सूर्य का सिंह में गोचर

16 अगस्त 2018   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (91 बार पढ़ा जा चुका है)

सूर्य का सिंह में गोचर

सूर्य का सिंह में गोचर

कल श्रावण शुक्ल सप्तमी यानी 17 अगस्त को 06:50 के लगभग सूर्यदेव अपने मित्र ग्रह चन्द्र की कर्क राशि से निकल कर अपनी स्वयं की राशि सिंह और मघा नक्षत्र में प्रस्थान कर जाएँगे, जहाँ तीन सितम्बर को बुध का प्रस्थान भी हो जाएगा | सिंह सूर्य की मूल त्रिकोण राशि भी है | और जब कोई ग्रह अपनी मूल त्रिकोण राशि अथवा अपनी उच्च राशि में आता है तो वह बली माना जाता है | जहाँ 17 सितम्बर को लगभग 06:46 तक भ्रमण करने के पश्चात बुध की कन्या राशि में प्रविष्ट हो जाएँगे | अपनी इस यात्रा के दौरान सूर्यदेव 31 अगस्त से पूर्वा फाल्गुनी तथा 13 सितम्बर से उत्तर फाल्गुनी नक्षत्र में भ्रमण करेंगे | सूर्य के सिंह में संक्रमण के समय गर करण और शुक्ल योग होगा |

मेष राशि क्योंकि सूर्य की उच्च राशि है और सिंह सूर्य की अपनी मूल त्रिकोण राशि है इसलिए इन दोनों राशियों के लिए तो सूर्य का यह गोचर अनुकूल ही रहने की सम्भावना है | तो जानने का प्रयास करते हैं सिंह राशि में सूर्य के संक्रमण के जनसाधारण पर क्या सम्भावित प्रभाव हो सकते हैं...

मेष : आपकी राशि से पंचमेश पंचम भाव में ही गोचर कर रहा है | यदि आप अथवा आपकी सन्तान उच्च शिक्षा अथवा किसी Professional Course के लिए जाना चाहते हैं तो आपके लिए यह गोचर अनुकूल प्रतीत होता है | साथ ही सन्तान प्राप्ति के भी योग प्रतीत होते हैं | आय के नवीन अवसरों के साथ ही मन सम्मान में वृद्धि के भी संकेत हैं | स्वास्थ्य के लिए भी यह गोचर अनुकूल प्रतीत होता है | किन्तु यदि आपने अपने Temperament पर नियन्त्रण नहीं रखा तो प्रेम सम्बन्धों में दरार की भी सम्भावना है | आपकी सन्तान का स्वभाव भी उग्र हो सकता है किन्तु उसका सहयोग आपको प्राप्त रहेगा |

वृषभ : आपकी राशि से चतुर्थेश चतुर्थ भाव में ही गोचर कर रहा है | एक ओर जहाँ आपको अपनी माता का सुख प्राप्त होगा वहीं दूसरी ओर आपके पिता के लिए किसी प्रकार के शारीरिक कष्ट की सम्भावना भी हो सकती है | आपके कार्य की दृष्टि से यह गोचर अत्यन्त अनुकूल प्रतीत होता है | नौकरी में पदोन्नति तथा अपने स्वयं के व्यवसाय में प्रगति की सम्भावना है | जो कार्य अब तक रुके हुए थे उनके भी पूर्ण होने की सम्भावना है | परिवार में मंगल कार्यों का आयोजन हो सकता है |

मिथुन : आपकी राशि से तृतीयेश का गोचर तृतीय भाव में ही हो रहा है | आपके लिए मान सम्मान और यश में वृद्धि के योग प्रतीत होते हैं | साथ ही आपके उत्साह में भी इस अवधि में वृद्धि की सम्भावना है | जिसके कारण आप अपने कार्य समय पर पूर्ण करने में सक्षम हो सकते हैं | किन्तु आपके छोटे भाई बहनों के लिए यह गोचर अधिक अनुकूल नहीं प्रतीत होता | उनके अपने स्वभाव के कारण उन्हें मानसिक और शारीरिक कष्ट का सामना करना पड़ सकता है जिसके कारण उनके कार्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है |

