अमृतसर हादसे के बाद महिलाओं के शवों के साथ क्या किया गया जानकर शर्मिंदा हो जाएंगे

24 अक्तूबर 2018   |  अखिलेश ठाकुर   (179 बार पढ़ा जा चुका है)

अमृतसर हादसे के बाद महिलाओं के शवों के साथ क्या किया गया जानकर शर्मिंदा हो जाएंगे

अमृतसर हादसे के बाद महिलाओं के शवों के साथ क्या किया गया जानकर शर्मिंदा हो जाएंगे

Third party image reference

दशहरा की रात अमृतसर में हुए भीषण हादसे ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया। जी हां रावण दहन देख रहे लोगों पर तेज रफ्तार ट्रेन चढ़ गई और अमृतसर के साथ साथ पूरे भारत में चीख पुकार मच गई। इस हादसे में 61 से ज्यादा लोगों की जान गई जबकि 100 से ज्यादा लोग घायल हैं।

इस हादसे के तुरंत बाद ऐसा कुछ हुआ जिसे सुनकर आप शर्मिंदा हो जाएंगे जी हां घटना स्थल पर मौजूद कुछ लोगों ने महिलाओं के शवों से गहने और उनकी अंगूठियां लूटी। पैसे के इन भूखे लोगों को इतनी भी शर्म नहीं आई कि महिलाओं के शवों के साथ भी इन्होंने लूटपाट की। घायल हुए कई लोगों ने इस बात की पुष्टि की है कि घटना के तुरंत बाद लोगों ने मदद से पहले लूटपाट शुरू कर दी।

कई लोगों ने महिलाओं के शवों को लूटा तो कई लोगों ने पुरुषों के मोबाइल और पर्स लूटे। घायलों का कहना है कि उन लोगों को देखकर ऐसा लग रहा था कि मानो वो लोग इंतजार में हों कि कब घटना घटे और कब वो लूटपाट करें।

https://www.ucnews.in/news/%E0%A4%85%E0%A4%AE%E0%A5%83%E0%A4%A4%E0%A4%B8%E0%A4%B0-%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%A6%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%A6-%E0%A4%AE%E0%A4%B9%E0%A4%BF%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%93%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%B6%E0%A4%B5%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%A5-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%BE-%E0%A4%95%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE-%E0%A4%97%E0%A4%AF%E0%A4%BE-%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%95%E0%A4%B0-%E0%A4%B6%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%AE%E0%A4%BF%E0%A4%82%E0%A4%A6%E0%A4%BE-%E0%A4%B9%E0%A5%8B-%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%8F%E0%A4%82%E0%A4%97%E0%A5%87/582499454277936.html

अगला लेख: अमृतसर रेल हादसा: शव घर लाने के लिए मांग रहे थे 40 हजार, पत्नी को व्हाट्सएप पर फोटो दिखा कर किया दाह-संस्कार



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
19 अक्तूबर 2018
संविधान दिवस(Constitution day ) हर साल 26 नवंबर को भारत मनाया जाता है।26 नवंबर 1949 को पूरे दो साल,11 महीने ,18 दिन में भारतीय संविधान (Cons
19 अक्तूबर 2018
26 अक्तूबर 2018
In Delhi’s Malviya Nagar 8 year old madrasa student murdered or lynchedमालवीय नगर में 8 साल के मदरसे के बच्चे की दुर्भाग्यपूर्ण हत्या को मज़हबी रंग देने की कोशिश हो रही है। आपको बता दें कि हत्यारोपी एक जुवेनाइल यानी कि किशोर है। और दुर्भाग्य से मरने वाला मुस्लिम और आरोपी हिन्दू है। पुलिस ने 302 का मु
26 अक्तूबर 2018
19 अक्तूबर 2018
19 अक्टूबर को पूरे विश्व में दशहरा (Dussehra) मनाया जाएगा. इस दिन हर गली-नुक्कड़ और बड़े-बड़े मैदानों में रावण (Ravana) का पुतला जलाया जाएगा. बुराई पर अच्छाई की जीत का ये जश्न धूमधाम से मनाया जाएगा. मैदानों में मेले लगेंगे और मेले में राम और रावण से जुड़े खेल-खिलौने दिखेंगे. एक तरफ परिवार मिलकर चाट
19 अक्तूबर 2018
20 अक्तूबर 2018
25000 साल पुराना है भारतीय करेंसी का इतिहास. तब से लेकर आज तक इसने अच्छे-बुरे सारे दौर देखे हैं. फ़िलहाल ये अपने बुरे दौर से गुज़र रही है. बेतहाशा मंहगाई, अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में हो रहे बदलाव और फ़ॉरन रिज़र्व के कम होने चलते आज 1 डॉलर की क़ीमत 74 रुपये के बराबर हो चुकी ह
20 अक्तूबर 2018
19 अक्तूबर 2018
सलमान ख़ान ने अपना खूबसूरत प्यार हमेशा हमेशा के लिए खो दिया है! और इसकी खबर उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपने फैन्स के साथ शेयर की। बता दें कि सलमान एक घर सालों से रह रहीं उनकी फीमेल डॉग का देहांत हो गया है, जिसका नाम My Love था।सलमान ने इमोशनल होकर ट्वीटर पर माय लव
19 अक्तूबर 2018
22 अक्तूबर 2018
अब न तो लाठियों का दौर है और न ही लठैतों का जोर है, फिर भी सुलतानुपर के ऐतिहासिक पांडेय बाबा मेले में कई करोड़ रुपयों की लाठियों का कारोबार होता है। प्रदेश के कई जिलों से पांडेय बाबा मेले में आये लोग बड़े पैमाने पर यहां से लाठियों की खरीदारी करते हैं। उल्लेखनीय है कि फैजाब
22 अक्तूबर 2018
25 अक्तूबर 2018
आप कभी थाने गए हैं..? अरे-अरे गलत मत समझिए... हम तो बस इतना पूछ रहे हैं कि कभी कोई ऐसी जरूरत आन पड़ी हो कि आपको थाने जाना पड़ा हो कोई शिकायत लिखाने..? दरअसल, आज हम आपके सामने एक थाने की ऐसी वीडियो दिखाने वाले हैं जिसे देखने के बाद आप भी कहेंगे कि थाने में ये क्या हो रहा है। जी हां, बिहार के कैमूर का
25 अक्तूबर 2018
25 अक्तूबर 2018
डांस का कीड़ा जिसको काट लेता है उसके लिए यह सांस और धड़कन की तरह जरूरी हो जाता है। फिर चाहे नाचना आए या न आए। म्यूजिक सुनते ही पैर थिरकने लगते हैं और हाथ हवा से बाते करने लगते हैं। सबसे मजेदार बात कि डांस की उछल कूद में शर्म और हया भी कूद कर कही भाग जाती है। नाचने वाले फर
25 अक्तूबर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x