राष्ट्रीय पोषण सप्ताह

29 अगस्त 2018   |  Pratibha Bissht   (281 बार पढ़ा जा चुका है)

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह - शब्द (shabd.in)

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह पूरे देश में 1 से 7 सितंबर तक मनाया जाएगा। इस वार्षिक आयोजन का मूल उद्देश्य स्वास्थ्य के लिए पोषण के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करना है जिसका विकास, उत्पादकता, आर्थिक विकास और अंततः राष्ट्रीय विकास पर असर पड़ता है।

अभियान को पहली बार 1982 में केंद्र सरकार द्वारा पोषण शिक्षा के माध्यम से अच्छे स्वास्थ्य और स्वस्थ जीवन को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू किया गया था क्योंकि कुपोषण राष्ट्रीय विकास में मुख्य बाधा है।

इसके लिए लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए, 43 इकाइयों (महिलाओं और बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य और गैर सरकारी संगठनों के विभाग) सहित खाद्य और पोषण बोर्ड पूरे देश में गतिविधियों का संचालन करने के लिए काम कर रहा है।

स्तनपान कराने वाली माताओं को अपने नवजात शिशु को 6 महीने के लिए कोलोस्ट्रम और मां के दूध के रूप में जाना जाने वाला पहला दूध पिलाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। जिस से नवजात बच्चों को प्रतिरक्षा और स्वस्थ जीवन का एक बड़ा स्तर प्रदान हो सके ।

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह का उपयोग लोगों को पोषण के बारे में हर प्रकार के ज्ञान और मानव शरीर के लिए उसके महत्व को बताने के लिए किया जाता है। लोगों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए पोषण पर ध्यान केंद्रित करने के लिए मनाया जाता है। प्रत्येक व्यक्ति को बेहतर जीवन के लिए बेहतर स्वास्थ्य पाने के लिए पोषण की आवश्यकता होती है | किसी को भी यह सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रत्येक कार्य को उचित स्वास्थ्य के साथ किया जाये ताकि उसे जल्दी और बेहतर तरीके से किया जा सके। मानव शरीर के लिए पोषण बहुत महत्वपूर्ण है इस से हर कोई अपना काम ठीक और सही तरीके से भी कर सकता है।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य पोषण सप्ताह हर साल 1 सितंबर से 7 सितंबर तक मनाया जाता है ताकि लोगों को उनके स्वास्थ्य और कल्याण की महत्वपूर्ण युक्तियों के बारे में पता चल सके।
राष्ट्रीय पोषण सप्ताह अभियान के माध्यम से दुनिया भर के लोगों को उनके स्वरूप को बनाए रखने और बेहतर महसूस करने के लिए शिक्षित किया जा सकता है। लोग अपने खाद्य समूहों और संतुलित आहार से अवगत हो सकते हैं जिससे वे अच्छी पौष्टिक चीजें उपयोग में ले सकते हैं। एक स्वस्थ आहार में पूरे अनाज, फल, सब्जियां, वसा मुक्त दूध या दूध उत्पाद, मांस, मछली, नट, बीज और आदि शामिल होना चाहिए। राष्ट्रीय पोषण सप्ताह का उद्देश्य प्रशिक्षण, समय पर शिक्षा, संगोष्ठियों, विभिन्न प्रतियोगिताओं, सड़क शो और कई अन्य अभियानों के माध्यम से और स्वस्थ राष्ट्र बनाने के के लिए समुदाय के लोगों के बीच पोषण अभ्यास जागरूकता को बढ़ाना है। एक सप्ताह के अभियान में एक दिवसीय प्रशिक्षण, स्वस्थ सामान के साथ पौष्टिक भोजन तैयार करना, गृह विज्ञान के छात्रों द्वारा एक प्रदर्शनी, गेहूं और सोयाबीन पर टिप्पणी करके उनके पौष्टिक मूल्य के बारे में बताना , विभिन्न प्रतियोगिताओं, माताओं को पोषण का व्याख्यान, सड़क शो और सेमिनार को शामिल किया जाता है।

