मद्रास हाई कोर्ट ने सीबीएसई को मीडिया में 'नो होमवर्क' नियम प्रचारित करने का आदेश दिया

21 अगस्त 2018   |  Pratibha Bissht   (49 बार पढ़ा जा चुका है)

मद्रास उच्च न्यायालय ने आज केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को मीडिया में प्रचार करने का आदेश दिया कि कक्षा 1 और 2 छात्रों के लिए बोर्ड के ' नो होमवर्क' नियम का पालन न करने वाले संस्थानों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

न्यायमूर्ति एन किरुबकरन ने वकील एम पुरुषोत्थमान की याचिका पर आदेश पारित किया की
सीबीएसई नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रम और पुस्तकों का पालन करें।

जब न्यायमूर्ति किरुबाकरन के समक्ष सुनवाई के दौरान, सीबीएसई ने परिपत्र की एक प्रति पेश की जिसमें कहा गया कि उसने 15 सितंबर, 2004 को 12 सितंबर, 2016 को इसी तरह के परिपत्र जारी किए थे और कहा था कि कक्षा 1 और 2 के छात्रों को कोई होमवर्क नहीं दिया जाना चाहिए ।

बोर्ड ने यह भी कहा कि उच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुपालन में "इसे एक बार फिर दोहराया जाता है की स्कूल यह सुनिश्चित करे कि कक्षा 3 में भी कोई होमवर्क नही दिया गया हो।

कोर्ट ने सीबीएसई से स्कूल में फ्लाइंग स्क्वाड स्थापित करने के लिए भी कहा था | न्यायाधीश ने कहा, "लोग सीबीएसई को एक प्रमुख बोर्ड के रूप में देखते हैं, लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आपके पास इस तरह के उल्लंघनों की जांच करने के लिए एक प्रणाली भी नहीं है।"

अगला लेख: मुंबई : सपनो का शहर



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
10 अगस्त 2018
केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कैबिनेट ने ट्रिपल तलाक़ बिल में संशोधन को मंजूरी दे दी है। उन्होंने कहा की 2017 में 389 ट्रिपल तलाक के मामले दर्ज हुए हैं और 2017 से 2018 के बीच 229 केस सुप्रीम कोर्
10 अगस्त 2018
09 अगस्त 2018
केंद्रीय कैबिनेट ने तीन तलाक विधेयक 2017 में कुछ संशोधन को मंजूरी दे दी है| जिसमें तीन तलाक यानि तलाक-ए-बिद्दत को गैर जमानती अपराध तो माना गया है लेकिन संशोधन के हिसाब से अब मजिस्ट्रेट को बेल देने का अधिकार होगा|इस विधेयक के अनुसार ,
09 अगस्त 2018
09 अगस्त 2018
सरकारी नौकरी और शिक्षा में आरक्षण की मांग को लेकर आज 9 अगस्त को महाराष्ट्र में बंद का आह्वान किया है। बंद की वजह से पूरे राज्य में सुरक्षा इंतजाम को पुख्ता कर दिया गया है|राज्य पुलिस ने कहा है कि वह अपने
09 अगस्त 2018
07 अगस्त 2018
भुवनेश्वर शहर भारतके पूर्वी हिस्सेमें बसा हैतथा यह शहरओडिशा की राजधानीहै। देश केआजाद होने सेपहले ओडिशा कीराजधानी कटक हुआकरती थी, जिसेआज प्रदेश कीव्यापारिक राजधानी के रूपमें जाना जाताहै। इस शहरको जर्मन आर्किटेक्टओटो कोनिग्सबर्गर द्वाराडिजाइन किया गयाहै।1948 में भारत केराज्य उड़ीसा की राजधानीबनने से प
07 अगस्त 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x