2019 लोकसभा चुनावी ऐलान से पहले ही मोदी ने फूंका चुनावी बिगुल, विपक्ष अभी भी नींदों में

04 जनवरी 2019   |  अंकिशा मिश्रा   (78 बार पढ़ा जा चुका है)

2019 लोकसभा चुनावी ऐलान से पहले ही मोदी ने फूंका चुनावी बिगुल, विपक्ष अभी भी नींदों में

2019 लोकसभा चुनावों को लेकर सारी पार्टियां अपने जीत की जद्दोज़हद में लग गए हैं। इस बार पूरा विपक्ष एक होता दिख रहा है वहीं मोदी सरकार की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं। लेकिन एक कहावत है कि जंगल में एक ही शेर होता है और भाजपा इस वाक्य को सही साबित करने में लगी हुई है। इसी के चलते अभी बाकि पार्टियां नींद से जागी भी नहीं और बीजेपी ने चुनावी बिगुल भी फूंक दिया।


गौरतलब है कि साल का पहला दिन शुरू होते ही टीवी पर इंटरव्यू और 24 घंटे के बाद ही 2019 लोकसभा चुनाव की पहली रैली... एक-एक कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनावी बिसात बिछानी शुरू कर दी है। बता दें कि भाजपा द्वारा 2019 के लोकसभा चुनाव प्रचार का आगाज गुरुवार को पंजाब के गुरुदासपुर के रैली के जरिए किया। पीएम मोदी की प्लानिंग के हिसाब से वह जनवरी-फरवरी में 20 राज्यों में कुल 100 रैलियां करेंगे। जबकि विपक्षी दलों की ओर से अभी तक किसी भी पार्टी ने चुनावी बिगुल नहीं फूंका है। इस तरह से इस साल की सबसे बड़ी सियासी लड़ाई में बीजेपी बढ़त बनाती हुई नजर आ रही है।




आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव की घोषणा से पहले पीएम मोदी ने 20 राज्यों की उन 123 लोकसभा सीटों पर रैलियां करने का फैसला किया है, जिन्हें 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बावजूद बीजेपी जीत नहीं सकी थी। इसी के चलते अब पीएम ने सरकारी कार्यक्रमों और जनसभाओं के जरिए इन सीटों के मतदाताओं तक पहुंचने की रणनीति बनाई है।


हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में बीजेपी के हाथ से सत्ता चली गई । इन तीनों राज्यों में कुल 65 संसदीय सीटें हैं जिसमें 2014 के लोकसभा चुनाव में इनमें से 62 सीटों पर जीत मिली थी। ऐसे में 2019 में लोकसभा चुनाव में पिछले नतीजों को दोहराना पार्टी के एक बड़ी चुनौती है। विधानसभा चुनाव के नतीजे अगर लोकसभा चुनाव में तब्दील होते हैं तो यह अनुमान लगाया जा रहा है कि बीजेपी की करीब 28 से 30 सीटें कम हो सकती है।


सभी आंकड़ों को देखते हुए और गुना भाग लगाने के बाद मोदी ने लोकसभा चुनाव के ऐलान से पहले ही अपने किले को दुरुस्त करना शुरू कर दिया है। इसके लिए उन्होंने पिछले चुनाव में हारी हुई 123 सीटों पर पहले फोकस किया है। इसके पीछे बीजेपी की एक रणनीति और भी है कि इन सीटों पर अपना सांसद न होने के कारण स्थानीय स्तर पर सत्ता विरोधी रुझान का खतरा भी कम है। ऐसे में इन सीटों पर मोदी के चेहरे का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल कर चुनाव में कमल खिलाने की रणनीति है।




बीजेपी नेताओं ने 2019 के चुनावी ऐलान से पहले ही तैयारी शुरू कर दी थी। बता दें कि पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पिछले एक साल से रैलियां के जरिए सरकार की योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं। इसके अलावा बीजेपी ने 'सम्पर्क फॉर समर्थन' के जरिए विभिन्न क्षेत्रों की हस्तियों के साथ मुलाकात भी की थी। बीजेपी के लगभग 4000 से अधिक कार्यकर्ताओं को एक लाख लोगों से मिलने और सरकार की उपलब्धियां उन्हें बताने की जिम्मेदारी भी दी गई थी, जिस पर पूरा अमल हो रहा है और एक बार फिर मोदी लहार की तयारी शुरू हो गई है। इसी के साथ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने खुद भी पूर्व सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग, पूर्व लोकसभा महासचिव सुभाष कश्यप, उद्योगपति रतन टाटा, अभिनेत्री माधुरी दीक्षित, महेंद्र सिंह धोनी जैसी कई हस्तियां से मुलाकात भी की।


