कभी लालबत्ती में घूमा करती थी महिला, आज घर चलाने के लिए चराती है बकरियां

28 अगस्त 2018   |  प्राची सिंह   (146 बार पढ़ा जा चुका है)

वक्त बुरा होने पर इंसान वह काम भी करने लगता है जिसके बारे में उसने कभी सोचा भी नहीं होगा. कब अमीर गरीब बन जाए और कब किसी गरीब की किस्मत पलट जाए कुछ कहा नहीं जा सकता. व्यक्ति की किस्मत में जो लिखा है वह होकर ही रहता है. आपकी किस्मत कोई नहीं बदल सकता. राजा को रंक बनते और रंक को राजा बनते देर नहीं लगती. आज हम आपको हैरान कर देने वाली एक ऐसी घटना बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे और आप कहेंगे भगवान ऐसे दिन दुश्मनों को भी ना दिखाए. एक महिला देखते-देखते कब राजा से रंक बन गयी, उसे पता भी नहीं चला. क्या है पूरा मामला चलिए आपको बताते हैं.

ये घटना शिवपुरी/बदरवास की है. जूली आदिवासी यहां की जिला अध्यक्ष थी. लेकिन वक्त की गाज उस पर ऐसी गिरी कि वह राजा से रंक बन गयी. लाल बत्ती में घूमने वाली जूली सड़कों पर आ गयी. एक समय ऐसा था जब लोग उसे मैडम-मैडम कहकर बुलाते थे. लेकिन अब मुश्किल से लोग उन्हें बुला ले, वही काफी है. बता दें, एक टाइम में जिला अध्यक्ष रह चुकी जूली आज गुमनामी की जिंदगी जीने को मजबूर है. वह आज अपने परिवार के पालन पोषण के लिए रामपुरी के ग्राम लुहारपुरा में जद्दोजहद कर रही है. जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर आसीन रह चुकी जूली गरीबी रेखा के नीचे आती है. जूली को इंदिरा आवास योजना के तहत रहने के लिए घर तो मिला लेकिन बढ़ते भ्रष्टाचार के कारण घर उसका रह नहीं पाया. इस वजह से आज जूली अदद आवास तक के लिए मोहताज हैं.

बता दें, साल 2005 में वार्ड क्रमांक-3 से कोलारस के पूर्व विधायक रामसिंह यादव ने जूली आदिवासी को जिला पंचायत सदस्य बनाया था. जिला पंचायत सदस्य बनने से पहले जूली मजदूरी का काम काम किया करती थी. जिला पंचायत की सदस्य बनने के बाद शिवपुरी के पूर्व विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने उसे जिला पंचायत अध्यक्ष बना दिया. पांच सालों तक राज्य मंत्री का दर्जा मिलने की वजह से लोग उसे मैडम कहकर बुलाते थे.

लेकिन आज वहीं मैडम अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिए भेड़-बकरी चरा रही है. सरकारी दस्तावेजों में तो उसे इंदिरा आवास योजना का लाभ मिल चुका है लेकिन हकीकत कुछ और ही है, दरअसल, स्सर्कारी जमीन पर बनी उसकी झोपड़ी में रहना संभव नहीं है. यह झोपड़ी किसी के रहने लायक नहीं है. जूली के अनुसार इस योजना की क़िस्त तो उसे जारी कर दी गयी लेकिन उसे एक फूटी कौड़ी भी नहीं मिली. इसलिए घर बनाने के लिए खरीदी गयी ईंटें जस की तस रखी हुई हैं.

उसे बस बकरी चराने के लिए 40 रुपये महीने दिए जाते हैं. फिलहाल वह रोजाना 40 बकरियों को चराकर अपने परिवार का पालन पोषण कर रही है. जब बकरियां नहीं होती तब वह मजदूरी करने चली जाती हैं और जब मजदूरी भी नहीं मिलती तो परिवार का पेट पालने के लिए उसे गुजरात जाना पड़ता है. जूली ने बताया कि जिन लोगों ने उसकी मदद से उंची पोस्ट और पहचान हासिल की है, अब वो लोग भी उसे पहचानने से इंकार करते हैं. इस बात का उसे बहुत दुख है.

जूली ने बताया कि वह प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत स्वीकृत हो रहे मकानों के लिए जब सेक्रेट्री और जनपद पंचायत के पास पहुंची तो अधिकारियों ने उसे भगा दिया. उसकी खुद की झोंपड़ी की हालत बहुत खराब है. आम इंसान तो छोड़िये वह झोपड़ी जानवर के रहने लायक भी नहीं है.