कर्क : आपकी राशि से द्वितीयेश का गोचर द्वितीय भाव में ही हो रहा है | आपके कार्य में प्रगति तथा आय में वृद्धि के साथ ही मान सम्मान में भी वृद्धि के योग हैं | परिवार में तथा कार्य स्थल पर सौहार्दपूर्ण वातावरण रहने की सम्भावना है | किन्तु इसके साथ ही आपका स्वभाव भी उग्र हो सकता है | साथ ही नेत्रों से सम्बन्धित कोई समस्या अथवा मानसिक तनाव के कारण माइग्रेन या उच्च रक्तचाप की समस्या भी हो सकती है | इस सबसे बचने के लिए खान पान पर नियन्त्रण रखने की आवश्यकता है | ध्यान और प्राणायम को अपनी दिनचर्या का अंग बना लेंगे तो बहुत सी समस्याओं से बच सकते हैं |

सिंह : आपके लिए आपके राश्यधिपति का अपनी ही राशि में गोचर विशेष रूप से लाभप्रद प्रतीत होता है | आपकी ऊर्जा में वृद्धि तथा व्यक्तित्व में ओज के ही साथ आपके कार्य में भी प्रगति की सम्भावना है | आपके व्यक्तित्व का प्रभाव लोगों पर पड़ेगा और इस कारण आपके मान सम्मान में भी वृद्धि की सम्भावना है | अपना स्वयं का व्यवसाय है तो बड़े भाई का सहयोग भी प्राप्त रह सकता है | नौकरी में हैं तो पदोन्नति की भी सम्भावना है | किन्तु आपको अपने क्रोध को नियन्त्रण में रखना होगा | आपको अपने जीवन साथी के स्वास्थ्य का विशेष रूप से ध्यान रखने की आवश्यकता है |

कन्या : आपके लिए आपके द्वादशेश का गोचर आपके द्वादश भाव में ही हो रहा है | यदि आपका कार्य कहीं विदेशों से सम्बद्ध है तो कार्य में प्रगति तथा विदेश यात्राओं में वृद्धि की सम्भावना है | यदि आप किसी सरकारी नौकरी में हैं तो आपका कहीं ट्रांसफर भी हो सकता है | ननिहाल के पक्ष से किसी प्रकार का मनमुटाव सम्भव है | यदि कोई कोर्ट केस चल रहा है तो इस अवधि में उसका निर्णय आपके पक्ष में आ सकता है | आपके लिए एक ओर जहाँ किसी पुरानी बीमारी से मुक्ति की सम्भावना है वहीं दूसरी ओर नेत्र सम्बन्धी विकार भी उत्पन्न हो सकते हैं |

तुला : आपकी राशि से एकादश भाव में सूर्य का गोचर आय में वृद्धि की ओर तथा नौकरी में पदोन्नति की ओर संकेत करता है | आपका अपना कार्य है तो उसमें भी प्रगति की सम्भावना है | किसी प्रकार का अवार्ड या सम्मान आदि भी आपको इस अवधि में प्राप्त हो सकता है | किन्तु साथ ही किसी घनिष्ठ मित्र अथवा बड़े भाई के साथ किसी प्रकार का मतभेद भी हो सकता है | आप कोई नया वाहन भी इस अवधि में खरीद सकते हैं | आपके अपने स्वास्थ्य की दृष्टि से समय अनुकूल प्रतीत होता है, किन्तु सन्तान के स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आवश्यकता है | छात्रों के लिए यह गोचर अनुकूल फल देने वाला प्रतीत होता है |

वृश्चिक : आपकी राशि से दशमेश का गोचर दशम भाव में ही हो रहा है | नौकरी में हैं तो पदोन्नति और मान सम्मान में वृद्धि के संकेत हैं | अपना स्वयं का व्यवसाय है तो उसमें भी प्रगति की सम्भावना है | आपके लिए कार्य तथा आय के नवीन स्रोत इस अवधि में उपस्थित हो सकते हैं | परिवार में किसी प्रकार के मंगल कार्य की भी सम्भावना है | किन्तु आपको अपनी माता जी के स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आवश्यकता है | साथ ही यदि आप गर्भवती महिला हैं और डिलीवरी निकट है तो आपको सावधान रहने की आवश्यकता है |

