पुस्तक दिवस

23 अप्रैल 2021   |  डॉ कवि कुमार निर्मल   (411 बार पढ़ा जा चुका है)

पुस्तक दिवस

📙📓📘📗📗📘📓📙

📘📗पुस्तक दिवस📗📘📓

📙📓📘📗📗📘📓📙


पुस्तकों का अंबार कहाँ-

अब एण्ड्रॉयड का खेल है।

विमोचन औन लाइन-

'इंटरनेट' एक्सप्रेस-मेल है।।

शीलालेख से भोजपत्र की दौड़-

अब ई पेपर टेल है।

सृजन कर सेयर करलो -

ग्रुप्स की चल रही रेल है।।

बिचारा विद्यार्थी उदास-

लटकाये बस्ता कई सेर है।

तक्षशिला राख हुई-

खुदाबख्श मानो बना जेल है।।

कवि बउराया जब सब लिखा

परन्तु देखा मोबाइल फेल है।

सेभ करो लिखकर-

नाम रहेगा गोगुल में-

दीये का तेल है।।


डॉ. कवि कुमार निर्मल✍️

DrKavi Kumar Nirmal fb

अगला लेख: योग हीं प्रेम है



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
24 अप्रैल 2021
हि
<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:RelyOnVML/> <o:AllowPNG/> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKer
24 अप्रैल 2021
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x