ट्रिप के दौरान ड्राइवर ने किया महिला से अभद्र व्यवहार, कहा- 'गाड़ी से उतर वरना फाड़ दूंगा तेरे कपड़े'

08 अगस्त 2019   |  स्नेहा दुबे   (421 बार पढ़ा जा चुका है)

ट्रिप के दौरान ड्राइवर ने किया महिला से अभद्र व्यवहार, कहा- 'गाड़ी से उतर वरना फाड़ दूंगा तेरे कपड़े'

भारत में हर तरह की बातें होती हैं लेकिन महिलाओं को लेकर सुरक्षा का मामला बिल्कुल सीरियसली नहीं लिया जाता। यहां पर मां-बहन की गालियां देकर लोग इसमें अपनी वाहवाही समझते हैं जबकि वो लोग नहीं जानते हैं वे अपने ही घरवालों का समाज में मजाक बनवा रहे हैं। भारत की महिलाएं सुरक्षित नही हैं और ये बात किसी से भी छिपी नहीं है। अगर ऑफिस से निकलकर फोन नहीं करती हैं तो माता-पिता को चिंताएं घेर लेती हैं और ऐसा ज्यादातर घरों में हो जाता है क्योंकि उन्हें चिंता होती है कि कहीं उनकी लड़की के साथ कुछ गलत ना हो जाए।


लड़की के साथ ड्राइवर ने की बद्तमीजी


लड़की


दिनदहाड़े छेड़खानी हो या कैब ड्राइवर्स द्वारा Molestation भारत की सड़कों की ये रोज की यही कहानी है।ऐसी ही एक अप्रिय घटना बेंगलुरू में घटी है। बेंगलुरू की अपर्णा बालाचंदर ने अपने ट्विटर हैंडल से ही अपनी आपबीती शेयर की। उन्होंने लिखा, 'आज मुझे अपनी ज़िन्दगी का सबसे डरावना एक्सपीरिएंस हुआ। सहकर्मियों के साथ डिनर करने के बाद मैंने उबर कैब बुक की. कैब ड्राइवर फ़ोन पर अपने दोस्त को कस्टमर्स के बुरे व्यवहार के बारे में बता रहा था और अचानक वो मेरी तरफ़ मुड़ा और उसने मुझसे कहा कि एक शिक्षित महिला होने के नाते मुझे 7 बजे से पहले ऑफ़िस से निकलना चाहिए और पीने के लिए बाहर नहीं जाना चाहिए। मैंने उससे कहा कि मैंने नहीं पिया और वो अपने काम से काम रखे। उसने मुझे स्लट बोला और कहा कि मैं उसके जूते साफ़ करने लायक भी नहीं हूं. उसने अचानक कैब की स्पीड कम कर दी और मैं डर गई। मैंने उबर का सेफ़्टी बटन दबाया. मुझे कॉल करने के बजाए उन्होंने कैब ड्राइवर को फ़ोन किया और ड्राइवर ने कस्टमर केयर को बताया कि 'मैंने बहुत शराब पी रखी है।' मेरे पास और कोई चारा नहीं था, मैं चीखकर कस्टमर केयर वाले से मेरी बात सुनने के लिए कहने लगी। तभी कस्टमर केयर वाली महिला ने मुझ से बात की और मैंने रोत हुए उनसे मदद मांगी। उसने मुझसे कैब से उतरने को कहा और भरोसा दिया कि वो मेरे लिए दूसरी कैब बुक करती है। कैब ड्राइवर मुझे धमकियां देने लगा 'अगर तुम अभी कैब से नहीं उतरी तो मैं तुम्हारे कपड़े फाड़ दूंगा।' मैं एक लगभग खाली सड़क पर रात के 11:15 बजे बिना कैब के हो गयी और फिर कस्टमर केयर के फोन का इंतजार करने लगी। मुझे डर था कि वो कैब वाला वापस आकर मुझे मार देगा और 15 मिनट इंतज़ार करने और उबर कस्टमर केयर को बार-बार मैसेज करने के बाद हारकर मैंने अपने दोस्तों को फोन किया। उबर ने सिर्फ़ मेरे पैसे लौटाए, जबकि उस समय मुझे पैसे की पड़ी ही नहीं थी। अगर मैं कस्टमर होने के नाते सेफ़्टी बटन दबा रही हूं, तो कैब ड्राइवर को कॉल करने का क्या मतलब है? उबर के इस अनुभव ने मुझे अंदर से झकझोर दिया है और मैं ये सभी बात मैं इसलिए नहीं बता रही कि मैं डरी हूं बल्कि इसलिए बता रही हूं कि उबर का सेफ़्टी बटन बहुत घटिया है, इसपर बिल्कुल ट्रस्ट नहीं करें।'


अपर्णा की बातें सुनकर दो यूजर्स ने अपना एक्सपीरियंस भी शेयर किया-

लड़की

लड़की

लड़की


फिर लोगों ने अपर्णा से किए ऐसे व्यवहार पर यूजर्स ने उबर वाले को खूब सुनाया


लड़की

लड़की

लड़की

लड़की

लड़की

लड़की

अगला लेख: पेट्रोल, डीजल की कीमतों में भारी उछाल, पट्रोल 117 और डीजल 135 रुपये प्रति लीटर !



