भारत में फांसी का फंदा कहाँ होता है तैयार ?

09 सितम्बर 2018   |  प्रियंका   (411 बार पढ़ा जा चुका है)

भारत में फांसी का फंदा कहाँ होता है तैयार ?

कुछ बहुत गम्भीर अपराधों के लिए ही भारत में मौत की सज़ा दी जाती है। 1995 के बाद भारत में 5 ही ऐसी घटनाएं घटित हुई है जिसमें भारत के सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सज़ा सुनाई है।


दुनिया में हर अपराध के लिए कोई न कोई सज़ा मौजूद है। पर सबसे बड़ी जो सज़ा होती है वो होती है “सज़ा-ए-मौत” की सज़ा। तो आइये जानते हैं भारत में मौत की सज़ा से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में।


भारत में फांसी का फंदा बिहार की बक्सर जेल में तैयार होता है। क्योंकि वहां के कैदियों को फांसी का फंदा तैयार करने के लिये माहिर माना जाता है। भारत में जहां कहीं भी फांसी की सज़ा दी जाती है वहां पर फंदा बिहार से ही मंगवाया जाता है।भारत में मौत की सज़ा बहुत ही गम्भीर या फिर कह सकते हैं बहुत ही दुर्लभतम मामलों में ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनाई जाती है। और सज़ा सुनाने पर अदालत को ये लिखना पड़ता है कि आखिर मामले को दुर्लभतम क्यों माना गया है।जिस किसी कैदी को फाँसी की सज़ा सुनाई जाती है उसके लिए फाँसी का फंदा कहीं बाहर से नहीं मंगवाया जाता है बल्कि उसके लिए फाँसी का फंदा जेल में ही सज़ा काट रहा कोई कैदी ही तैयार करता है। और ऐसी व्यवस्था अंग्रेजों के समय से ही भारत में चली आ रही है।


Image result for फांसी का फंदा



सुप्रीम कोर्ट के अनुसार जिन कैदियों को “सज़ा-ए-मौत” दी जाती है उनके घर परिवार को 15 दिन पहले ही इस बात की खबर मिल जानी चाहिए जिससे वो आकर उनसे मिल सकें।भारत में फांसी देने के लिए पूरे देश में केवल दो ही जल्लाद हैं। और ये जल्लाद जिन राज्यों में रहते हैं उन राज्यों की सरकार द्वारा इन जल्लादों को 3000रु महीने का दिया जाता है। और किसी को फांसी देने पर इन्हें अलग से फीस मिलती है। और वहीं जब आतंकवादी संगठनों के सदस्यों को फांसी दी जाती है तो जल्लादों को मोटी रकम दी जाती है। जैसे कि इंदिरा गांधी के हत्यारों को फांसी देने पर जल्लाद को 25000 रुपए दिए गए थे।फांसी के फंदे की मोटाई को लेकर भी मापदण्ड तय किया गया है। और लम्बाई भी तय की गई है। फंदे की रस्सी को डेढ़ इंच से ज्यादा मोटी रखने का निर्देश है।


फांसी से पहले मुजरिम के चेहरे को काले सूती कपड़े से ढंक दिया जाता है और फिर 10 मिनट तक उसे फंदे पर लटका दिया जाता है। फिर डॉक्टर फंदे पे लटके हुए कैदी का चेकअप करके बताता है कि वो जीवित है या मृत।भारत में फांसी देने से पहले जल्लाद बोलता है कि, “मुझे माफ़ कर दो। हिंदू भाइयों को रामराम, मुस्लिम को सलाम, हम क्या कर सकते हैं हम तो हैं हुकुम के ग़ुलाम।“मुजरिम को फांसी देते वक्त कुछ ही लोग वहां पर मौजूद रहते हैं। इनमे से वहां पर जेल अधीक्षक, एग्जेक्यूटिव मजिस्ट्रेट, जल्लाद और डॉक्टर मौजूद होते हैं।


