बकरीद को लेकर मोदी सरकार ने किया यह बड़ा फैसला,जिससे मुस्लिम हुए नाराज

22 अगस्त 2018   |  रवि मेहता   (124 बार पढ़ा जा चुका है)

बकरीद को लेकर मोदी सरकार ने किया यह बड़ा फैसला,जिससे मुस्लिम हुए नाराज

इस्लाम धर्म में ईद सबसे बड़ा और पवित्र त्यौहार माना जाता है. इस त्यौहार को ईद-उल-फितर और ईद-उल-जुहा भी कहा जाता है. ईद के एक महीना पहले मुस्लिम लोग रोज़े रखते हैं.

इस साल यानी 2018 में बकरीद 22 अगस्त को मनाई जा रही है. मुस्लिम धर्म में बकरीद के इस दिन को फ़र्ज़-ऐ-कुर्बानी का दिन भी कहा जाता है. इस मौके पर हर मुस्लिम बकरे या किसी अन्य पशु की कुर्बानी देते हैं.

भारत देश में रहने वाले मुस्लिम भी इस त्यौहार को काफी उत्साह से मनाते हैं और बेजुबान जानवरों की बलि देते हैं. लेकिन, इस बार मोदी सरकार ने इस बकरीद पर एक बड़ा फैसला ले लिया है

बताया जा रहा है कि मोदी सरकार ने इस बकरीद पर पूरे भारत में बकरे एवं अन्य जानवरों की कुर्बानी पर रोक लगा दी है. ख़बरों की माने तो मोदी जी का यह फैसला जानवरों के हितों को मुख्य रख कर लिया गया है.

इस बार देश में सभी बंदरगाहों से पशुधन निर्यात पर सरकार ने अनिश्चितकालीन रोक लगा दी है. यह बड़ा कदम मोदी सरकार ने जानवरों के हितों के लिए काम करने वाली संस्थाओं की मांग पर उठाया है.


Image result for बकरीद


इस संस्था ने की थी गुज़ारिश

मोदी जी के इस फैसले के पीछे पशुओं की एक संस्था PETA का हाथ बताया जा रहा है. दरअसल इस संस्था ने राज्य सरकार को एक पत्र द्वारा यह मांग की कि बकरीद के अवसर पर पशुओं की अवैध तरीके से कुर्बानी को रोकने के लिए सरकार सख्त से सख्त कदम उठाए.

पेटा की इस मांग के अनुसार केवल लाइसेंस वाले बूचड़खानों में ही पशुओं का वध किया जाए. जिसके बाद से ही सरकार ने अवैध बूचड़खानों में बकरे एवं पेड़ों की बलि को रोक दिया है. बकरी से पहले मिडल- ईस्ट के देशों में करीबन 2 लाख बकरियां और भेड़े भेजी जानी थी लेकिन अब इस फैसले के बाद उन भेड़ बकरियो को नही भेजा जा सकता. इससे निर्यातकों को करोड़ों का नुकसान हो रहा है.


निर्यातकों द्वारा हो रहा है जमकर विरोध

वहीं दूसरी और निर्यातक सरकार द्वारा उठाए गए इस फैसले के विरोध में खड़े हैं और जमकर नारेबाजी में जुटे हुए हैं. कुछ निर्यातकों के अनुसार जहाज मालिकों ने यात्रा की विशेष अनुमति मांगी थी जिसे मंत्रालय ने मान लिया था.

ऐसे में सरकार के इस फैसले से उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है. निर्यातकों के अनुसार उन्होंने कई विदेशी ग्राहकों से एडवांस रकम वसूली थी ऐसे में अगर उन्हें बकरियों को विदेशों में नहीं भेजा जाता तो उन्हें भारी हर्जाना भुगतना पड़ सकता है.


