MOVIE REVIEW: 'विश्वरूपम 2'

14 अगस्त 2018   |  रितिका चटर्जी   (44 बार पढ़ा जा चुका है)

MOVIE REVIEW: 'विश्वरूपम 2' - शब्द (shabd.in)

एक्टर कमल हसन की फिल्म 'विश्वरूपम 2' आज सिनेमाघरो में रिलीज होगी है। जब कमल हसन की फिल्म विश्वरूपम रिलीज हुई तो हर ओर कॉन्ट्रोवर्सी का माहौल बन गया था। कहीं इसके नाम के ऊपर विवाद होने लगे तो कहीं धार्मिक बातों के चलते इस पर बैन लगाने की भी कोशिश की गई। अब पांच साल बाद इस फिल्म का दूसरा पार्ट 'विश्वरूपम 2' रिलीज हुआ है।


फिल्म की कहानी रॉ एजेंट मेजर विशाम अहमद कश्मीरी (कमल हासन) की है जिनकी पत्नी निरूपमा (पूजा कपूर ) हैं। विशाम जब अलकायदा के मिशन से विश्वरूपम 1 में निकलता है तो वहीं से यह कहानी शुरू होती है। विशाम को इस बार भी मिशन के तहत उमर कुरैशी (राहुल बोस) के द्वारा फैलाए गए आतंकवाद को खत्म करना है। मिशन में उसकी मुलाकात अलग-अलग तरह के लोगों और घटनाओं से होती है, जिसका सामना करते हुए विशाम को काफी तकलीफों का सामना भी करना पड़ता है, इसी बीच कहानी में सलीम (जयदीप अहलावत) विशाम की मां (वहीदा रहमान), कर्नल जगन्नाथ( शेखर कपूर) और बाकी किरदारों की भी एंट्री होती है। बहुत सारे उतार-चढ़ाव भी दिखाई देते। अब क्या उमर कुरैशी के फैलाए गए आतंकवाद को विशाम खत्म कर पाता है या नहीं, इसे जानने के लिए देखनी पड़ेगा आपको फिल्म।

फिल्म की कहानी टि‍पिकल कमल स्टाइल की है। फिल्म में हाय ऑक्टेन एक्शन दर्शाने की कोशिश की गई है जो कि आकर्षण का केंद्र है। कमल ने काफी दुरुस्त अभिनय किया है और इस उम्र में भी काम के प्रति उनकी लगन पर्दे पर नजर आती है।फिल्म का डायरेक्शन अच्छा है और सिनेमेटोग्राफी के साथ-साथ लोकेशन भी कमाल की हैं। बैकग्राउंड स्कोर और टाइटल सॉन्ग अच्छा है। फिल्म के बाकी किरदार जैसे एंड्रिया जेरेमियां ,जयदीप अहलावत, अनंत महादेवन, शेखर कपूर, राहुल बोस का काम सहज है। वहीदा रहमान जी का छोटा दर्शनीय रोल है। कमल के द्वारा बोले गए कुछ संवाद भी काफी मजबूत है।


फिल्म की कमजोर कड़ी इसमें समय-समय पर आने फ्लैश बैक हैं जो शायद आपको कंफ्यूज कर सकते हैं। हालांकि फिल्म की शुरुआत में विश्वरूपम 1 के बारे में कुछ बातें बताई गई हैं, लेकिन फिल्म देखने के दौरान आपको इसके पहले भाग से पूरी तरह से परिचित होना चाहिए। यह फिल्म आपको टिपिकल साउथ इंडिया की फिल्मों की भी याद दिलाती है। कमल के अलावा फिल्म के बाकी किरदारों को और भी ज्यादा सजाया और संवारा जा सकता था। कमल के सामने फिल्म का विलेन काफी कमजोर नजर आता है, यदि वह मजबूत होता तो दिलचस्पी और भी बेहतर होती। फिल्म के स्क्रीनप्ले को भी दुरुस्त किया जाता तो और भी मजा आता।


फिल्म का बजट लगभग 55 करोड़ रुपए बताया जा रहा है और मुल्क, मिशन इंपॉसिबल पहले से ही थिएटर में लगी हुई है, जिसकी वजह से कमाई पर प्रभाव पड़ सकता है। वैसे इस फिल्म को हिंदी भाषा में लगभग 4500 शो मिले हैं। इसके साथ ही फिल्म तमिल और तेलुगु में भी रिलीज की जाने वाली है। कमल की पॉपुलैरिटी और अलग-अलग भाषाओं में की जाने वाली रिलीज, इस फिल्म को वर्ड ऑफ माउथ के साथ आगे ले जा सकती है।


