गणेश चतुर्थी

13 सितम्बर 2018   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (41 बार पढ़ा जा चुका है)

गणेश चतुर्थी  - शब्द (shabd.in)

आज भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी तिथि है – विघ्न विनाशक गणपति की उपासना का पर्व | सभी को गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएँ..

लगभग समूचे देश में विघ्नहर्ता सुखकर्ता भगवान् गणेश की उपासना का पर्व गणेश चतुर्थी अथवा गणपति चतुर्थी बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है | मान्यता है कि इसी दिन भगवान् भगवान् शंकर ने अपने पुत्र गणेश के शरीर पर हाथी का सिर लगाया था और माता पार्वती अपने पुत्र को इसी रूप में पाकर अत्यन्त प्रसन्न हो गई थीं | इस दिन स्थान स्थान पर गणपति की प्रतिमाओं की स्थापना करके नौ दिनों तक उनकी पूजा अर्चना की जाती है और दसवें दिन पूर्ण श्रद्धा भक्ति भाव से उन प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाता है |

भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी पत्थर चतुर्थी अथवा पत्थर चौथ के नाम से भी जानी जाती है | इसीलिए गणपति की पूजा अर्चना के समय भी इस दिन चन्द्र दर्शन से बचने की सलाह दी जाती है | माना जाता है कि इस दिन यदि चन्द्रमा का दर्शन कर लिया तो उस व्यक्ति को झूठे कलंक का सामना करना पड़ता है | इसीलिए इसे कलंक चतुर्थी भी कहा जाता है | ऐसा भी माना जाता है कि भगवान् गणेश ने चन्द्रमा को श्राप दिया था कि भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को जो व्यक्ति चन्द्रमा के दर्शन करेगा उसे झूठे कलंक का सामना करना पड़ेगा | और ऐसा भी माना जाता है कि एक बार भगवान् शंकर ने और एक बार भगवान् श्री कृष्ण ने भी भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को भूल से चन्द्रमा के दर्शन कर लिए थे तो उन्हें भी मिथ्या कलंक का सामना करना पड़ा था |

इन समस्त कथाओं का यद्यपि कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है, किन्तु हमें यह नहीं भूलना चाहिये कि आस्था विज्ञान पर भारी होती है और आस्थापूर्वक की गई उपासना से वास्तव में मनुष्य में इतनी सामर्थ्य आ जाती है कि अपने लक्ष्य की प्राप्ति की दिशा में वह मूर्ण मनोयोग से तत्पर हो जाता है | यही कारण है कि समस्त ज्योतिषी Astrologer भी जब किसी समस्या के निदान के लिए कोई उपाय बताते हैं तो आस्थापूर्वक मन्त्रजाप की सलाह अवश्य देते हैं | अस्तु! ऋद्धि सिद्धि दाता गणपति के प्रति आस्थापूर्वक नमन करते हुए प्रस्तुत हैं गणपतेरेकविंशतिनामस्तोत्रम् और मंगलम्

गणपतेरेकविंशतिनामस्तोत्रम्

ॐ सुमुखाय नमः ॐ गणाधीशाय नमः ॐ उमा पुत्राय नमः

ॐ गजमुखाय नमः ॐ लम्बोदराय नमः ॐ हर सूनवे नमः

ॐ शूर्पकर्णाय नमः ॐ वक्रतुण्डाय नमः ॐ गुहाग्रजाय नमः

ॐ एकदन्ताय नमः ॐ हेरम्बराय नमः ॐ चतुर्होत्रै नमः

ॐ सर्वेश्वराय नमः ॐ विकटाय नमः ॐ हेमतुण्डाय नमः

ॐ विनायकाय नमः ॐ कपिलाय नमः ॐ वटवे नमः

ॐ भाल चन्द्राय नमः ॐ सुराग्रजाय नमः ॐ सिद्धि विनायकाय नमः

मंगलम्

स जयति सिन्धुरवदनो देवो यत्पादपंकजस्मरणम् |

वासरमणिरिव तमसां राशीन्नाशयति विघ्नानाम् ||

सुमुखश्‍चैकदन्तश्‍च कपिलो गजकर्णकः |

लम्बोदरश्‍च विकटो विघ्ननाशी: विनायकः ||

धूम्रकेतुर्गणाध्यक्षो भालचन्द्रो गजाननः |

द्वादशैतानि नामानि यः पठेच्छृणुयादपि ||

विद्यारम्भे विवाहे च प्रवेशे निर्गमे तथा |

संग्रामे संकटे चैव विघ्नस्तस्य न जायते ||

शुक्लाम्बरधरं देवं शशिवर्णं चतुर्भुजम् |

प्रसन्नवदनं ध्यायेत्सर्वविघ्नोपशान्तये ||

व्यासं वसिष्‍ठनप्तारं शक्तेः पौत्रमकल्मषम् |

पराशरात्मजं वन्दे शुकतातं तपोनिधिम् ||

व्यासाय विष्‍णुरूपाय व्यासरूपाय विष्‍णवे |

नमो वै ब्रह्मनिधये वासिष्‍ठाय नमो नमः ||

अचतुर्वदनो ब्रह्मा द्विबाहुरपरो हरिः |

अभाललोचनः शम्भुर्भगवान् बादरायणः ||

सभी का जीवन मंगलमय रहे और सभी आस्थापूर्वक लक्ष्यप्राप्ति की दिशा में अग्रसर रहें, इसी कामना के साथ सभी को गणेश चतुर्थी की एक बार पुनः हार्दिक शुभकामनाएँ...

