दिवाली पर हर बार नई मूर्तियां लानी चाहिए या नहीं, जानिए यहाँ

03 नवम्बर 2018   |  रेखा यादव   (219 बार पढ़ा जा चुका है)

दिवाली पर हर बार नई मूर्तियां लानी चाहिए या नहीं, जानिए यहाँ

आप सभी को बता दें कि दिवाली का इंतज़ार सभी को है और सभी दिवाली मनाने के लिए तैयारी में जुटे हुए हैं. ऐसे में इन दिनों कई लोगों के मन में यह सवाल आ रहा है कि ‘क्या हर दीपावली नई लक्ष्मी-गणेश मूर्तियां खरीदना चाहिए..?’ ऐसे में अगर आपके पास भी इसका जवाब नहीं है तो आइए हम बताते हैं.

शास्त्र में लिखा है प्रतिमा स्थापना का विधान – कहा जाता है दिवाली पर ज्यादातर लोग घरों में मूर्तियां स्थापित करते हैं और देश में कुछ मंदिर भी हैं जहां प्रतिमा बदल दी जाती हैं लेकिन मान्यता के अनुसार पुराने समय में सिर्फ धातु और मिट्टी की मूर्तियों का ही चलन था और धातु की मूर्ति से ज्यादा मिट्टी की मूर्ति की पूजा होती थी जो हर साल खंडित और बदरंग हो जाती है और यही वजह थी कि हर साल नई प्रतिमा स्थापित कर दी जाती है.

मूर्तियां स्थापित करना चाहिए या नहीं – कहा जाता है कि नई मूर्ति एक आध्यात्मिक विचार का भी संचार करती है जैसा कि गीता में श्रीकृष्ण ने कहा है. इसी कारण नई मूर्ति लाने से घऱ में नई ऊर्जा का संचार होता है और इस वजह से मूर्तियों की स्थापना की जाती है.

क्या सभी प्रकार की मूर्तियां बदलनी चाहिए – आप सभी को ध्यान रखना है कि सिर्फ मिट्टी की मूर्तियां बदलने की परंपराएं हैं जबकि सोने या चांदी की मूर्तियां जो सालभर तिजोरी में रखी रहतीं हैं, उन्हे कभी नहीं बदला जाता. कहा जाता है उन्हे केवल दिवाली के दिन पूजा स्थल पर लाकर पूजा करनी स चाहिए और शेष समय उन्हें तिजोरी में रखना चाहिए.

लक्ष्मी-गणेश की मूर्तियां एक साथ जुड़ी होनी चाहिए या अलग-अलग – इस बात का ध्यान रखना कि लक्ष्मी गणेश कभी भी एक साथ जुड़े हुए नहीं होने चाहिए उन्हें जब भी खरीदें अलग अलग खरीदें.

https://www.ekbiharisabparbhari.com/2018/11/02/diwaaaali-statue/?fbclid=IwAR260iD1fGC2s9hr_TGW9sLiI71v7Pvv5pCQ-xBGmvV2PYqWxf1ksdnaZXA

अगला लेख: पिछले 26 सालों से केवल पत्ते खा रहा है यह पाकिस्तानी व्यक्ति वजह जानकार हो जाओगे हैरान