इन लोगों के बिना मुजरिम को फांसी नहीं दी जा सकती है।भारत में फांसी की सज़ा को सबसे बड़ी सज़ा माना गया है और इसको सुनाने के बाद जज पेन की निब को तोड़ देते हैं क्योंकि उस पेन से किसी का जीवन खत्म होता है इसलिए उसका प्रयोग दोबारा नहीं होना चाहिए। और दूसरा कारण ये भी है कि निब तोड़ दिए जाने के बाद खुद जज का भी ये अधिकार नहीं होता है कि जज अपना फैसला बदल सके या फिर पुनर्विचार की कोशिश कर सके।भारत में जिस दिन कैदी को फांसी दी जानी होती है उस दिन उसे 3 बजे सुबह जगा दिया जाता है और फिर उसे ठंडा गर्म दोनों तरह का पानी दिया जाता है ताकि कैदी का जिस पानी से नहाने का मन हो वो उससे नहा सके। कैदी को उसके धर्म से जुड़ी किताबें दी जाती हैं। जिससे वो अंतिम समय में प्रार्थना कर सके।भारत में फांसी हमेशा अंधेरे में ही दी जाती है क्योंकि सूर्योदय के बाद जेल के काम शुरू हो जाते हैं और फांसी की वजह से किसी कैदी पर बुरा प्रभाव ना पड़े इसी के चलते फांसी को जल्द से जल्द सूर्योदय से पहले ही निपटा दिया जाता है।

अगला लेख: लिज्जत पापड़ के सफलता की कहानी : 7 औरतों ने 80 रुपये उधार लेके की थी शुरुआत



