इंडिया ही नहीं पूरी दुनिया के स्कूलों की बसें होती हैं पीली, लेकिन क्यो, कभी सोचा?

29 अगस्त 2018   |  प्राची सिंह   (133 बार पढ़ा जा चुका है)

इंडिया ही नहीं पूरी दुनिया के स्कूलों की बसें होती हैं पीली, लेकिन क्यो, कभी सोचा?


इंसान अपनी जिंदगी के सबसे अच्छे और खुशनुमा पलों की लिस्ट बनाए तो पहले नंबर पर उसके स्कूल डेज होंगे। जब कंधे पर सिर्फ किताबों का बस्ता होता था, न इश्क का रिस्क और न ही जिम्मेदारियों की चिंता। खुश होते थे तो जी भर के हंस लिया करते थे और दिल रूठ जाता था तो आंखों से उसे बाहर निकाल दिया जाता था। वो टिफिन, वो ज्योमेट्री बॉक्स, वो रिक्शा, वो बस सब अच्छी यादों की कागजों में लिपटा हुआ रखा है।

पहले ऐसा लगता था कि स्कूलों के नाम सिर्फ अलग-अलग होते थे बाकि सब एक जैसा होता था। बिल्डिंग, ड्रेस और स्कूल बस एक से होते थे। बाद में समझ आया कि स्कूलों का स्टैंडर्ड फीस के हिसाब से होता था न कि हमार-आपके हिसाब से। लेकिन ध्यान देने वाली बात ये है कि स्कूल छोटा हो या बड़ा, उसकी स्कूल बस का रंग एक ही होता है। रंग का शेड भी दाएं-बाएं नहीं होता है। बस बिल्कुल चटख पीले रंग की होती है। कभी सोचा है कि ऐसा क्यों होता है।

ये है कारण

बसों पर पीला रंग चढ़ाने की कोशिश अमेरिका से हुई थी। स्कूल बस कैसी हों इस पर वहां एक कांफ्रेंस हो रही थी। वहां डॉक्टर फ्रैंक साइर ने तय किया कि स्कूलों पर पीला रंग का पेंट किया जाए। डॉक्टर साहब कोलिंबिया यूनिवर्सिटी में पढ़ाते थे, बसों के पीले होने से क्या फायदे हो सकते हैं ये उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में बताया। उनकी बात सही थी तभी सबने सिर हिलाकर मान लिया।

देखिए क्या कारण बताए थे

डॉक्टर साहब ने बताया कि पीले रंग में ऐसा एलीमेंट होता है कि यदि उस पर काले रंग की पट्टी या लिखावट की जाए तो कितना भी अंधेरा रहे, सब कुछ साफ साफ दिखेगा।

पीले रंग को इंसानी दिमाग सबसे आसानी से नोट कर लेता है। लाल रंग से भी तेज। लिहाजा ड्राइविंग के दौरान हर स्थिति में पीला रंग दिख जाएगा। अब आप जान गए, कोई पूछेगा तो झट से बताकर महफिल लूट लीजिएगा।


https://www.firkee.in/fun/this-is-reason-behind-all-school-buses-are-yellow?pageId=2

अगला लेख: अटल जी का 15 साल पुराना वीडियो वायरल, वजह जानेंगे तो दिल खुश हो जाएगा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 सितम्बर 2018
यूं तो हमें आज़ाद हुए 71 साल हो चुके हैं, लेकिन आज भी हमारी एक चीज़ अंग्रेजों के कब्ज़े में है. शायद ही आप में से कुछ लोगों को ये बात पता होगी कि महाराष्ट्र में एक ऐसी रेलवे लाइन है, जिस पर आधिकारिक तौर से इंडियन रेलवे का हक़ नहीं है और इसके संचालन का ज़िम्मा ब्रिटेन की एक
06 सितम्बर 2018
20 अगस्त 2018
साल के आठवें महीने का यह 20वां दिन एक दुखद घटना के साथ इतिहास के पन्नों में दर्ज है। दरअसल 1995 में 20 अगस्त के दिन पुरुषोत्तम एक्सप्रेस और कालिंदी एक्सप्रेस के बीच उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में आमने सामने की भीषण टक्कर ने भारी तबाही मचाई। दुर्घटना में 250 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और 250 घायल हु
20 अगस्त 2018
17 अगस्त 2018
भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार शाम 5.05 बजे निधन हो गया। वे 93 वर्ष के थे। अटलजी के निधन पर 7 दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा गई की।अटल बिहारी वाजपेयी दो महीने से एम्स में भर्ती थे, लेकिन पिछले 36 घंटों के दौरान उनकी सेहत बिगड़ती चली गई। उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा
17 अगस्त 2018
17 अगस्त 2018
कड़े फैसले लेने वाले प्रधानमंत्री, संवेदनाओं के रस में डूबी कविताएं लिखने वाले कवि, हाजिरजवाब और कुशल वक्ता...देश के पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ढेर सारी खूबियों वाली शख्सियत थे। उनके निधन से एक तरफ जहां पूरा देश गम में डूबा है, वहीं दूसरी तरफ उनका ऐसा वीडियो सोशल मीडिया पर सर्कुलेट हो रहा है, जिस
17 अगस्त 2018
16 अगस्त 2018
राजधानी दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत नाजुक बनी हुई है. पिछले 36 घंटे में उनके स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ है. इस बीच थोड़ी देर में एम्स की ओर से वाजपेयी का नया हेल्थ बुलेटिन जारी किया जाएग
16 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
देश के रहने लायक शहरों से जुड़े 'लिवेबिलिटी इंडेक्स' में पुणे पहले नंबर पर है। नवी मुंबई दूसरे और ग्रेटर मुंबई तीसरे स्थान पर है। इस मामले में नई दिल्ली का 65वां स्थान है। इस प्रतिस्पर्धा में कोलकाता ने भाग नहीं लिया। टॉप 10 में मध्य प्रदेश के 2 शहर भोपाल और इंदौर भी हैं
14 अगस्त 2018
27 अगस्त 2018
भारत के ज़्यादातर बड़े शहरों में जब भी कोई पैदल घूमना चाहता है या साइकिल लेकर सड़क पर निकलना चाहता है तब उसे मायूस होकर या खीज कर कहना ही पड़ता है की सब जगह बाइक या कार वाले ही भरे हुए हैं. साइकिल के लिए तो जगह ही नहीं है.अगर कोई बेचारा हिम्मत कर साईकिल लिए दिल्ली की सड़क पर न
27 अगस्त 2018
15 अगस्त 2018
देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आज लालकिले पर आयोजित मुख्य समारोह में राजनीतिक दलों के प्रमुख नेताओं, सरकार के मंत्रियों, सेना के शीर्ष अधिकारियों, राजनयिकों और दूसरे क्षेत्रों के प्रमुख लोगों ने शिकरत की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लालकिले की प्राचीर से संबोधन
15 अगस्त 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x