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के खाद्य एवं पोषण बोर्ड, 30 राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों में स्थित 43 समुदाय खाद्य और पोषण विस्तार इकाइयों (सीएफएनईयू) के माध्यम से, राज्य / संघ शासित प्रदेशों के संबंधित विभाग के साथ समन्वय , राष्ट्रीय संस्थान, एनजीओ और राज्य / यूटी स्तर कार्यशालाओं का आयोजन , क्षेत्र कार्यकर्ताओं का अभिविन्यास प्रशिक्षण, जागरूकता जनरेशन शिविर, निर्दिष्ट विषय पर सप्ताह के दौरान सामुदायिक बैठक करते है

नेशनल न्यूट्रिशन वीक अभियान में न्यूट्रिशन वीक किट है जो परिवारों को स्वस्थ भोजन तैयार करने में सहायता करने वाले संसाधनों से भरा होता है। इस अभियान में विश्व खाद्य दिवस भी शामिल होता है और 2010 से न्यूड फूड डे भी जोड़ा गया है।

रिपोर्टों के अनुसार यह उल्लेख किया गया है कि लोगों ने शर्करा पेय का उपयोग शुरू कर दिया है जो किशोरावस्था में वजन बढ़ने और मोटापे की समस्या का भी कारण है। खाद्य विज्ञान और पोषण प्रबंधन विभाग ने वर्ष 2010 में 8 सितंबर को पोषण जागरूकता बताने के लिए एक दिवसीय समारोह आयोजित किया था। इस अभियान में पोस्टर प्रतियोगिता, स्वस्थ हृदय भोजन के लिए एक खाना पकाने की प्रतियोगिता, आहार के लिए परामर्श, बीएमआई को मापने, बीमारियों पर व्याख्यान और दिल की रोकथाम और कई अन्य चीज़ो को शामिल किया जाता हैं।
राष्ट्रीय पोषण सप्ताह 2018 शनिवार (1 सितंबर) से शुक्रवार (7 सितंबर) तक मनाया जाएगा।

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह पर गतिविधियां :

पूरे सप्ताह के दौरान राष्ट्रीय पोषण सप्ताह में लोगों को विभिन्न पोषण शिक्षा और प्रशिक्षण कार्यक्रमों द्वारा बढ़ावा दिया जाता है।

जन पोषण जागरूकता अभियान सरकारी और गैर सरकारी स्वास्थ्य संगठनों द्वारा चलाए जाते हैं।

लोगों को पोषण संबंधी शिक्षा और प्रशिक्षण सामग्री के वितरण के माध्यम से प्रेरित किया जाता है।

लोगों को घर पर फल, सब्जियां और अन्य खाद्य पदार्थ जैसे पौष्टिक पदार्थों के संरक्षण के लिए उचित प्रशिक्षण दिया जाता है।

खाद्य विश्लेषण और मानकीकरण के बारे में लोगों को उचित प्रशिक्षण दिया जाता है।

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह समारोह के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सरकार द्वारा कई अन्य राष्ट्रीय पोषण नीतियां संचालित की जाती हैं|

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह समारोह का उद्देश्य :

1. समुदायों में विभिन्न आहार और पोषण के लिए समस्याओं की आवृत्ति की समीक्षा करने के लिए।

2. गहरे शोध के माध्यम से पोषण संबंधी समस्याओं को रोकने और नियंत्रित करने के लिए उपयुक्त तकनीकों का मूल्यांकन करना।

3. आहार और पोषण के लिए देश की स्थिति की निगरानी करना |

4. राष्ट्रीय पोषण कार्यक्रमों की योजना बनाने और कार्यान्वित करने के लिए परिचालन अनुसंधान करना ।

5. स्वास्थ्य और पोषण के बारे में अभिविन्यास प्रशिक्षण के माध्यम से लोगों को जागरूक करना ।

आबादी की पोषण की स्थिति में सुधार राष्ट्रीय विकास के लिए अनिवार्य है। युवा बच्चों में पोषण कमी भारत में एक बड़ी सार्वजनिक स्वास्थ्य समस्या है। एनएफएचएस 4 ने पोषण संबंधी स्थिति में विशेष रूप से महिलाओं और बच्चों के बीच एक उत्साहजनक सुधार नहीं दिखाया है। एनएफएचएस -4 के अनुसार अंडरवेट का स्तर 6.8% घट गया है और 9.6% तक गिर रहा है। एनएनएचएस -3 आंकड़ों की तुलना में एनीमिया का स्तर 11% घट गया है।

