सार्थकता

31 अक्तूबर 2018   |  गौरी कान्त शुक्ल   (37 बार पढ़ा जा चुका है)

आपकी उपस्थिति से क्यों व्यक्ति स्वयं के दुःख भूल जाये यही आपकी उपस्थिति के सार्थकता है/

अगला लेख: शब्द



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
05 नवम्बर 2018
27 अक्तूबर 2018
17 अक्तूबर 2018
16 अक्तूबर 2018
स्
22 अक्तूबर 2018
17 अक्तूबर 2018
प्
30 अक्तूबर 2018
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x