Source: Social World

कभी लालबत्ती में घूमा करती थी महिला, आज घर चलाने के लिए चराती है बकरियां

https://www.ekbiharisabparbhari.com/2018/08/27/never-used-to-walk-in-the-red-light/

कभी लालबत्ती में घूमा करती थी महिला, आज घर चलाने के लिए चराती है बकरियां

अगला लेख: पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की हालत नाजुक , लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
14 अगस्त 2018
फिल्मी करियर में 300 फिल्मों में काम करने वाली श्रीदेवी अब हमारे बीच नहीं है। इसी साल 24 फरवरी को श्रीदेवी की दुबई के होटल के बाथटब में डूबने से मौत हो गई थी। श्रीदेवी की लाइफ को लेकर कई किस्से सुनने को मिलते हैं। इन्हीं में से 6 दिलचस्प फैक्ट्स...1) टॉप अभिनेत्री रहीं जय
14 अगस्त 2018
17 अगस्त 2018
16 अगस्त 2018. शाम के पांच बजकर पांच मिनट हो रहे थे. दिल्ली के सबसे बड़े अस्पताल एम्स के बाहर देश-दुनिया की मीडिया के साथ ही नेताओं का भी जमावड़ा लगा हुआ था. सबको उम्मीद थी कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री रहे वाजपेयी को लेकर कुछ अच्छी खबर आएगी. खबर आई भी, लेकिन बुरी खबर आई.
17 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
1. एक बार तीन बच्चे स्कूल से घर लौट रहे थे और रास्ते में आते हुए वे अपने घर के बारे में बातचीत कर रहे थे बात करते करते वे अपने अपने पापा के बारे में बात करने लगे।पहला लड़का: अरे मेरे पापा से तेज तो दुनिया में कोई भी नही है वे 90 किमी प्रति घंटा की रफ़्तार से गेंद फैंकते ह
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
देश के रहने लायक शहरों से जुड़े 'लिवेबिलिटी इंडेक्स' में पुणे पहले नंबर पर है। नवी मुंबई दूसरे और ग्रेटर मुंबई तीसरे स्थान पर है। इस मामले में नई दिल्ली का 65वां स्थान है। इस प्रतिस्पर्धा में कोलकाता ने भाग नहीं लिया। टॉप 10 में मध्य प्रदेश के 2 शहर भोपाल और इंदौर भी हैं
14 अगस्त 2018
23 अगस्त 2018
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी वलसाड और जूनागढ़ जिलों में राज्य और केंद्र सरकारों की कई परियोजनाओं को लॉन्च करने के लिए गुरुवार को गुजरात की एक दिवसीय यात्रा पर होंगे, और गांधीनगर में गुजरात फोरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह क
23 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
रिलायंस जिओ अपनी फाइबर ब्रॉडबैंड सर्विस को जिओ गीगा फाइबर के नाम से लॉन्च करने वाली है। यह सबसे बड़ी फिक्स्ड लाइन ब्रॉडबैंड सर्विस है। कंपनी का दावा है कि जिओ गीगा फाइबर की मदद से कस्टमर्स 1GBPS की तेज इंटरनेट स्पीड पा सकेंगे और यह 1100 शहरों में अवेलेबल होगी। जिओ गीगा फा
14 अगस्त 2018
13 अगस्त 2018
'नौशीन अली सरदार' टीवी की ये बहू याद है? वैसे इन्हें भूला भी कैसे जा सकता है, 2001 में 'कुसुम' बन कर सबके दिलों पर, जो छा गई थी. एकता कपूर के होम प्रोडक्शन में बने इस सीरियल में नौशीन और उनके सह-कलाकार अनुज श्रीवास्तव की जोड़ी को जनता का ख़ूब प्यार मिला था. हाल ही में नौश
13 अगस्त 2018
17 अगस्त 2018
कड़े फैसले लेने वाले प्रधानमंत्री, संवेदनाओं के रस में डूबी कविताएं लिखने वाले कवि, हाजिरजवाब और कुशल वक्ता...देश के पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ढेर सारी खूबियों वाली शख्सियत थे। उनके निधन से एक तरफ जहां पूरा देश गम में डूबा है, वहीं दूसरी तरफ उनका ऐसा वीडियो सोशल मीडिया पर सर्कुलेट हो रहा है, जिस