कुपोषण को केवल गरीबी के एक शाखा के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए, जिसमें व्यक्तियों के स्वास्थ्य और विकास पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है लेकिन यह एक राष्ट्रीय समस्या है जिसके परिणामस्वरूप उत्पादकता में कमी और आर्थिक पिछड़ेपन का सामना करना पड़ता है।

अब समय आ गया है कि व्यक्तिगत स्तर पर पोषण में सुधार किया जा सके।
इस प्रकार, कुपोषण की इस बड़ी नेटवर्क समस्या को हल करने के लिए मिशन मोड दृष्टिकोण से विभिन्न क्षेत्रों में अभिसरण और अच्छी तरह से समन्वित कार्रवाइयों की श्रृंखला शुरू की जानी चाहिए |

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह - शब्द (shabd.in)

अगला लेख: जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में भाजपा नेता की हत्या



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
22 अगस्त 2018
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बुधवार सुबह आतंकवादियों ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सक्रिय नेता शबीर अहमद भट को गोली मार दी | समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, भट्ट को आतंकवादियों ने उनके निवास पर गोली मारी । बीजेपी सहयोगी जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के राखी-ए-कूड़े गांव का निवासी था। शबीर अहमद भाट
22 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
पिछले 24 घंटों में हिमाचल प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश हुई, जिससे 16 लोगों की मौत हो गई और भारी भूस्खलन शुरू हो गया, जिससे यातायात प्रभावित हो गया और यात्री राजमार्गों पर फंस गए | सरकार ने लोगों से यात्रा से बचने के लिए कहा क्योंकि मौसम अधिकारियों ने मंगल
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
दि
11:17 HRS IST नयी दिल्ली, 14 अगस्त (भाषा) दिल्ली में आज सुबह आसमान साफ रहा और न्यूनतम तापमान मौसम के औसत से एक डिग्री अधिक 27.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि आर्द्रता का स्तर सुबह साढ़े आठ बजे 81 प्रतिशत दर्ज किया गया। राष्ट्रीय राजधानी में सुबह साढ़े आठ बजे
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
नवीनतम सर्वेक्षण के मुताबिक, नरेंद्र मोदी-अमित शाह के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी को अगलेविधानसभा चुनावों में तीनप्रमुख राज्यों - छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थानमें हार कासामना करना पड़सकता है - यहाँ वर्तमानमें बीजेपी सत्तामें है|सीवीओटीईआर और एबीपी न्यूज द्वारा किए गए सर्वेक्षण में दावा किया
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
मंगलवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रूपए की कीमत 70 रुपये पहुँच गयी जो अब तक के सबसे निचले स्तर पर है | सोमवार को अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपए में 1.08 रुपये या 1.57 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई, जो अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 69.9 1 पहुँच गया था |
14 अगस्त 2018
21 अगस्त 2018
सद्भावना दिवस हरसाल 20 अगस्त को भारतके पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीवगांधी की जयंतीमनाने के लिएमनाया जाता है।2018 श्री राजीव गांधी की74 वीं जयंती को चिन्हितसद्भावना दिवस काजश्न मनाया जायेगा |वीर भुमी पर श्री राजीव गांधी का प्रतिनिधित्व करने वाले राजनीतिक दल, परिवार क
21 अगस्त 2018
21 अगस्त 2018
16 वर्षीय सौरभ चौधरी ने 2018 एशियाई खेलोंमें भारत का पहला शूटिंग स्वर्ण जीत लिया है जबकि साथी अभिषेक वर्मा ने इंडोनेशिया में पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धामें कांस्य पदक जीता है| सौरभ चौधरी ने 240.7 अंक के साथ शीर्ष स्थान प्राप्त किया जबकि अभिषेक वर्मा 219.3के
21 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
11:16 HRS IST उच्चतम न्यायालय तूतीकोरिन संयंत्र पर एनजीटी के आदेश के खिलाफ तमिलनाडु की याचिका पर 17 अगस्त को सुनवाई करेगा।
14 अगस्त 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x