क्यों मंगलवार ,गुरुवार, शनिवार को ,नाख़ून तथा बालों को नहीं काटना चाहिए जानिये वैज्ञानिक कारण

01 सितम्बर 2018   |  रेखा यादव   (531 बार पढ़ा जा चुका है)

क्यों मंगलवार ,गुरुवार, शनिवार को ,नाख़ून तथा बालों को नहीं काटना चाहिए जानिये वैज्ञानिक कारण

एक सप्ताह में सात दिन होते हैं और इन सातों दिनों का अपना अलग – अलग महत्व होता हैं. इन सातों दिनों से जुडी हुई हमारी कोई न कोई विशेष परम्परा और मान्यताएं होती हैं. जिनका उल्लेख हमारे ऋषि – मुनियों ने तो किया ही हैं साथ ही साथ इनकी चर्चा हमारे प्राचीन वेदों में तथा ज्योतिष शास्त्रों में भी की गई हैं.

हिन्दू धर्मग्रंथों के अनुसार सप्ताह के प्रत्येक दिन को किसी न किसी विशेष ग्रह का प्रभाव पृथ्वी पर पड़ता हैं. जिसके अनुसार ही हमें विभिन्न कार्य करने चाहिए या नहीं करने चाहिए

उदाहरण के लिए आज के आधुनिक समय में लोग इन सब बातों को अंधविश्वास कहकर नकार देते हैं, तो वहीं हमारे बड़े – बुजुर्ग इन नियमों का पूरी निष्ठा से पालन करते हैं. जिनका हमें भी पालन करना चाहिए.

हिन्दू धर्म द्वारा बनाई गई इन सारी परम्पराओं का या रीती – रिवाजों का हमारे बड़े – बुजुर्ग पालन ऐसे ही नहीं करते बल्कि इन परम्पराओं के तथा रीती – रिवाजों के पीछे एक सुनिश्चित वैज्ञानिक कारण होता हैं. जिसकी वजह से ही इस मान्यताओं का पालन पूरा समाज करता हैं.

अक्सर हम अपने घर में या आपने आस – पडोस में रहने वाले लोगों से सुनते हैं कि हमें सप्ताह के तीन दिन मंगलवार, वीरवार तथा शनिवार को न ही नाख़ून काटने चाहिए और न ही बालों को काटना चहिये.

आधुनिक जीवन व्यतीत करने वाले युवकों में प्रत्येक काम को क्यों करना चाहिए या क्यों नहीं करना चाहिए, इनके पीछे के तर्क को जानने की जिज्ञासा रहती हैं

अगर युवक इस प्रश्न का जवाब जानना चाहते हैं कि सातों दिन में से किस दिन नाख़ून काटने चाहिए या नहीं काटने चाहिए. तो वे इसकी जानकारी के लिए वे प्राचीन व प्रमाणिक पुस्तकों का अध्ययन कर सकते हैं.

जिसमें इनके पीछे के वैज्ञानिक कारणों के बारे में बहुत ही स्पष्टता से बताया गया हैं कि मंगलवार, वीरवर तथा शनिवार अर्थात सप्ताह के सात दिनों में से तीन दिनों को ग्रह नक्षत्रों की दशाएं ठीक नहीं होती तथा इन दिनों में अनंत ब्रह्माण्ड से आने वाली सूक्ष्म से सूक्ष्म किरणों का मानवीय मस्तिष्क पर बहुत ही संवेदनशील प्रभाव पड़ता हैं.

मानव शरीर की उंगलियों का आगे का हिस्सा तथा सिर बहुत ही संवेदनशील होता हैं. जिनकी रक्षा हमारे कठोर नाख़ून व बाल करते हैं तथा ब्रह्माण्ड की सूक्ष्म किरणों का भी प्रभाव सबसे ज्यादा इन हिस्सों पर ही पड़ता हैं.

इसलिए हमारे बड़े – बुजुर्ग तथा हिन्दू धर्म में इन दिनों को बाल काटने की तथा नाखूनों को काटने की मनाही की गयी हैं तथा इन्हें काटना पूरी तरह से अधार्मिक तथा निंदनीय बताया गया हैं. तो वहीं सप्ताह के पहले दिन यानी सोमवार को नाख़ून काटना शुभ बताया गया हैं. जिसके पीछे भी एक विशेष वजह हैं.

ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार व हिन्दू धर्म के अनुसार सोमवार को नाखूनों को काटने से मनुष्य की आयु में सात वर्ष की वृद्धि होती हैं तथा ठीक इसके विपरीत शनिवार को नाख़ून काटने से मनुष्य की उम्र में से सात वर्ष घट जाते हैं.

सोमवार को नाखूनों को काटना इसलिए भी शुभ होता हैं क्यूंकि इस दिन ग्रह नक्षत्रों की दशाएं ठीक होती हैं तथा ब्रह्माण्ड से आने वाली सूक्ष्म किरणें बहुत ही शुभ होती हैं. जिनका प्रभाव हमारे शरीर पर पड़ता हैं और हमारी आयु में सात वर्ष की वृद्धि हो जाती हैं.

क्यों मंगलवार ,गुरुवार, शनिवार को ,नाख़ून तथा बालों को नहीं काटना चाहिए जानिये वैज्ञानिक कारण

https://www.ekbiharisabparbhari.com/2018/08/31/why-we-should-not-cut-nail-on-sat/

अगला लेख: आज से बदल गईं ये 4 चीजें! बैंक से लेकर रेलवे तक आपकी जेब पर ऐसे पड़ेगा असर



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 सितम्बर 2018
हिम्मत और जज्बे की कई कहानियां सुनी होंगी. मगर एक कहानी असल में खेल के मैदान पर हुई है. क्या हो सीटी बजे और सभी धावक रेस जीतने के लिए दौड़ पड़ें. उनमें से एक का जूता खुल जाए. दौड़ भी कोई कम वाली नहीं, 3000 मीटर की स्टीपलचेज रेस. यानी 3000 मीटर की रेस में सिर्फ दौड़ना नहीं
01 सितम्बर 2018
10 सितम्बर 2018
पिछले एक महीने से तेल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं. तेल के बढ़ते दामों पर सरकार अपने तर्क दे रही है और विपक्ष अपने तर्क. पक्ष और विपक्ष के तर्कों-कुतर्कों के बीच महंगाई की सबसे बड़ी मार हमारी और आपकी जेब पर पड़ रही है. लोगों की परेशानियों को अपनी सियासत से जोड़ते हुए पू
10 सितम्बर 2018
05 सितम्बर 2018
मित्रों इस बात से तो आप लोग अवगत ही होगें कि इस दुनिया में बहुत से ऐसे लोग है, जिनका दिमांग कुछ ऐसी चीजों में लगता है, जो लोगों के लिये हैरानी का सबब बन जाता है, आपको बता दे कि भारत में सबसे अधिक जुगाड़ी लोग रहते है। आज हम इसी संबंध में कुछ ऐसी तस्वीरे दिखाने जा रहे है, ज
05 सितम्बर 2018
10 सितम्बर 2018
पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों पर विपक्ष लामबंद हो रहा है । प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस ने 10 सितंबर को भारत बंद का आह्वाहन किया है जिसका असर दिखना शुरू हो गया है । देश भर के बाजारों में बंद का मिला जुला असर देखने को मिल रहा है । कांग्रेस के भारत बंद में कई दूसरी राजनीतिक पार
10 सितम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x