धनु : आपकी राशि के लिए आपका भाग्येश भाग्य स्थान में ही गोचर कर रहा है | आपके लिए वास्तव में यह गोचर भाग्यवर्धक प्रतीत होता है | नौकरी में हैं तो पदोन्नति के साथ ही कहीं ट्रांसफर भी हो सकता है | अपना स्वयं का कार्य है तो उसमें भी लाभ की सम्भावना है | आपके लिए पराक्रम और मान सम्मान में वृद्धि के संकेत प्रतीत होते हैं | किसी प्रकार का अवार्ड या सम्मान आदि भी आपको इस अवधि में प्राप्त हो सकता है | विदेश यात्राओं के भी योग प्रतीत होते हैं | धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में रूचि बढ़ सकती है |

मकर : आपकी राशि से अष्टमेश अष्टम भाव में ही गोचर कर रहा है | आपके लिए यह गोचर बहुत अनुकूल नहीं प्रतीत होता | आपके कार्य में आपके स्वयं के अथवा आपके पिता या परिवार के किसी बुज़ुर्ग व्यक्ति के स्वास्थ्य के कारण विघ्न उपस्थित हो सकता है | अचानक ही आपके विरोधियों के भी स्वर मुखर हो सकते हैं | आपको स्वयं को ज्वर, मानसिक तनाव के कारण माइग्रेन, उच्च रक्तचाप अथवा नेत्र विकार जैसी कोई समस्या का सामना करना पड़ सकता है | किन्तु अपने स्वभाव को संयमित रखेंगे तो बहुत सी समस्याओं से बच सकते हैं |

कुम्भ : आपके लियेः गोचर मिश्रित फल देने वाला प्रतीत होता है | पार्टनरशिप में कोई कार्य कर रहे हैं तो उसमें प्रगति की सम्भावना है | किन्तु आपके बिजनेस पार्टनर का स्वभाव इस अवधि में कुछ उग्र हो सकता है | साथ ही दाम्पत्य जीवन में जीवन साथी का सहयोग और साथ तो प्राप्त रहेगा किन्तु उसके स्वभाव की उग्रता के कारण आपको मानसिक तनाव हो सकता | अच्छा यही रहेगा कि अपनी वाणी और Temperament पर नियन्त्रण रखें | दूर पास की यात्राओं के योग भी बन रहे हैं |

मीन : आपका षष्ठेश होकर सूर्य का गोचर छठे भाव में ही हो रहा है | एक ओर आपके विरोधियों में वृद्धि की सम्भावना है वहीं दूसरी ओर आपके उत्साह में वृद्धि की भी सम्भावना है जिसके कारण आप अपने विरोधियों पर स्वयं ही विजय प्राप्त करने में समर्थ हो सकते हैं | किसी प्रकार का कोई लीगल केस का भी सामना करना पड़ सकता है | किन्तु साथ ही परिवार के लोगों का सहयोग आपको प्राप्त रहेगा और उनके कारण आपके आत्मबल में भी वृद्धि होगी | स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आवश्यकता है | आपके ननिहाल के पक्ष के साथ या तो मनमुटाव हो सकता है अथवा किसी का स्वास्थ्य चिन्ता का विषय हो सकता है |

अन्त में, उपरोक्त परिणाम सामान्य हैं | किसी कुण्डली के विस्तृत फलादेश के लिए केवल एक ही ग्रह के गोचर को नहीं देखा जाता अपितु उस कुण्डली का विभिन्न सूत्रों के आधार पर विस्तृत अध्ययन आवश्यक है |

साथ ही, ग्रहों के गोचर अपने नियत समय पर होते ही रहते हैं | सबसे प्रमुख तो व्यक्ति का अपना कर्म होता है | तो, कर्मशील रहते हुए अपने लक्ष्य की ओर हम सभी अग्रसर रहें यही कामना है...

https://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2018/08/16/sun-transit-in-leo/