https://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2018/09/13/ganesha-chaturthi/

अगला लेख: हिन्दी पञ्चांग



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 सितम्बर 2018
कल भाद्रपद कृष्णअष्टमी को बालव करण और हर्षण योग में लगभग 21:07 पर बुध का प्रवेश सिंह राशि औरमघा नक्षत्र में सूर्य के साथ होने जा रहा है | यहाँसे 19 सितम्बर को प्रातः 04:15 के लगभग अपनी राशि कन्या में प्रविष्ट हो जाएगा | पाँच सितम्बर से बुध अस्त भी हो जाएगा | आइये जानने का प्रयास करते हैं बुध के सिंह
01 सितम्बर 2018
19 सितम्बर 2018
https://ptvktiwari.blogspot.com/2018/09/23-2018.html<!--[if !supportLineBreakNewLine]--><!--[endif]--> Home»»Unlabelled» 23 सितंबर 2018 गणेश विसर्जन मुहूर्त आवश्यक मन्त्र एवं विधि 23 सितंबर गणेश विसर्जन मुहूर्त आवश्यक मन्त्र एवं विधिकिसी भी कार्य को पूर्णता प्रदान करनेके ल
19 सितम्बर 2018
29 अगस्त 2018
गुरुवार, 30 अगस्त2018 – नई दिल्लीविरोधकृतविक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 05:58 पर सूर्यास्त : 18:45 पर चन्द्र राशि : मीन 20:00 तक, तत्पश्चात मेष चन्द्र नक्षत्र : रेवती 20:00 तक / पंचक समाप्ति, तत्पश्चात अश्विनी
29 अगस्त 2018
13 सितम्बर 2018
गणेश चतुर्थी का उत्सव 12 सितंबर से शुरू हो रहा है। घर-घर गणपति बप्पा मेहमान बनकर अगले 10 दिनों तक विराजमान होंगे। उत्सव को लेकर जगह-जगह तैयारियां शुरू हो गई हैं। घरों, मंदिरों समेत सार्वजनिक स्थलों पर गणेश भगवान की मूर्तियों को विधि-विधान क
13 सितम्बर 2018
10 सितम्बर 2018
गणेश चतुर्थी या "विनायकचतुर्थी" हिंदू समुदाय द्वारामनाए जाने वालेप्रमुख पारंपरिक त्यौहारों मेंसे एक है।हिंदू कैलेंडर केभद्रपद महीने के शुक्लपक्ष की चतुर्थीको गणेश चतुर्थीके
10 सितम्बर 2018
20 सितम्बर 2018
गणपति बप्पा मोरया डॉ शोभा भारद्वाज श्रीगणेश की पौराणिक जन्म कथा के अनुसार पार्वती जी स्नान करने जा रहीं थीं उन्होंने अपने बदन से उतरे उबटन से गणेश जी कीमूर्ति बनाई उनकी प्राण प्रतिष्ठा कर उन्हें आदेश दिया जब तक वह स्नान कर रहीं है किसीको अंदर आने न दिया जाये| समय से पूर्व शिव जी
20 सितम्बर 2018
31 अगस्त 2018
कल शनिवार एक सितम्बर को 23:27 केलगभग समस्त सांसारिक सुख, समृद्धि, विवाह, परिवार सुख, कला, शिल्प, सौन्दर्य, बौद्धिकता, राजनीतितथा समाज में मान प्रतिष्ठा में वृद्धि आदि का कारकशुक्र मित्र ग्रह बुध की कन्या राशि से निकल कर अपनी स्वयं की राशि तुला में प्रविष्टहो जाएगा | शुक्र के
31 अगस्त 2018
30 अगस्त 2018
शुक्रवार, 31 अगस्त2018 – नई दिल्लीविरोधकृतविक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 05:58 पर सूर्यास्त : 18:44 पर चन्द्र राशि : मेष चन्द्र नक्षत्र : अश्विनी 20:46 तक, तत्पश्चात भरणी तिथि :
30 अगस्त 2018
09 सितम्बर 2018
<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:RelyOnVML/> <o:AllowPNG/> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSc
09 सितम्बर 2018
02 सितम्बर 2018
3 से 9 सितम्बर तक का साप्ताहिक राशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहो
02 सितम्बर 2018
10 सितम्बर 2018
गणेश चतुर्थी या "विनायकचतुर्थी" हिंदू समुदाय द्वारामनाए जाने वालेप्रमुख पारंपरिक त्यौहारों मेंसे एक है।हिंदू कैलेंडर केभद्रपद महीने के शुक्लपक्ष की चतुर्थीको गणेश चतुर्थीके
10 सितम्बर 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x