जीत हमारी निश्चित है।

11 नवम्बर 2018   |  विकास बौंठियाल   (43 बार पढ़ा जा चुका है)

जीत हमारी निश्चित है।

बलिदानों की किमत पर,
जीत हमारी निश्चित है।

किस सोच मे बैठा है तू,
राष्ट्र हो गया खंडित है।

बहन-बेटियों की लाज रही,
किताबों तक ही सीमित है।

लड़कर ही बच सकता है,
बन रहा क्युँ कश्मीरी पंडित है ?

भाई-चारा तेरे काम न आया,
कुरान मे लिखा तू काफिर है।

राजनीती का छोड दे दामन,
धर्मनिरपेक्षता अब वर्जित है।

रासलीला से ह्रदय लगाकर,
क्यों गीता ज्ञान उपेक्षित है ?

पार्थ ऊठ खडा हो अब,
योगेश्वर श्री कृष्ण प्रतिक्षित है।

आवाज ऊठा ले लोकतंत्र में,

अब कायरता तो घृणित है।

अहिंसापरमोधर्म: धर्महिंसातथैव:च,
यही गीता मे भी वर्णित है।

बलिदानों की किमत पर अब,
जीत हमारी निश्चित है।

विकास बौठियाल

!! सत्य सनातन की जय हो !!
!! विधर्मीयों नाश हो !!
!! भगवान श्री कृष्ण की जय !!
!! हर हर महादेव !!

अगला लेख: भगवा प्रधानमंत्री का फैसला



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 नवम्बर 2018
पत्थरबाजों पर कार्यवाही के नाम पर लीपापोती। कश्मीर के कथित भटके हुए नौजवानों की जमात मे महिलाएँ भी शामिल हो चुकी है। महिला पत्थरबाजों से निपटने के लिए सेना के दस्ते मे महिला-ब्रिगेड को शामिल किया गया है तथा सेना के वरिष्ठ अधिकारियों नुसार ये महिला सैनिक इन महिल
11 नवम्बर 2018
11 नवम्बर 2018
C
!! Use your common sense to know the truth!!हमे पढाया गया...👇👇“रघुपति राघव राजाराम,ईश्वर अल्लाह तेरो नाम”लेकिन असल मे ऋषियों ने लिखा था की....👇👇 “रघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम”लोगों को समझना चाहिए कि,जब ये बोल लिखा गया था,तब ईस्लाम का अस्तित्व ही नहीं था,“
11 नवम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x