नक्षत्र - एक विश्लेषण

24 अगस्त 2018   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (70 बार पढ़ा जा चुका है)

नक्षत्र - एक विश्लेषण

भरणी

वैदिक ज्योतिष के आधार पर मुहूर्त, पञ्चांग, प्रश्न इत्यादि के विचार के लिए प्रमुखता से प्रयोग में आने वाले “नक्षत्रों की व्युत्पत्ति और उनके नामों” पर वार्ता के क्रम में अश्विनी नक्षत्र के बाद अब दूसरा नक्षत्र होता है भरणी | भरणी शब्द की व्युत्पत्ति हुई है भरण में ङीप् प्रत्यय लगाकर हुई है | भरण का शाब्दिक अर्थ है पालन पोषण करना, भार वहन करना आदि | इस नक्षत्र में भी अश्विनी नक्षत्र के समान ही तीन तारे होते हैं तथा यह भी आश्विन माह तथा सितम्बर और अक्टूबर के महीनों में पड़ता है |

जो व्यक्ति अपने आस पास के लोगों तथा अन्य प्राणियों की देख भाल करता हो, उनका ध्यान रखता हो, पालन पोषण करता हो उसे भरण करने वाला कहा जाता है | अपने स्वयं के सामान की देखभाल करना भी इसका स्वभाव होता है | इसके अतिरिक्त ऐसे मजदूर को भी भरण करने वाला कहते हैं जो भार ढोता हो – अपने सर पर कुछ सामान रखकर यहाँ से वहाँ पहुँचाता हो | कुली के अर्थ में भी इस शब्द का प्रयोग होता है | राहु का विशेषण भी इसे माना जाता है |

भरणी नक्षत्र के अन्य नाम हैं : अन्तक – किसी भी वस्तु, वातावरण अथवा समस्या का अन्त करने वाला अथवा किसी भी कार्य को या वार्तालाप को या विवाद इत्यादि को उसके अन्त तक या पूर्णता तक पहुँचाने वाला या नष्ट करने वाला | सीमा के अर्थ में भी भरणी शब्द का प्रयोग किया जाता है | इसके अतिरिक्त यम अर्थात युगल यानी Twin के अर्थ में भी इसका प्रयोग होता है | साथ ही किसी बात के लिए रोकना, नियन्त्रित करना, बाधा डालना, आत्म नियन्त्रण यानी Self-Control तथा महान नैतिक – धार्मिक – आध्यात्मिक कर्तव्यों का निर्वाह करना तथा रीति रिवाजों का पालन करने के अर्थ में भी इस शब्द का प्रयोग किया जाता है |

https://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2018/08/24/constellation-nakshatras-11/

अगला लेख: नक्षत्र एक विश्लेषण



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
22 अगस्त 2018
नक्षत्रों की व्युत्पत्ति तथा उनके अर्थअभी तक हमने 27 नक्षत्रों के आधार पर बारह हिन्दी महीनों केनाम तथा उनके वैदिक नामों के विषय में चर्चा कर रहे थे | किन्तु जिन नक्षत्रों के नाम पर हिन्दी महीनों के नाम रखे गए उन नक्षत्रों केनाम किस प्रकार बने यह विचारणीय प्रश्न है | तो अब
22 अगस्त 2018
13 अगस्त 2018
मंगलवार, 14 अगस्त 2018 – नई दिल्लीविरोधकृतविक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 05:49 सूर्यास्त : 19:01 पर चन्द्र राशि : कन्या चन्द्र नक्षत्र : उत्तर फाल्गुनी 17:21 तक, तत्पश्चात हस्त तिथि :
13 अगस्त 2018
28 अगस्त 2018
कृत्तिका :-बात चल रही है वैदिक ज्योतिषके आधार पर मुहूर्त, पञ्चांग, प्रश्न इत्यादि के विचार के लिएप्रमुखता से प्रयोग में आने वाले 27 नक्षत्रों के नामों की व्युत्पति (किस धातु आदि से किस नक्षत्र का नाम बना)किस प्रकार हुई तथा इनके अर्थ क्या हैं इस विषय पर | पिछले लेख मेंइसी
28 अगस्त 2018
15 अगस्त 2018
गुरुवार, 16 अगस्त2018 – नई दिल्लीविरोधकृतविक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 05:50 सूर्यास्त : 18:59 पर चन्द्र राशि : तुला चन्द्र नक्षत्र : चित्रा 15:47 तक, तत्पश्चात स्वाति तिथि : श्रावण
15 अगस्त 2018
22 अगस्त 2018
नक्षत्रों की व्युत्पत्ति तथा उनके अर्थअभी तक हमने 27 नक्षत्रों के आधार पर बारह हिन्दी महीनों केनाम तथा उनके वैदिक नामों के विषय में चर्चा कर रहे थे | किन्तु जिन नक्षत्रों के नाम पर हिन्दी महीनों के नाम रखे गए उन नक्षत्रों केनाम किस प्रकार बने यह विचारणीय प्रश्न है | तो अब
22 अगस्त 2018
16 अगस्त 2018
शुक्रवार, 17 अगस्त2018 – नई दिल्लीविरोधकृतविक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 05:51 पर कर्कराशि और आश्लेषा नक्षत्र में (सूर्य का सिंह राशि और मघा नक्षत्र में प्रवेश –सिंह संक्रान्ति - 06:50 पर)सूर्यास्त : 18:58 पर चन्द्र राशि : तुला च
16 अगस्त 2018
24 अगस्त 2018
शनिवार, 25 अगस्त2018 – नई दिल्लीविरोधकृतविक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 05:55 पर सूर्यास्त : 18:50 पर चन्द्र राशि : मकर 23:13 तक, तत्पश्चातकुम्भ चन्द्र नक्षत्र : श्रवण 09:48 तक, तत्पश्चात धनिष्ठा / पंचक प्रारम्भ 23:13 पर
24 अगस्त 2018
10 अगस्त 2018
शनिवार, 11 अगस्त 2018 – नई दिल्लीविरोधकृत विक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 05:48 सूर्यास्त : 19:04 पर चन्द्र राशि : कर्क 24:04 तक, तत्पश्चातसिंह चन्द्र नक्षत्र : आश्लेषा 24:04 तक, तत्पश्चात मघा तिथि
10 अगस्त 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x