राहुल गाँधी के फैसले से नाराज़ सचिन पायलट, अब ये होंगे राजस्थान के नए CM

12 दिसम्बर 2018   |  अंकिशा मिश्रा   (275 बार पढ़ा जा चुका है)

राहुल गाँधी के फैसले से नाराज़ सचिन पायलट, अब ये होंगे राजस्थान के नए CM  - शब्द (shabd.in)

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी की हालत जहां खस्ता है, वहीं कांग्रेस की चांदी हो गई है। हिंदी बेल्ट के तीन राज्यों छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने बीजेपी का कमल नहीं खिलने दिया है। वहीं तेलंगाना में सत्तारूढ़ TRS ने धमाकेदार वापसी की है, तो मिजोरम में मिजो नेशनल फ्रंट (MNF) पार्टी का डंका बजा है।


बता दें मध्य प्रदेश में कांग्रेस को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है।पूर्ण बहुमत से वो 2 सीटों से चूक गईं हालाँकि 114 सीटों के साथ प्रथम स्थान पर रही। इसके साथ ही बसपा प्रमुख मायावती ने कॉंग्रेस के समर्थन का एलान कर दिया है।मायावती का कहना है बीजेपी सत्ता में आने के लिए भले ही कितनी जोड़-तोड़ कर ले पर मैं उसका ये मकसद पूरा नहीं होने दूंगी।हालाँकि बसपा कांग्रेस की नीतियों का समर्थन नहीं कर रही लेकिन मध्य प्रदेश में समर्थन के लिए हांमी ज़रूर भर दी है।साथ ही सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी कांग्रेस को ही अपना समर्थन देने की घोषणा की है। मध्य प्रदेश में बसपा को दो सीटें और सपा को एक सीट पर जीत मिली हैं।तो कांग्रेस की जीत के बाद अब बात आती है मुख्यमंत्री पद के दावेदारों की, तो आइये जानते हैं कौन हो सकते हैं कांग्रेस के मुखयमंती पद के नए चेहरे -

राजस्थान में मुख्यमंत्री पद के दो बड़े दावेदार



राजस्थान में कांग्रेस में से मुख्यमंत्री पद के दो प्रबल दावेदार हैं । जिसमें पहला नाम शामिल है राजस्थान में पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत और दूसरी ओर राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और पार्टी के लिए युवा चेहरा सचिन पायलट का नाम सामने आ रहा हैं। इन दोनों नामों को सीएम पद का प्रमुख दावेदार माना जा रहा है।


मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के दो प्रमुख दावेदार




मध्यप्रदेश में दोनों ही अहम पार्टियों कांग्रेस और भाजपा को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। ऐसे में अगली सरकार कौन बनाएगा इस पर पेंच फंस गया है। लेकिन पलड़ा कांग्रेस का ज्यादा भारी है। कांग्रेस की ओर से राज्य में सीएम पद के दो बड़े दावेदार हैं। पहले हैं मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ और दूसरे गुना से सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया।


छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री पद के प्रमुख दावेदार




छत्तीसगढ़ में नतीजों को देखते हुए मुख्यमंत्री पद के तीन बड़े दावेदार हैं। इसमें प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, नेता-प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव और सांसद ताम्रध्वज साहू शामिल हैं।

तेलंगाना में मुख्यमंत्री पद का प्रमुख दावेदार




तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) ने रुझानों में बहुमत हासिल कर लिया है। यहां निश्चित तौर पर पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद के सबसे प्रबल दावेदार वर्तमान सीएम के.चंद्रशेखर राव ही होंगे।

मिजोरम का सीएम दावेदार

मिजोरम में जोरामथांगा के नेतृत्व में मिजो नेशनल फ्रंट (MNF) ने राज्य की 40 में से 26 सीटों पर जीत दर्ज सत्ता में ज़ोरदार वापसी की है।मिजोरम के मुख्यमंत्री लाल थनहवला चम्फाई दक्षिण सीट से एमएनएफ के टी जे लालनंतलुआंग से 856 मतों से पराजित हो चुके हैं।एमएनएफ से 2008 में राज्य की सत्ता छिन गई थी।




अगला लेख: प्रियंका से पहले इन 9 हसीनाओं को डेट कर चुके हैं निक जोनास



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
19 दिसम्बर 2018
Saikripa-Home for Homeless“साईंकृपा ( SaiKripa) - Saikripa-Home for Homeless दिल्ली एनसीआर में स्थित एक NGO (गैर-सरकारी संगठन ) है, जो कि वंचित बच्चों को पढ़ाने और उन्हें जीवन को नई दिशा देने का कार्य करता है।” बच्चे मानव जाति का भविष्य हैं। “Saikripa-Home for Homeles
19 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
नवज्योति इंडिया फाउंडेशन (Navjyoti India Foundation) एक गैर-लाभकारी संगठन है। जिसकी शुरुआत 1988 में प्रथम महिला आईपीएस (IPS) डॉ. किरण बेदी और दिल्ली पुलिस के 16 पुलिस अधिकारियों की टीम के द्वारा भारत में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध, निरक्षरता, भेद-भाव, जैसी समाज में फ़ैली विकृतियों को एक जुट होकर साम
21 दिसम्बर 2018
30 नवम्बर 2018
पूरा विश्व कई अजब- गजब कहानियों का संग्रह है।यहां हर चीज़ अपनी ही अलग कहानी बयां करते है। विश्व में न जाने ऐसी कितनी ही अजीबों- गरीब जगह हैं जिनकी खुद की ही एक अलग कहानी है। ऐसे ही कुछ भूतिया जगह के बारे में हम आपको बताने जा रहे है जो एक समय में बेहद ख़ूबसूरत हुआ करती थीं पर आज वहां परिंदा भी देखने को
30 नवम्बर 2018
11 दिसम्बर 2018
महज़ 500 रूपये से अपने सफर की शुरुआत करने वाले धीरूभाई अंबानी कैसे 75000 करोड़ के मालिक बन गए। ये कोई जादू नहीं बल्कि कड़ी मेहनत और धैर्य का नतीज़ा है। अंबानी परिवार का नाम दुनियाभर में बड़े उद्योगपतियों में शुमार होता है। अपनी मेहनत से उन्होंने दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। देश - विदेश में आज ह
11 दिसम्बर 2018
17 दिसम्बर 2018
भारत में लिंगानुपात का लगातार गिरना एक चिंता का विषय बनता जा रहा है। जिसके लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं बनाई गयी हैं।कन्या समृद्धि योजना भारत सरकार कन्याओं के सुनहरे भविष्य को सुरक्षित करने के लिए लेकर आयी है। बता दें कि देश में महिलाओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले काफ़ी कम है,जिसकी वजह से सरकार महिल
17 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x