Common Sense

11 नवम्बर 2018   |  विकास बौंठियाल   (33 बार पढ़ा जा चुका है)

!! Use your common sense to know the truth!!



हमे पढाया गया...👇👇


“रघुपति राघव राजाराम,

ईश्वर अल्लाह तेरो नाम”


लेकिन असल मे ऋषियों ने लिखा था की....👇👇


“रघुपति राघव राजाराम

पतित पावन सीताराम”


लोगों को समझना चाहिए कि,

जब ये बोल लिखा गया था,

तब ईस्लाम का अस्तित्व ही नहीं था,


“तो ईश्वर अल्लाह तेरो नाम कैसे....?”

How come....?🤷‍♂️



विकास बौठियाल


अगला लेख: भगवा प्रधानमंत्री का फैसला



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
29 अक्तूबर 2018
M
येमी टू ले आया रज़ामंदी दोगलापन बीमार ज़ेहन मंज़र-ए-आम पे !वो मर्द मासूम कैसे होगा छीनता हक़ कुचलता रूह दफ़्नकर ज़मीर !क्यों इश्क़ रोमांस बदनाम मी टू सैलाब लाया है लगाम ज़बरदस्ती को "न"न मानो सामान औरत को रूह से रूह करो महसूस है ज़ाती दिलचस्पी। है चढ़ी सभ्यता दो सीढ़ियाँ दिल ह
29 अक्तूबर 2018
11 नवम्बर 2018
जी
जीत हमारी निश्चित है।बलिदानों की किमत पर,जीत हमारी निश्चित है।किस सोच मे बैठा है तू,राष्ट्र हो गया खंडित है।बहन-बेटियों की लाज रही,किताबों तक ही सीमित है।लड़कर ही बच सकता है,बन रहा क्युँ कश्मीरी पंडित है ?भाई-चारा तेरे काम न आया,कुरान
11 नवम्बर 2018
18 नवम्बर 2018
ये घटना सन् २०१३ की है, मैं तब मुँबई के Posh Area लोखंडवाला के पास
18 नवम्बर 2018
11 नवम्बर 2018
मा
सुषमा स्जीवराज जी नमस्कार !! विषय :- #अबकी बारी नोटा भारी !! मैं एक मध्यम वर्गीय सामान्य नागरीक हुँ। कुछ दिनों से पासपोर्ट विवाद चल रहा है और आपने भी एक दिन से भी कम समय में पासपोर्ट विवाद सुलझा लिया। मैं इस पर कोई व
11 नवम्बर 2018
19 नवम्बर 2018
ऐतराज़...एक दौर है ये जहाँ तन्हां रात में वक़्त कट्टा नही... वो भी एक दौर था जहाँ वक़्त की सुईयों को पकड़ू तो वक़्त ठहरता नही... एक दौर है ये जहाँ नजर अंदाज शौक से कर दिए जाते है... वो भी एक दौर था... जहाँ चुपके चुपके आँखों मैं मीचे जाते थे
19 नवम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x