वहीं, कांग्रेस सहित सपा, बसपा, एनसीपी, टीएमसी जैसे विपक्षी दल अभी तक चुनावी रण में उतरे ही नहीं हैं। एक तरफ जहाँ विपक्ष मोदी के खिलाफ एकता की बात कर रहा है, तो बता दें कि अभी तक बिहार और महाराष्ट्र को छोड़कर बाकी राज्यों की गठबंधन की तस्वीर साफ नहीं हो सकी है। कांग्रेस को हाल ही में मिली तीन राज्यों की जीत से लोगों को संभावनाएं दिखने लगी हैं, लेकिन राहुल गांधी सियासी रण में कब उतरेंगे ये सवाल बरक़रार है और इसे लेकर अभी तक पार्टी की ओर से कोई घोषणा नहीं की गई है। कांग्रेस अभी तक मोदी के खिलाफ राफेल डील के सिवा कोई और मुद्दे पर उन्हें घेरती हुई नहीं दिख रही है।


जबकि बीजेपी ने पांच राज्यों के चुनाव के दौरान ही पीएम मोदी की रैलियों का खाका तैयार कर लिया था। बता दें कि बीजेपी की लोकसभा चुनाव तैयारियों को लेकर सपा संरक्षक मुलायम सिंह को यह तक कहना पड़ा कि सपा अभी तक तैयारियों में काफी पीछे चल रही है। जबकि बीजेपी सभी पार्टियों से आगे है। अब देखना ये होगा कि 2019 के इस चुनावी रण में किसकी जीत का बिगुल बजता है।


अगला लेख: Guest Post : Guest posting के ज़रिये कैसे अपने ब्लॉग को बनायें NO. 1 - In HIndi