17 अगस्त 2018
20 अगस्त 2018
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हुआ. सब लोगों ने उन्हें नम आंखों से श्रद्धांजलि दी. सोशल मीडिया पर उनके नाम का हैश टैग ट्रेंड करता रहा. उनके किस्से-कहानियां सुनाए जाने लगे, लेकिन इस सब के बीच वे लोग भी सक्रिय रहे जो हमेशा अफवाहें फैलाने का काम करते हैं. इस ब
20 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
बेटा – मुझे शादी नहीं करनी!! मुझे सभी औरतों से डर लगता है!पिता- कर ले बेटा! फिर एक ही औरत से डर लगेगा, बाकी सब अच्छी लगेंगी।पिता बेटे पर गुस्सा करते हुए – एक काम ढंग से नहीं होता तुझसे , तुम्हें पुदीना लाने के लिए कहा था और तुम ये धनिया ले आए , तुझ जैसे बेवकूफ को तो घर से निकाल देना चाहिए बेटा: पापा
14 अगस्त 2018
30 अगस्त 2018
गुजरात कीराजधानीगांधीनगरअपनेसमृद्धसांस्कृतिकविरासत,सुंदरमंदिरोंऔरशांतवातावरणकेलिएजानाजाता है।गांधीनगरसाबरमतीनदीकेपश्चिमीतटपरस्थितहै।देशकेसबसेखूबसूरतमंदिरमेंसेएकअक्षरधाममंदिरयहाँपेहै।राष्ट्रपितामहात्मागांधीकेनामपरइसशहरकानामगांधीनगररखागयाहै,यहचंडीगढ़केबादभारतकादूसरानियो
30 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने संयुक्त रक्षा सेवा (सीडीएस) 2018 की परीक्षा के लिए नोटिफिकेशन 8 अगस्त को जारी कर दिया है। 414 पदों के लिए यह परीक्षा 18 नवंबर को आयोजित की जाएगी। सभी उम्मीदवार 8 अगस्त से 3 सितंबर तक आवेदन कर सकते हैं। यह परीक्षा मुख्य रूप से अधिकारियों की
14 अगस्त 2018
16 अगस्त 2018
राजधानी दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत नाजुक बनी हुई है. पिछले 36 घंटे में उनके स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ है. इस बीच थोड़ी देर में एम्स की ओर से वाजपेयी का नया हेल्थ बुलेटिन जारी किया जाएग
16 अगस्त 2018
15 अगस्त 2018
भारत के 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पूरा देश आजादी के जश्न में डूबा हुआ है. कश्मीर से लेकर कन्या कुमारी तक देश के हर एक कोने में आजादी के जश्न की तैयारियां की जा रही हैं. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सबसे खास होता है देश की राजधानी लाल किले पर मनाए जाने वाला जश्न और प्
15 अगस्त 2018
16 अगस्त 2018
हम हर साल 14 सितंबर को हिन्दी दिवस मनाते हैं आपके मन में ये सवाल जरूर आता होगा कि इसी दिन क्यों मनाया जाता है हम आपको बताते हैं 14 सितंबर को ही हिन्दी दिवस इसलिए मनाया जाता है क्योंकि आज ही के दिन 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया था कि हिन्दी भारत
16 अगस्त 2018
22 अगस्त 2018
क्या आप जानते हैं भारत में 2 ऐसे रेल्वे स्टेशन भी मौजूद हैं जो एक नहीं बल्कि दो-दो राज्यों के अंतर्गत आते हैं। यानी वहां पर ट्रेन का इंजन किसी और राज्य में खड़ा होता है तो डिब्बे किसी और राज्य में होते हैं। जी हां। यह सच है। इन दोनों स्टेशनों का वास्ता महाराष्ट्र, गुजरात,
22 अगस्त 2018
17 अगस्त 2018
भारतीय राजनीति में ऐसे गिने चुने ही नेता रहे जिन्हें ना केवल जनता बल्कि राजनीतिक बिरादरी में भी दिली सम्मान मिला। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी भी उन्हीं राजनेताओं में से एक रहे जिन्हें राजनीती से इतर ऐसा सम्मान मिला जो बहुत कम लोगों को मिलता है। दिल्ली के एम्स मे
17 अगस्त 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
20 अगस्त 2018
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x