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
08 अगस्त 2019
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8 बजे देश की जनता को संबोधित करने जा रहे हैं। ये जानकारी पीएमओ ने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से दी है। ऐसा माना जा रहा है कि पीएम मोदी का संबोधन जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने के फैसले को लेकर केंद्रित रहेगा। संसद ने जम्मू-
08 अगस्त 2019
02 अगस्त 2019
दुनिया में बहुत सी अजीबोंगरीब चीजें होती हैं और इन चीजों में कभी कुछ फनी बातें हो जाती हैं तो कभी हजम ना करने वाली बात हो जाती है। मगर ऐसी ही हटके दिखने और सुनने वाली बातों की ही खबर बन जाती है। कुछ ऐसा ही हुआ पिछले दिनों झारखंड के धनबाद में जब वहां के एक मेडिकल कॉलेज
02 अगस्त 2019
31 जुलाई 2019
दुनिया में बहुत सी चीजें अजीबों गरीब हैं और लोगों को ऐसी ही चीजें पसंद होती है। अगर किसी इंसान का नाम किसी सेलिब्रिटीज से मिलता जुलता है तो लोग उनका मजाक बनाने लगते हैं। कुछ ऐसा ही हाल मध्य प्रदेश के इस युवक के साथ हुआ जब अपने नाम के कारण कुछ परेशानियों का सामना करना
31 जुलाई 2019
07 अगस्त 2019
आज देश अपनी दमदार लीडर को खोने का गम मना रहा है और उनका नाम सुषमा स्वराज है जिनका निधन 7 अगस्त की शाम को दिल्ली के AIIMS अस्पताल में हो गया था। सुषमा स्वराज का नाम राजनीति में स्वर्णिम अक्षरों से लिखा जाएगा और भारतीय राजनीति के इतिहास में उनका योगदार अहम रहा है। सुषमा स्वराज हमेशा लोगों की मदद के लि
07 अगस्त 2019
01 अगस्त 2019
Webdunia- देश में बहुत सारे हिंदी वेब पोर्टल न्यूज वेबसाइट हैं लेकिन कुछ ही ऐसी वेबसाइट्स हैं जो हमें सही और बेहतर तरीके की खबरें प्रोवाइड करवाती हैं। वेबदुनिया उन्हीं में से एक वेबसाइट है जो कई भाषाओं में खबरें पब्लिश करती हैं और रीडर्स को सही जानकारी देती है। वेबदुन
01 अगस्त 2019
29 जुलाई 2019
विजय सोपा नाही
29 जुलाई 2019
02 अगस्त 2019
अक्सर सेलिब्रिटीज होते हैं जो देश के प्रति कुछ काम करते हैं तो कुछ दूसरों को दिखाने के लिए करते हैं तो कुछ को दिल से देश के प्रति लगाव होता है। उन्हीं में से एक हैं भारतीय क्रिकेट टीम के दमदार प्लेयर महेंद्र सिंह धोनी जिन्होंने साल 2011 में वर्ल्ड कप अपने कप्तानी के नेतृत्व में दिलवाया था। इस बार भ
02 अगस्त 2019
01 अगस्त 2019
जब कोई नई सरकार आती है तो जनता को उम्मीद हो जाती है कि ये सरकार उनकी उम्मीदों पर खरा उतरेगी। उनके लिए सबसे भारी महंगाई को कुछ तो कम करेगी लेकिन जब ऐसा नहीं होता है तब जनता भड़क जाती है और यही सरकार को गिराने का असरदार काम करती है। अब मे
01 अगस्त 2019
01 अगस्त 2019
भोलेनाथ को प्रसन्न करने और उनकी पूजा करने के लिए श्रावण मास यानी सावन का महीना सबसे पावन माना जाता है। पूरे देश में 17 जुलाई से सावन का महीना मनाया जा रहा है और सभी भोलेनाथ के प्रति अपनी श्रद्धा भक्ति दिखाई है। 15 अगस्त को सावन का महीना खत्म होने वाला है और इसके पहले
01 अगस्त 2019
26 जुलाई 2019
बैंकों का राष्ट्रीयकरण 19 जुलाई 1969 को हुआ जो उस वक़्त की एक धमाकेदार खबर थी. बैंक धन्ना सेठों के थे और सेठ लोग राजनैतिक पार्टियों को चंदा देते थे. अब भी देते हैं. ऐसी स्थिति में सरमायेदारों से पंगा लेना आसान नहीं था. फिर भी तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गाँधी ने साहसी कद
26 जुलाई 2019
01 अगस्त 2019
जब कोई नई सरकार आती है तो जनता को उम्मीद हो जाती है कि ये सरकार उनकी उम्मीदों पर खरा उतरेगी। उनके लिए सबसे भारी महंगाई को कुछ तो कम करेगी लेकिन जब ऐसा नहीं होता है तब जनता भड़क जाती है और यही सरकार को गिराने का असरदार काम करती है। अब मे
01 अगस्त 2019
12 अगस्त 2019
आजादी कौन नहीं चाहता....एक पक्षी भी पिंजड़े में फड़फड़ाता है क्योंकि उसे आजादी चाहिए होती है। जब बकरे को काटने के लिए ले जाते हैं तब भी आजादी की चाहत लिए बकरा चिल्लाता रहता है क्योंकि हम सभी जानते हैं कि आजादी है तो जीवन है वरना इंसान घुटने लगता है। मगर आज से करीब 73 साल पहले भारत देश गुलाम था अंग्र
12 अगस्त 2019
31 जुलाई 2019
Pratlipi एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां खुले विचारों से आप कुछ भी लिख सकते हैं। ये एक ऑनलाइन वेबसाइट है जहां पर आप किसी भी विषय पर लिखकर खुद पब्लिश कर सकते हैं। इसका मुख्यालय बैंगलुरू में है और इस वेबसाइट पर आ
31 जुलाई 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x