेअमृतकलशहस्ताय सर्वभयविनाशायसर्वरोगनिवारणाय |त्रिलोकपथाय त्रिलोकनाथाय श्रीमहाविष्णुस्वरूपायश्री धन्वन्तरीस्वरूपायश्रीश्रीश्री औषधचक्राय नारायणाय नमः ||ॐ नमो भगवते धन्वन्तरयेअमृतकलशहस्ताय सर्व आमयविनाशनाय त्रिलोकनाथायश्रीमहाविष्णुवे नम: ||कर
01 नवम्बर 2020
13 नवम्बर 2020
आज धन्वन्तरी त्रयोदशी –जिसे धनतेरस भी कहा जाता है – का पर्व है, और कल दीपमालिका के साथ धन की दात्रीमाँ लक्ष्मी का आह्वाहन किया जाएगा... धन, जो है उत्तमस्वास्थ्य का उल्लास… धन, जो है ज्ञान विज्ञान का आलोक… धन,जो है स्नेह-प्रेम-दया आदि सद्भावों का प्रकाश… सभी का जीवन इससमस्त प्रकार के वैभव से समृद्ध र
13 नवम्बर 2020
31 अक्तूबर 2020
अहोईअष्टमी व्रतआश्विन शुक्लपक्ष आरम्भ होते ही पर्वों की धूम आरम्भ हो जाती है | पहले शारदीय नवरात्र, बुराई और असत्य परअच्छाई तथा सत्य की विजय का प्रतीक पर्व विजया दशमी उसके बाद शरद पूर्णिमा औरआदिकवि वाल्मीकि की जयन्ती, फिर कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा सेकार्तिक स्नान आरम्भ हो जाता है | कल कार्तिक कृष्ण प्र
31 अक्तूबर 2020
07 नवम्बर 2020
शरद ऋतु की कोमल मुलायम सी धूप... ध्यान से देखेंगे तो अनगिनतीरूप... रंग और भाव दीख पड़ेंगे... कभी किसी नायिका सी... तो कभी श्वेत कपोत सी...तो कभी रेगिस्तान की मृगमरीचिका सी... कुछ इसी प्रकार के उलझे सुलझे से भावों केसाथ प्रस्तुत है हमारी आज की रचना... धूप शरद की... कात्यायनी...https://youtu.be/hVjKTmk
07 नवम्बर 2020
27 अक्तूबर 2020
शरद पूर्णिमासोमवार तीस अक्तूबर को आश्विन मास की पूर्णिमा, जिसेशरद पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है - का मोहक पर्व है | औरइसके साथ ही पन्द्रह दिनों बाद आने वाले दीपोत्सव की चहल पहल आरम्भ हो जाएगी |सोमवार को सायं पौने छह बजे के लगभग पूर्णिमा तिथि आरम्भ होगी जो 31अक्तूबर को रात्रि 8:19 तक रहेगी | इस दिन
27 अक्तूबर 2020
07 नवम्बर 2020
शरद ऋतु की कोमल मुलायम सी धूप... ध्यान से देखेंगे तो अनगिनतीरूप... रंग और भाव दीख पड़ेंगे... कभी किसी नायिका सी... तो कभी श्वेत कपोत सी...तो कभी रेगिस्तान की मृगमरीचिका सी... कुछ इसी प्रकार के उलझे सुलझे से भावों केसाथ प्रस्तुत है हमारी आज की रचना... धूप शरद की... कात्यायनी...https://youtu.be/hVjKTmk
07 नवम्बर 2020
03 नवम्बर 2020
गोवर्धन पूजा और अन्नकूटपाँच पर्वों की श्रृंखला दीपावली कीचतुर्थ कड़ी होती है कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा यानी दीपावली के अगले दिन की जाने वालीगोवर्धन पूजा और अन्नकूट | इस वर्ष पन्द्रह नवम्बर को प्रातः 10:36 के लगभग प्रतिपदातिथि का आरम्भ होगा जो सोलह नवम्बर को प्रातः सात बजकर छह मिनट तक रहेगी | गोवर्धनपूजा
03 नवम्बर 2020
05 नवम्बर 2020
भाईदूज, यम द्वितीया, चित्रगुप्तजयन्तीपाँच पर्वों की श्रृंखला दीपावली कीपञ्चम और अन्तिम कड़ी है 16 नवम्बर कार्तिक शुक्ल द्वितीया को मनाया जानेवाला भाई बहन के मधुर सम्बन्धों तथा भाईचारे का प्रतीक पर्व भाईदूज – जिसे यम द्वितीया केनाम से भी जाना जाता है | यम द्वितीया नाम के पीछे भी एक कथाहै कि समस्त चराच
05 नवम्बर 2020
15 नवम्बर 2020
साहित्य मित्र मंडल, जबलपुर(व्हाट्सऐप्प्स् समुह संख्या: १ - ८)रविवासरीय प्रतियोगिता में ''श्रेष्ठ सृजन सम्मान ''हेतु चयनित मेरी रचनादिनांक: १५.११. २०२०विषय: रोशनी का त्योहार🪔🪔🪔🪔🪔🪔🪔🪔🪔🪔🪔🪔रौशनी का त्योहार दीपावाली- सबको है भाता।।कोई लक्ष्मी पूजन करता, कोई बड़ा
15 नवम्बर 2020
14 नवम्बर 2020
आज दीपोत्सव की सभी को अनेकशःहार्दिक शुभकामनाएँ...माटी के ये दीप जलानेसे क्या होगा, जला सको तो स्नेह भरे कुछ दीप जलाओ |दीन हीन और निर्बल सबहीके जीवन में स्नेहपगी बाती की उस लौ को उकसाओ ||दीपमालिका मेंप्रज्वलित प्रत्येक दीप की प्रत्येक किरण हम सभी के जीवन में सुख, समृद्धि,स्नेह और सौभाग्य की स्वर्णिम
14 नवम्बर 2020
14 नवम्बर 2020
आज दीपोत्सव की सभी को अनेकशःहार्दिक शुभकामनाएँ...माटी के ये दीप जलानेसे क्या होगा, जला सको तो स्नेह भरे कुछ दीप जलाओ |दीन हीन और निर्बल सबहीके जीवन में स्नेहपगी बाती की उस लौ को उकसाओ ||दीपमालिका मेंप्रज्वलित प्रत्येक दीप की प्रत्येक किरण हम सभी के जीवन में सुख, समृद्धि,स्नेह और सौभाग्य की स्वर्णिम
14 नवम्बर 2020
28 अक्तूबर 2020
दू
दूर ना जाना ,पास आनाविचारों के सागर में संग ग़ोता लगाना मनमोहक सपने दिखाना सपनों में मंजिल को खोजते हुए रास्तों से इश्क हो जाना मंजिल के मिल जाने पर भी रास्तों से मोह न जाना यह कुछ वैसा ही है जैसे मृत्यु रुपी मंजिल तक जानाऔर पथ रूपी जिंदगी से लगन लग जाना।
28 अक्तूबर 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x