अगला लेख: हिन्दी पञ्चांग



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
09 अगस्त 2018
शुक्रवार, 10 अगस्त 2018 – नई दिल्लीविरोधकृत विक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 05:47 सूर्यास्त : 19:05 पर चन्द्र राशि : कर्क चन्द्र नक्षत्र : पुष्य 24:54 (अर्द्धरात्र्योत्तर 02:54) तक, तत्पश्चात आश्लेषा
09 अगस्त 2018
09 अगस्त 2018
शिवस्तुति:आज श्रावण कृष्ण त्रयोदशी / चतुर्दशी को प्रदोष व्रत और मासिक शिवरात्रि कापावन पर्व है | हम सभी ने देखा काँवड़ में गंगाजल भर कर लाने वाले काँवड़यात्री शिवभक्तों का उत्साह | न जाने कहाँ कहाँ से आकर पूर्णश्रद्धा के साथ हरिद्वार ऋषिकेश तक की लम्बी यात्रा करके ये काँवड़
09 अगस्त 2018
10 अगस्त 2018
शनिवार, 11 अगस्त 2018 – नई दिल्लीविरोधकृत विक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 05:48 सूर्यास्त : 19:04 पर चन्द्र राशि : कर्क 24:04 तक, तत्पश्चातसिंह चन्द्र नक्षत्र : आश्लेषा 24:04 तक, तत्पश्चात मघा तिथि
10 अगस्त 2018
02 अगस्त 2018
गु
क्षण-प्रतिक्षण,जिंदगी सीखने का नाम सबक जरूरी नहीं,गुरु ही सिखाएजिससे शिक्षा मिले वही गुरु कहलाये जीवंत पर्यन्त गुरुओं से रहता सरोकार हमेशा करना चाहिए जिनका आदर-सत्कार प्रथम पाठशाला की गुरु माँ बनी दूजी शाला के शिक्षक गुरु बने सामाजिकता का पाठ माँ ने सिखाया शैक्षणिक स्तर शिक्षक ने उच्च बनाया नैतिक श
02 अगस्त 2018
02 अगस्त 2018
शुक्रवार, 03 अगस्त2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:43 पर कर्कमें (09:15 पर आश्लेषा नक्षत्र में प्रवेश)सूर्यास्त : 19:10 पर चन्द्र राशि : मीन 14:24 तक, तत्पश्चात मेष चन्द्र नक्षत्र : रेवती 14:24 तक, तत्पश्चात अश्विनी (पंचक समाप्त 14:
02 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
पिछले 24 घंटों में हिमाचल प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश हुई, जिससे 16 लोगों की मौत हो गई और भारी भूस्खलन शुरू हो गया, जिससे यातायात प्रभावित हो गया और यात्री राजमार्गों पर फंस गए | सरकार ने लोगों से यात्रा से बचने के लिए कहा क्योंकि मौसम अधिकारियों ने मंगल
14 अगस्त 2018
02 अगस्त 2018
मोक्ष / नाश है अहं का...अहं क्या है ?मनुष्य के सुखी होने की अनुभूति ?या फिर दर्द का अहसास ?किसी का अपना होने की राहत ?या फिर पराया होने का दर्द ? लेकिन दुःख में भी तो है कष्ट का आनन्द...अपनेपन से ही तो उपजता है परायापन क्योंकि एक ही भाव के दो अनुभाव हैं दोनोंउसी तरह जैसे
02 अगस्त 2018
06 अगस्त 2018
बू
आसमां से धरती तक पदयात्रा करती हरित पर्ण पर मोती सी चमकती बूंद बूंद घट भरे बहती बूंदे सरिता बने काली ने संहार कर एक एक रक्त बूंद चूसा बापू ने रक्त बूंद बहाये बिना नयी क्रांति का आह्वान किया बरसती अमृत बूंदें टेसू पूनम की रोगी काया को निरोगी करे मन को लुभाती ओस की बूंदें क्षणभंगुर सम अस्तित्व का ज
06 अगस्त 2018
27 अगस्त 2018
रक्षाबंधन, 26-8-18 भाई-बहन के पवित्ररिश्ते को अपने आँचल में छूपाये हुए इस महान पर्व रक्षाबंधन के अनुपम अवसर पर आपसभी को दिल से बधाई व मंगलमयी शुभकामना,ॐ जय माँ शारदा.....!“चतुष्पदी” राखी का त्यौहारप्रिय, प्रिय बहना का स्नेह। पकड़ कलाई वीर की, बाँध रही शुभ नेह। थाली कंकू से भरी, सूत्र रंग आशीष- रक्षा