इतना हो सकता था फायदा

अब बात अगर फायदे की करें तो वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार साल 2013 से 14 के बीच में मवेशियों का एक्सपोर्ट 69.30 करोड़ रुपए था जोकि अगले दो सालों में बढ़ कर 527.40 करोड़ रूपये हो गया.

वहीँ बात अगर साल 2017-18 की करें तो यह राशी घाट कर 411.02 करोड़ रूपये रह गया. अब मोदी सरकार के इस एक्सपोर्ट पर रोक लगाने के बाद निर्यातकों के इस आंकड़े में कईं गुना गिरावट देखने को मिलेगी.

बकरीद पर मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, विपक्ष को लगा करारा झटका |

बकरीद को लेकर मोदी सरकार ने किया यह बड़ा फैसला,जिससे मुस्लिम हुए नाराज

अगला लेख: 10 साल के बच्चे के साथ रेप और हत्या, तीनों आरोपियों को 5-5 गोलियां मारकर क्रेन पर लटकाया गया



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
16 अगस्त 2018
पू्र्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बेहद नाजुक है. उन्हें दिल्ली एम्स में लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है. एम्स में पिछले 9 हफ्ते से भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री की सेहत में कोई सुधार नहीं हुआ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष दोबारा एम्स
16 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
मदुरई दक्षिण भारतीय राज्य तमिलनाडु का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। वैगई नदी के किनारे स्थित मंदिरों का यह शहर सबसे पुराने बसे हुए शहरों में से एक है। शहर के उत्तर में सिरुमलाई पहाड़ियां स्थित हैं तथा दक्षिण में नागामलाई पहाड़ियां स्थित हैं। मदुरई का नाम “मधुरा” शब्द से पड़ा जिसका अर्थ है मिठास। कहा जाता है क
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
प्रसार भारती (PB) ने लाइब्रेरियन इन्फॉर्मेशन असिस्टेंट पदों के लिए वैकेंसी निकाली है। आवेदन करने के लिए योग्य उम्मीदवारों की अधिकतम आयु 35 वर्ष निर्धारित की है। आपको बता दें कि उम्मीदवारों का चयन संस्थान के द्वारा तय की गए नियमों के आधार पर किया जाएगा। उम्मीदवार अपना आवे
14 अगस्त 2018
10 अगस्त 2018
10 साल के बच्चे के साथ शारीरिक कुकर्म और हत्या के मामले में तीन दोषियों को सरेआम गोली मारकर क्रेन से लटका दिया गया। अरब देशों में शामिल यमन में दी गई इस कठोर और निर्दयी सज़ा का शोर पूरे देश में गूंज रहा है। खबरों की मानें तो पूरा मामला साल 2017 के अक्टूबर महीने का है, जब
10 अगस्त 2018
09 अगस्त 2018
भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का त्योहार रक्षाबंधन इस साल 26 अगस्त को मनाया जाना वाला है. श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाने वाला यह त्योहार हर भाई-बहन के लिए बेहद खास होता है. इस दिन बहन अपने छोटे और बड़े भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र यानि की राखी बांधकर अपनी सुरक्षा का वचन मा
09 अगस्त 2018
16 अगस्त 2018
15 अगस्त 2018. पूरा देश स्वतंत्रता की 72वीं वर्षगांठ मना रहा था. देश के स्कूलों और कॉलेजों और मदरसों में भी स्वतंत्रता दिवस मनाया जा रहा था. इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के महराजगंज के एक मदरसे में भी तिरंगा फहराया गया. ये मदरसा है मदरसा अरबिया अहले सुन्नत अनवारे तैबा गर्ल्स
16 अगस्त 2018
13 अगस्त 2018
1947 का गदर वो खौफनाक मंजर था, जिसे भूलना भी चाहो तो मुमकिन नहीं। 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर जानिए उस शख्स के बारे में जो पाकिस्तान से कटी लाशों से भरी ट्रेन लेकर आया था।स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बुजुर्ग बाल कृष्ण गुप्ता व सोहन सिंह
13 अगस्त 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x