सीएम योगी ने अखिलेश की तुलना औरंगजेब से की, कहा- जो अपने बाप और चाचा का नहीं हुआ वो...

08 सितम्बर 2018   |  प्रियंका   (80 बार पढ़ा जा चुका है)

सीएम योगी ने अखिलेश की तुलना औरंगजेब से की, कहा- जो अपने बाप और चाचा का नहीं हुआ वो...

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार लखनऊ में निषाद सम्मेलन को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर तंज़ कसा | योगी ने अपने बयान में अखिलेश को मुग़ल शासक औरंगजेब के सामान बताया | निषाद सम्मलेन में योगी ने कहा कि “जो अपने पिता और चाचा का नहीं हुआ, आप सबको खुद से जोड़ने की बात कर रहा है ... इतिहास में एक चरित्र है, जिसने अपने पिता को जेल में डाल दिया था ... यही वजह है कि कोई मुसलमान अपने बेटे का नाम औरंगजेब नहीं रखता ... मुझे लगता है कि सपा के साथ कुछ ऐसी ही बात जुडी है।'

औरंगजेब एक ऐसा शासक था जिसने अपने पिता और चाचा को ही कैद कर दिया था। येही हाल आजकल अखिलेश के परिवार में हो रखा है |



एक बार फिरसे सपा की पारिवारिक अंतर्कलह खुलकर सामने आ गयी है। अखिलेश से असंतुष्ट चाचा शिवपाल सिंह यादव ने 'समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा' बना लिया है। 2019 के लोकसभा चुनाव में शिवपाल ने सपा के विरुद्ध अपनी नई पार्टी से राज्य की सभी 80 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है।

इसके लिए शिवपाल सबसे पहले पार्टी से रूठे नेताओं और कार्यकर्ताओं को अपने साथ लायेंगे | उत्तर प्रदेश के 2017 के विधानसभा चुनाव के पूर्व ही परिवार में कलेश हो गया था | शिवपाल ने सीधे-सीधे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर पार्टी के पुराने सदस्यों की अनदेखी का आरोप लगाया है | उन्होंने कहा के सपा नेत्रित्व पिछले डेढ़ साल से उनकी अनदेखी कर रहा था साथ ही यह भी आरोप लगाया की अखिलेश अपने पिता और सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव को पर्याप्त सम्मान नहीं दे रहे है।


अगला लेख: लिज्जत पापड़ के सफलता की कहानी : 7 औरतों ने 80 रुपये उधार लेके की थी शुरुआत



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
03 सितम्बर 2018
नई दिल्ली/लखनऊ। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ इन दिनों दो दिवसीय वाराणसी दौरे पर हैं। वाराणसी पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र होने के कारण वीआईपी इलाकों में गिना जाता है। रविवार (2 अगस्त) की सुबह मुख्यमंत्री पीएम मोदी के गोद लिए गांव डोमरी में गए
03 सितम्बर 2018
07 सितम्बर 2018
गांव का नाम जहन में आते ही सबसे पहले वहां होने वाली असुविधाओं का ख्याल आता है। लेकिन समय के साथ अब गांवों की तस्वीर बदल रही है। आज हम आपको ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे है जिसकी तरक्की की कहानी सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे। आप यकीन नहीं करेंगे। जी हां, इस गांव में गरीब नहीं बल्कि सभी बेहद अमीर लोग
07 सितम्बर 2018
10 सितम्बर 2018
उत्तर प्रदेश सरकार ने जेल में बंद कैदियों के मनोरंजन के लिए जेल में टीवी लगवाने का दिया आदेश। इस योजना के लिए लगभग सवा तीन करोड़ रुपये की मंजूरी दी गई है। जिसमे इस योजना के पहले चरण में 64 जेलों के लिए 900 टीवी खरीदा जयेगा ।लखनऊ और गौतमबुद्ध नगर के जेलों में सबसे अधिक संख्या में 30-30 एलईडी टीवी लगाय
10 सितम्बर 2018
09 सितम्बर 2018
सुरों की मल्लिका, मशहूर गायिका आशा भोसले का कल जन्मदिन था , महाराष्ट्र के एक छोटे से गांव सांगली में 8 सितम्बर 1933 को जन्मी आशा भोसले को शायद कभी इस बात का अंदाजा भी नही रहा होगा कि वो इतनी बड़ी गायिका बनेगी और सारी दुनिया उनको सलाम करेगी । आशा नौ साल की थीं, जब परिवार पुणे से बंबई आ गया. उन्होंने
09 सितम्बर 2018
10 सितम्बर 2018
रिपोर्ट्स की माने तो स्वामी परिपूर्णानंद आंध्र प्रदेश के काकीनाडा स्थित श्रीपीठम मठ के महंत हैं, उनके भाषण भी गोरक्षनाथ पीठ के महंत और तत्कालीन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ही तरह तेज-तर्रार और काफी हद तक भड़काउ भी होते हैं, अपनी हिंदूवादी छवि की लोकप्रियता के चलते वो तेजी से अपनी पहचान कट्टर हिंद
10 सितम्बर 2018
07 सितम्बर 2018
भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण(यूआईडीएआई) पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए बाल आधार जारी कारता है, यह आधार कार्ड नीले रंग का होता है और बच्चे की उम्र पांच वर्ष पूरी हो जाने पर यह आधार कार्ड अमान्य हो जाता है । इसे निकटतम स्थायी नामांकन केंद्र जाकर इसी आधार संख्या से अपनी जनसंखियक़ी और बॉयोमेट्रि
07 सितम्बर 2018
08 सितम्बर 2018
गोरखपुर, भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश के उत्तर-पूर्वी हिस्से में राप्ती नदी के किनारे स्थित एक शहर है | गोरखपुर को पूर्वांचल की राजधानी कहा जाता है। यह नेपाल सीमा के पास स्थित है, राज्य की राजधानी लखनऊ के 273 किलोमीटर पूर्व में। 2011 की जनगणना के अनुसार गोरखपुर की कुल आबादी ६,७३,४४६ है |न्त गोरखनाथ जो
08 सितम्बर 2018
09 सितम्बर 2018
बॉलीवुड में हर साल सैकड़ो फिल्मे बनती है, और जिस तरह हीरो और हीरोइन फ़िल्म को रोमांचक बनाते है तो विलेन भी पीछे नही होते फ़िल्म को और भी मज़ेदार बना देते है जिससे कि दर्शक की सांसे थम जाती है और स्क्रीन से नजर ही नही हटती ।क्या आप जानते है फिल्मों के इन मशहूर खलनायकों की फीस कितनी होती है ?अक्षय कुमार :
09 सितम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x