27 अगस्त 2018
12 अगस्त 2018
13 से 19 अगस्त तक का साप्ताहिक राशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहो
12 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
बात सुनो भाई भगत सिंहगुंडे चोर इंडिया के…बात सुनो भाई भगत सिंहगुंडे चोर इंडिया के…भारत माँ को लुटते है जनता के सपने टूटते हैं,गरीब भूके मरते है अमीरों के घर भरते है….लड़किया सड़े तेजाब मैजवानी रुले शराब में…आज देश आजाद है आज देश आजाद हैआपकी क़ुरबानी पर नाज है.पर क्या करे ऐसी आजादी काहर दिन दिखती बर्बाद
14 अगस्त 2018
05 अगस्त 2018
सोमवार, 06 अगस्त2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:45 सूर्यास्त : 19:08 पर चन्द्र राशि : वृषभ चन्द्र नक्षत्र : कृत्तिका 14:07 तक, तत्पश्चात रोहिणी तिथि : श्रावण कृष्ण नवमी 09:55 तक, तत्पश्चात श्रावण कृ
05 अगस्त 2018
01 अगस्त 2018
गुरुवार, 02 अगस्त2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:43 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:11 पर चन्द्र राशि : मीन चन्द्र नक्षत्र : उत्तर भाद्रपद 13:12 तक, तत्पश्चात रेवती (पंचक) तिथि : श्रावण कृष्ण पञ्चमी 11:32
01 अगस्त 2018
06 अगस्त 2018
सूर्य जो (2003) के दिल जो ना के साका गीत समीर द्वारा लिखे गए हैं, यह आदेश श्रीवास्तव द्वारा रचित है और अल्का याज्ञिक, अभिजीत और केरथी सगाथिया द्वारा गाया गया है।सूर्य (Surya )दिल जो न कह सका (Dil Jo Na Keh Saka ) की लिरिक्स (Lyrics Of Dil Jo Na Keh Saka )तेरे लबों की खामोशियों नेझुकती नज़र की मदहो
06 अगस्त 2018
22 अगस्त 2018
मा
मानवता की हार ✒️ विवश मनुज को तीर लगानेभोजन, वस्त्र, नीर पहुँचाने,भगवन रूप बदलकर आख़िरदेवदूत बन आए हैं;और निकम्मे से दिखते जोवीर, बंधु-बांधव सारे वोनाना प्रकार सहयोग बढ़ानेमुद्रा-द्रव्य भी लाये हैं।व्यथा बढ़ी है धरती परइक नहीं मनुज के जाति की,वक्त ज़रा सा भी हो साहिबकुछ बात कहो इक बात की;जीव-जंतु जो जं
22 अगस्त 2018
05 अगस्त 2018
06 से 12 अगस्त तक का साप्ताहिक राशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहो
05 अगस्त 2018
12 अगस्त 2018
हिन्दी पञ्चांगसोमवार, 13 अगस्त2018 – नई दिल्लीविरोधकृतविक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायनहरियाली / मधुस्रवा तीज की हार्दिक बधाई औरशुभकामनाएँसूर्योदय : 05:49 सूर्यास्त : 19:02 पर चन्द्र राशि : सिंह चन्द्र नक्षत्र : पूर्वा फाल्गुनी 19:08 त
12 अगस्त 2018
07 अगस्त 2018
बुधवार, 08 अगस्त2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:46 सूर्यास्त : 19:06 पर चन्द्र राशि : मिथुन चन्द्र नक्षत्र : मृगशिर 10:47 तक, तत्पश्चात आर्द्रा तिथि : श्रावण कृष्ण द्वादशी 26:10 (अर्द्धरात्र्योत्त
07 अगस्त 2018
02 अगस्त 2018
गु
क्षण-प्रतिक्षण,जिंदगी सीखने का नाम सबक जरूरी नहीं,गुरु ही सिखाएजिससे शिक्षा मिले वही गुरु कहलाये जीवंत पर्यन्त गुरुओं से रहता सरोकार हमेशा करना चाहिए जिनका आदर-सत्कार प्रथम पाठशाला की गुरु माँ बनी दूजी शाला के शिक्षक गुरु बने सामाजिकता का पाठ माँ ने सिखाया शैक्षणिक स्तर शिक्षक ने उच्च बनाया नैतिक श
02 अगस्त 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x