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
07 सितम्बर 2018
आज भारत की बैडमिंटन स्टार ज्वाला गुट्टा का जन्मदिन है, आज ही के दिन 7 सितम्बर 1983 को महाराष्ट्र के वर्धा में इनका जन्म हुआ था । ज्वाला अपने खेल और कैरियर के साथ साथ अपनी निजी जिंदगी के फैसलों को भी लेकर खबरों में बराबर बनी रहती है ।ज्वाला ने 4 साल की छोटी उम्र से ही बैडमिंटन खेलना शुरू कर दिया था ।
07 सितम्बर 2018
07 सितम्बर 2018
आप सभी को पता होगा कि एससी और एसटी एक्ट के खिलाफ 6 सितंबर को स्वर्ण ने भारत बंद का ऐलान किया था. जिसके बाद से 7 सितंबर को ऐसे 5 बड़े बदलाव हुए हैं. जिसके बारे में आपको जानना बेहद जरूरी है. क्योंकि यह 5 बड़े बदलाव आपकी जिंदगी से जुड़े हुए हैं. ऐसे में अगर आप एक भारतीय नागरिक हैं. तो कृपया करके इस खबर
07 सितम्बर 2018
08 सितम्बर 2018
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार लखनऊ में निषाद सम्मेलन को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर तंज़ कसा | योगी ने अपने बयान में अखिलेश को मुग़ल शासक औरंगजेब के सामान बताया | निषाद सम्मलेन में योगी ने कहा कि “जो अपने पिता और चाचा का नहीं हुआ, आप सबको खु
08 सितम्बर 2018
07 सितम्बर 2018
भारत और इंग्लैंडके बीच पांचवांऔर सीरीज काआखिरी मैच लंदनके ओवल मैदानपर खेला जारहा है। पांचवे टेस्ट के लिए इंग्लैंड की टीम में कोई बदलाव नहीं किया गया है | जबकि भारतीय टीम में कुछ बदलाव कि
07 सितम्बर 2018
07 सितम्बर 2018
यूं तो बॉलीवुड में हर साल बहुत नई एक्ट्रेस आती हैं। कई हिट होती हैं कई फ्लॉप.. वहीं ऐसी एक्ट्रेस कम ही होती हैं जो बोल्डनेस और शानदार एक्टिंग के बल पर अलग जगह बना लेती हैं। ऐसी ही एक एक्ट्रेस राधिका आप्टे.. बेहद कम समय में बॉलीवुड पर राज करने वाली एक्ट्रेस राधिका आप्टे आज अपना 33वां जन्मदिन मना र
07 सितम्बर 2018
16 सितम्बर 2018
हिलसा (नालंदा): जिले में आरजेडी विधायक शक्ति सिंह यादव के पिता के श्राद्घ का कार्यक्रम था. इस कार्यक्रम में ‘फेविकॉल’ जैसे गाने पर ठुमके लग रहे थे. वीडियो में लोग मस्ती के साथ झूम और गा रहें हैं. जी हां! चौंकिए नहीं. ठुमका लगाने का ये वायरल वीडियो आरजेडी विधायक शक्ति यादव
16 सितम्बर 2018
09 सितम्बर 2018
अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड के खिलाफ डेब्यू कर रहे हनुमा विहारी ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए अपने पहले टेस्ट मैच में ही शानदार अर्धशतक जड़ दिया | इंग्लैंड के खिलाफ पांचवे टेस्ट में हनुमा ने 124 गेंदों में 56 रन की पारी खेली जिसमें 7 चौके और 1 छक्का शामिल है | इंग्लैंड के मुश्किल ह
09 सितम्बर 2018
07 सितम्बर 2018
भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण(यूआईडीएआई) पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए बाल आधार जारी कारता है, यह आधार कार्ड नीले रंग का होता है और बच्चे की उम्र पांच वर्ष पूरी हो जाने पर यह आधार कार्ड अमान्य हो जाता है । इसे निकटतम स्थायी नामांकन केंद्र जाकर इसी आधार संख्या से अपनी जनसंखियक़ी और बॉयोमेट्रि
07 सितम्बर 2018
17 सितम्बर 2018
बिहार से पास इंजीनियर डॉक्टरों के लिए खुशखबरी है। बताया जा रहा है कि बिहार सरकार इन युवकों को बिना EXAM लिए नौकरी देगी। अंकों के आधार पर चयन कर युवकों को बहाल किया जाएगा।ताजा अपडेट के अनुसारउप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार के मेडिकल व इंजीनियरिंग कॉलेजों से
17 सितम्बर 2018
07 सितम्बर 2018
बिहार का मिथिला क्षेत्र अपनी संस्कृति, परंपरा, सामाजिक आचार-विचार और प्राचीन धरोहरों के लिए जाना जाता है. वहीं, साहित्यिक रूप से भी मिथिला का इतिहास समृद्ध रहा है. साहित्य और संस्कृति हमारी वैभवशाली परंपरा को प्रकट करने के माध्यम हैं. इसी परंपरा को मिथिला क्षेत्र में फिर
07 सितम्बर 2018
08 सितम्बर 2018
जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि पाकिस्तान में इमरान के प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्हें नई दिल्ली और इस्लामाबाद में संबंध बेहतर होने की उम्मीद है | उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूर्व प्रधान
08 सितम्बर 2018
08 सितम्बर 2018
15 मार्च 1959 को साउथ मुंबई की 7 औरते ने मिलकर एक ऐसा बिसनेस शुरू किया, जिसके बारे में किसीने सोचा भी नहीं था। इन औरतो ने पापड़ बनाने का काम शुरू किया ताकि को खुद भी कुछ पैसे कमा सके, पहले दिन पापड़ बेचकर जिन्होंने सिर्फ 50 पैसे की कमाई की थी आज वो उसी पापड़ की कंपनी की कमाई 1600 करोड हैं। 7 औरतों न
08 सितम्बर 2018
06 सितम्बर 2018
देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 को हटाते हुए समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से हटा दिया है, नए कानून के अनुसार अगर दो वयस्क (एडल्ट) लोग आपसी सहमति से समलैंगिक संबंध बनाते है तो वह अपराध की श्रेणी में नही आयगा।सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस रोहिंटन नरीमन, एएम खानविलकर
06 सितम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x