सोर्स: Bollywood Tadka

अगला लेख: Video : पन्द्रह अगस्त का दिन कहता - आज़ादी अभी अधूरी है। सपने सच होने बाक़ी हैं, राखी की शपथ न पूरी है॥



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
14 अगस्त 2018
15 मई को वाराणसी में एक फ्लाईओवर गिर गया था. 18 लोगों की मौत हो गई थी. लोग इस घटना को भूले भी नहीं थे कि यूपी में एक और फ्लाईओवर गिर गया है. अबकी बार घटना घटी है वाराणसी से 200 किलोमीटर दूर बस्ती में. बस्ती जिले के पास फुटहिया इलाके में, जहां से लखनऊ-गोरखपुर नेशनल हाईवे-2
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
1. पत्रकार :कश्मीर के हालात बहुत खराब है,सीमा पर गोलीबारी हो रही है,आपका क्या कहना है ?राहुल गांधी :सीमा को कुछ दिन घर पर रहना चाहिए2. आलिया भट्ट: पता है, जब मैं छोटी थी तो छत पर से गिर गयी थीराहुल गाँधी: फिर तू बच गयी थी या मर गयी थी?आलिया: अब मुझे क्या पता, मैं तब छोटी थी ना!!राहुल: अरे हाँ, म
14 अगस्त 2018
23 अगस्त 2018
एक तरफ देश के पहले छोर कश्मीर में सीमा पर तैनात जवान दुश्मनों के साथ लोहा ले रहे हैं, ताकि हमारे देश के लोग आतंकी खतरे से बच सके, वहीं दूसरी तरफ देश के अंतिम छोर केरल में सत्ताधारी पार्टी सीपीएम के नेता सेना ने लिए विवादित टिप्पणी कर सैनिकों का अपमान कर रहे हैं. जी हां हम
23 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
लद्दाख कब जाएंमई के अंतिम हफ्ते से सितंबर तक लद्दाख जा सकते हैं। यहां सड़क या हवाई मार्ग से ही पहुंचा जा सकता है। सड़क से जाना चाहें, तो एक रास्ता मनाली और दूसरा श्रीनगर होते हुए है। दोनों ही रास्तों पर दुनिया के कुछ सबसे ऊंचे दर्रे यानी पास पड़ते हैं। मई से पहले और सितंब
14 अगस्त 2018
23 अगस्त 2018
किसी भी प्रोडक्ट को बाज़ार में लोकप्रिय बनाने के लिए विज्ञापन बहुत ज़रूरी है, तभी तो बड़ी-बड़ी कंपनियां करोड़ों रुपए सिर्फ विज्ञापनों पर ही फूंक डालती हैं और कुछ विज्ञापन वाकई इतने अच्छे होते हैं कि उन्हें बार-बार देखने का मन होता है, मगर सब इतने अच्छे नहीं होते। कुछ विज
23 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
आजादी: राम प्रसाद बिस्मिलइलाही ख़ैर! वो हरदम नई बेदाद करते हैं,हमें तोहमत लगाते हैं, जो हम फ़रियाद करते हैंकभी आज़ाद करते हैं, कभी बेदाद करते हैंमगर इस पर भी हम सौ जी से उनको याद करते हैंअसीराने-क़फ़स से काश, यह सैयाद कह देतारहो आज़ाद होकर, हम तुम्हें आज़ाद करते हैंरहा करता है अहले-ग़म को क्या-क्या
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
आजादी: राम प्रसाद बिस्मिलइलाही ख़ैर! वो हरदम नई बेदाद करते हैं,हमें तोहमत लगाते हैं, जो हम फ़रियाद करते हैंकभी आज़ाद करते हैं, कभी बेदाद करते हैंमगर इस पर भी हम सौ जी से उनको याद करते हैंअसीराने-क़फ़स से काश, यह सैयाद कह देतारहो आज़ाद होकर, हम तुम्हें आज़ाद करते हैंरहा करता है अहले-ग़म को क्या-क्या
14 अगस्त 2018
31 जुलाई 2018
तुस इ ताराह से मेरी जिंदगी मी शमी है के गीतों के साथ पढ़ें और गाएं, फिल्म टू अप ऐस ना द 1 9 80 जो मनहर उधस द्वारा गाया जाता है। आप ऐप टू ऐस ना द के अन्य गाने और गीत भी प्राप्त कर सकते हैं।आप तो ऐसे न थे (Aap To Aise Na The )तू इस तरह से मेरी ज़िन्दगी में शामिल हैतू इस तरह से मेरी ज़िन्दगी में शामिल है
31 जुलाई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
31 जुलाई 2018
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x