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
03 जनवरी 2019
खाब फाउंडेशन एक ऐसी गैर सरकारी संस्था है जिसका उद्देश्य मानसिक रोगियों की मदद करना और उनको उस रोग से बाहर निकालना है। खाब फाउंडेशन एक ऐसी गैर सरकारी संस्था है जिसका उद्देश्य मानसिक रोगियों की मदद करना और उनको उस रोग से बाहर निकालना है।मानसिक रोग जिसका नाम सुनते ही लो
03 जनवरी 2019
08 जनवरी 2019
2019 लोकसभा चुनाव कुंवर पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं और हमीरपुर, उत्तर प्रदेश (लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र) से भारतीय आम चुनाव, 2014 जीत चुके हैं। पुष्पेंद्र सिंह चंदेल का जन्म 8 अक्टूबर 1973 को महोबा (उत्तर प्रदेश) में हुआ था। इनके पिता का नाम राजा हरपाल सिंह चंदेल और माता का
08 जनवरी 2019
24 दिसम्बर 2018
आजकल शादियों का सीजन चल रहा है। और किसी भी शादी में छोटी-मोटी भूल-चूक, नाराज़गी होना तो आम बात है। लेकिन जब इन छोटे छोटे बातों का लोग मुद्दा बना देते हैं तो शादी के रंग में भंग पड़ते देर नहीं लगती। जिसके चलते कभी कभी नौबत शादी टूटने तक भी आ जाती है। आपने शादी टूटने के कई कि
24 दिसम्बर 2018
08 जनवरी 2019
2019 लोकसभा चुनाव संजीव बाल्यान भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं। 2014 में लोकसभा में उन्हें मुज़फ्फरनगर निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय आम चुनाव के लिए चुना गया था। जिसमें उन्होंने बहुजन समाज पार्टी के कादिर राणा को चार लाख से अधिक मतों के अंतर से हराया। संजीव बाल्यान मई 2
08 जनवरी 2019
25 दिसम्बर 2018
मध्य प्रदेश में सियासत का रंग बदले हुए हम सब ने देखा है पिछले 15 सालों से मध्य प्रदेश के तख़्त पर बैठी भारतीय जनता पार्टी को अपना तख़्त छोड़ना पड़ा और इसी के साथ कांग्रेस का वनवास ख़त्म हो गया। वहीँ सत्ता बदलने के बाद जहां लोगों में आशा की नई उम्मीद जाएगी है तो कांग्रेस पर भी बड़ी ज़िम्मेदारी भी आन पढ़ी है।
25 दिसम्बर 2018
02 जनवरी 2019
सभी लोगों को खुशहाल जीवन पसंद है ऐसा कोई व्यक्ति होगा जो अपने जीवन में खुश रहना नहीं चाहता होगा लगभग सभी लोग चाहते हैं कि उनके जीवन में कभी भी कोई मुसीबत या कठिन परिस्थितियां ना आए व्यक्ति रोजाना अपना कोई ना कोई कार्य करता रहता है कभी-कभी ऐसा होता है कि व्यक्ति कोई का
02 जनवरी 2019
03 जनवरी 2019
राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर बीजेपी और कांग्रेस के बीच जमकर बहस हुई। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने भाजपा के साढ़े चार साल के शासन के दौरान राज्य में हिंसा की घटनाएं बढ़ने का आरोप लगाया तो वहीं बीजेपी की ओर से अरुण जेटली ने कांग्रेस पर पलटवार किया। आजाद ने जम्मू कश्मीर विधानसभा भंग करने समेत
03 जनवरी 2019
24 दिसम्बर 2018
क्या आप जानते हैं ब्लॉग (Blog) क्या होता है ?ब्लॉगिंग (Blogging) कैसे करते हैं ?ब्लॉगिंग के कितने प्लेटफार्म होते हैं?ब्लॉग से पैसे कैसे कमायें ?हर हिंदी ब्लॉगर (Hindi Blogger) के मन में ये सवाल आते है। पर क्या आप इन सवालों के जवाब जानते हैं, अगर नहीं तो इस आर्टिकल को
24 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
*संपूर्ण विश्व में यदि कहीं पुण्य भूमि है तो वह हमारा देश भारत है , जहां आध्यात्मिकता अपने उच्च शिखर को प्राप्त करती है | आदिकाल से ही इस देश में धर्म संस्थापकों ने समय-समय पर जन्म या अवतार लेकर के संपूर्ण संसार को सत्य की , आध्यात्मिकता की एवं सनातनता की पवित्र धारा से बारंबार स्नान कराया है | हम
21 दिसम्बर 2018
02 जनवरी 2019
राफेल डील मामले पर लोकसभा में हुई चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कई सवाल खड़े किए और आरोप लगया कि इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झूठ बोला है। राहुल के सवालों को जवाब देने के लिए सत्ता पक्ष से वित्त मंत्री अरुण जेटली खड़े हुए और उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी
02 जनवरी 2019
02 जनवरी 2019
आजकल का जमाना काफी बदल चुका है और जमाने के साथ साथ लोगों की जीवनशैली भी बदल चुकी है यदि व्यक्ति को किसी भी प्रकार की कोई शारीरिक परेशानी होती है तो वह अंग्रेजी दवाइयों पर निर्भर रहता है हर बीमारी के लिए वह अंग्रेजी दवाइयों का सेवन करता है परंतु भारत में पहले ऐसा नहीं
02 जनवरी 2019
21 दिसम्बर 2018
नवज्योति इंडिया फाउंडेशन (Navjyoti India Foundation) एक गैर-लाभकारी संगठन है। जिसकी शुरुआत 1988 में प्रथम महिला आईपीएस (IPS) डॉ. किरण बेदी और दिल्ली पुलिस के 16 पुलिस अधिकारियों की टीम के द्वारा भारत में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध, निरक्षरता, भेद-भाव, जैसी समाज में फ़ैली विकृतियों को एक जुट होकर साम
21 दिसम्बर 2018
31 दिसम्बर 2018
2019 की शुरुआत होने जा रही है और हर किसी के दिमाग में बस यही चल रहा होगा कि कैसा होगा ये नया साल।व्यक्ति के जीवन में राशियों का बड़ा महत्व माना गया है राशियों के आधार पर किसी भी व्यक्ति के बारे में जानकारी हासिल की जा सकती है व्यक्ति को आने वाले समय में किन किन परिस्थितियों का सामना करना पड़ेगा इन स
31 दिसम्बर 2018
28 दिसम्बर 2018
कर्नाटक चुनाव प्रचार के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 2019 आम चुनाव के लिए बड़ा बयान दिया है। राहुल गांधी ने कहा कि अगर 2019 में कांग्रेस जीतती है तो वे प्रधानमंत्री बन सकते हैं। साथ ही राहुल गांधी ने बहुत ही दावे के साथ कहा कि 2019 में बीजेपी सरकार नहीं बनाएगी और ना ही नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्
28 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
Guest Post क्या है ?Guest Post करना क्यों ज़रूरी हैं ?Guest Post करने के फ़ायदे Guest Post करते समय किन-किन बातों का ध्यान दें ?शब्दनगरी पर Guest Post करें यदि आप एक हिंदी ब्लॉगर (Hindi Bloggar) हैं तो आपका यह जानना ज़रूरी है कि Guest Post क्या है ? ये करना क्यों ज़रूरी ह
26 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x