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
03 नवम्बर 2018
दिवाली में हर घर की महिलाएं खुबशुरत Rangoli Design बनाकर अपने घर-आँगन को सजाती है. ऐसे में हम आज लेकर आये है 30+ Latest Rangoli Designs जो आपके रंगोली को आपके पड़ोसियों से कई ज्यादा बेहतर और सुन्दर बनाने में आपकी मदद करेगा...image source
03 नवम्बर 2018
09 नवम्बर 2018
आइए एक कहानी सुनाई जाए. वो नहीं जो दादा-दादी रात को सोते वक़्त बच्चों को सुनाते हैं. सच्ची कहानी. इसी समाज की कहानी. ऐसी कहानी जिसने नोटबंदी के दौरान चौंका दिया था कि कोई गांव ऐसा भी है जहां रह रही एक बुज़ुर्ग महिला को इस बात का ही पता नहीं चला कि पुराने 1000 और 500 के नोट
09 नवम्बर 2018
03 नवम्बर 2018
धर्म आज के समय सबसे सवेंदनशील मुद्दा है।धर्म के लिए लोग किसी हद तक जाने को तैयार रहते हैं।आज हम आपको ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने हाल ही में धर्म परिवर्तन किया है वो भी पुरे परिवार के साथ और भगवान श्री राम को लेकर एक बड़ी बात भी कही है।उसकी बातों में कितनी सचाई ये तो वो स्वयं ही बता स
03 नवम्बर 2018
22 अक्तूबर 2018
*भारतीय सनातन संस्कृति एवं हिंदू धर्म का आधार हमारे चारों वेद रहे हैं | हमारे इन वेदों में विश्व के समस्त ज्ञान , समस्त कलायें एवं जीवन जीने का दिशा - निर्देशन समस्त मानव जाति को प्राप्त होता रहा है | जब संसार में कोई धर्म नहीं था तब मानवमात्र के कल्याण के लिए वेदों का प्राकट्य हुआ | इन्हीं वेदों की
22 अक्तूबर 2018
09 नवम्बर 2018
बिहार में सिपाही के 9900 पदों पर इस साल हुई बहाली में फर्जीवाड़े का नया और बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। सिपाही के पद पर चयनित हो चुके दो सौ से ज्यादा अभ्यर्थियों की चालाकी चयन पर्षद ने ज्वाइनिंग से ठीक पहले पकड़ ली। अगर थोड़ी भी चूक होती तो ये सिपाही बन गए होते, लेक
09 नवम्बर 2018
25 अक्तूबर 2018
*सनातनकाल से ही कालगणना के आधार पर एक वर्ष को बारह महीनों में विभक्त किया गया है | इन बारह महीनों में सभी अपने स्थान पर श्रेष्ठ हैं परंतु "कार्तिक मास" को सर्वश्रेष्ठ कहा गया है | कार्तिक मास भगवान विष्णु को इतना प्रिय है कि इसका नामकरण ही "दामोदर - मास" हो गया | कार्तिकमास के महत्व को दर्शाते हुए भ
25 अक्तूबर 2018
11 नवम्बर 2018
हम सब स्थायी खाता संख्या (पैन) कार्ड से परिचित हैं। आप एक भारतीय है या एक अप्रवासी भारतीय, आपको पैन कार्ड की जरूरत बेशक पड़ती है। आप कोई काम या नौकरी कर रहे हैं या नहीं, आप पैन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके आवेदन हेतु आयु, क्षेत्र या राष्ट्रीयता पर कोई प्रतिबंध नहीं
11 नवम्बर 2018
03 नवम्बर 2018
बिहार में क्यों मनाया जाता है छठ पूजा का पर्व, क्या है इसका इतिहास- भारत के प्रमुख भौगोलिक और सांस्कृतिक त्योहारों (लोक त्योहारों) में से एक है छठ पूजा। इसकी मान्यता वैदिक काल से ही है, इसीलिए यह प्राचीन परंपराओं का धनी पर्व है। अगर आप भी इस त्यौहार के बारे में जानना चाहत
03 नवम्बर 2018
04 नवम्बर 2018
Third party image referenceपाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक आदमी पिछले 26 सालों से ताजा पत्तियों और टहनियों को खाकर जीवित रहा है और कभी बीमार भी नहीं हुआ है।पंजाब प्रांत के गुजराँवाला जिले के रहने वाले 51 वर्षीय मेहमूद बट ने 25 साल की उम्र में पत्तियों को खाना शुरू कर दिया था क्योंकि उसके पास कोई का
04 नवम्बर 2018
20 अक्तूबर 2018
जिनका विश्वास ईश्वर में है वो मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, चर्च में विश्वास नहीं रखते, जो मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा और चर्च में विश्वास रखते है वो ईश्वर में नहीं राजनीती में विश्वास रखते है. ईश्वर के नाम पर दंगे नहीं होते, दंगे धर्म
20 अक्तूबर 2018
30 अक्तूबर 2018
फ्लिपकार्ट इस फेस्टिव सीजन को अपने ग्राहकों के लिए खास बनाने की कोशिश में लगातार लगी हुई है, जिसके तहत उसने फिर से एक नई सेल की घोषणा कर दी है। इसबार फ्लिपकार्ट ने 'बिग दीवाली सेल' की घोषणा की है जोकि 1 नवंबर से शुरु होगी और 5 नवंबर तक चलेगी। हर बार के जैसे इस सेल में भी कंपनी सभी प्रोडक्ट्स की रेंज
30 अक्तूबर 2018
19 अक्तूबर 2018
नवरात्रि के पर्व का समापन का समय धीरे-धीरे पास आ रहा हैं, माँ दुर्गा के विसर्जन का दिन 19 अक्टूबर को हैं| ऐसे में जब नवरात्रि के शुरुआत होती हैं तो उस समय माँ दुर्गा की चौकी और कलश की स्थापना की जाती हैं| ऐसे में जब माँ दुर्गा का विसर्जन करना होता हैं तो उनके साथ कलश, नार
19 अक्तूबर 2018
23 अक्तूबर 2018
*सनातन काल से ही संस्कृति का विस्तार करने के उद्देश्य से हमारे ऋषियों / महर्षियों / विद्वानों एवं राजा - महाराजाओं तक ने विशेष योगदान दिया | सनातन संस्कृति का विस्तार कैसे हो ?? इसकी मान्यतायें एवं विचार जन जन तक कैसे पहुँचें ?? इस पर गहनता से विचार करके हमारे महापुरुषों ने समाज में घूम घूमकर सतसंग
23 अक्तूबर 2018
22 अक्तूबर 2018
*सिद्धगन्धर्वयक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि |* *सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी ||* *महामाया जगदम्बा के विभिन्न स्वरूपों में मुख्यत: नौ स्वरूपों की आराधना नवरात्रि के पावन अवसर पर भक्तों के द्वारा की जाती है | इस नौ स्वरूपों में महानवमी के दिन नवम् शक्ति "सिद्धिदात्री" क
22 अक्तूबर 2018
22 अक्तूबर 2018
*श्वेते वृषे समारुढा श्वेताम्बरधरा शुचिः |* *महागौरी शुभं दद्यान्महादेवप्रमोददा ||* *पावन नवरात्र के आठवें दिन भगवती आदिशक्ति की पूजा "महागौरी के रूप की जाती है | मां महागौरी का रंग अत्यंत गौरा है इसलिए इन्हें महागौरी के नाम से जाना जाता है। मान्यता के अनुसार अपनी कठिन तपस्या से मां ने गौर वर्ण प्र
22 अक्तूबर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x