इसरो ने सफलतापूर्वक लॉन्च किया GSAT-29

14 नवम्बर 2018   |  समीर मिश्र   (64 बार पढ़ा जा चुका है)

इसरो ने सफलतापूर्वक लॉन्च किया GSAT-29

श्रीहरिकोटा

इंडियन

स्पेस रिसर्च

ऑर्गनाइजेशन (इसरो) ने बुधवार को

जीएसएलवी

माक-3 रॉकेट की मदद से जीसैट-29 सैटलाइट सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया। यह प्रक्षेपण श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से किया गया। यह सैटलाइट भू स्थिर कक्षा में स्थापित किया जाएगा। बता दें कि इस साल यह

इसरो

का पांचवां लॉन्च है।

आपको यह भी बता दें कि इस रॉकेट में दुनिया के दूसरे सबसे बड़े बूस्टर S200 का इस्तेमाल किया गया। 3423 किलोग्राम वजन का यह सैटलाइट भारत की जमीन से लॉन्च किया गया अब तक का सबसे भारी सैटलाइट है। यह एक हाईथ्रोपुट कम्युनिकेशन सैटलाइट है। इसमें लगे ऑपरेशनल पेलोड्स डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत जम्मू और कश्मीर के साथ उत्तर-पूर्वी राज्यों को बेहतर सेवा मुहैया कराएंगे। इससे इन क्षेत्रों में हाईस्पीड इंटरनेट में काफी मदद मिलेगी।

नई स्पेस तकनीक में मिलेगी मदद
जीसैट-29 नई स्पेस तकनीक को टेस्ट करने में एक प्लैटफॉर्म की तरह काम करेगा। इसरो चीफ ने बताया कि ऑपरेशनल पेलॉड्स के अलावा यह सैटलाइट तीन प्रदर्शन प्रौद्योगिकियों, क्यू ऐंड वी बैंड्स, ऑप्टिकल कम्युनिकेशन और एक हाई रेजॉल्यूशन कैमरा भी अपने साथ ले गया है। भविष्य के स्पेस मिशन के लिए पहली बार इन तकनीकों का परीक्षण किया गया।

10 साल तक करेगा काम
इसरो के अनुसार, जीएसएलवी-एमके III रॉकेट की दूसरी उड़ान है, जो लॉन्च होने के बाद 10 साल तक काम करेगा। लॉन्च होने के बाद पृथ्वी से 36,000 किमी दूर जियो स्टेशनरी ऑर्बिट (जीएसओ) में स्थापित किया गया है। यह भारत के दूरदराज के क्षेत्रों में हाई स्पीड डेटा को ट्रांसफर करने में मदद करेगा।

पूरी तरह भारत में बना रॉकेट
GSAT-29 को लॉन्च करने के लिए जीएसएलवी-एमके 2 रॉकेट का इस्तेमाल किया गया है। इसे भारत का सबसे वजनी रॉकेट माना जाता है, जिसका वजन 640 टन है। इस रॉकेट की सबसे खास बात यह है कि यह पूरी तरह भारत में बना है। इस पूरे प्रॉजेक्ट में 15 साल लगे हैं। इस रॉकेट की ऊंचाई 13 मंजिल की बिल्डिंग के बराबर है और यह चार टन तक के उपग्रह लॉन्च कर सकता है। अपनी पहली उड़ान में इस रॉकेट ने 3423 किलोग्राम के सैटलाइट को उसकी कक्षा में पहुंचाया था। इस रॉकेट में स्वदेशी तकनीक से तैयार हुआ नया क्रायोजेनिक इंजन लगा है, जिसमें लिक्विड ऑक्सिजन और हाइड्रोजन का ईंधन के तौर पर इस्तेमाल होता है।

(एएनआई से इनपुट्स के साथ)


https://navbharattimes.indiatimes.com/state/other-states/other-cities/isro-successfully-launched-gsat-29-with-gslo-mark-3-rocket/articleshow/66621258.cms

अगला लेख: क्या है आमिर का मिशन 500 करोड़??



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
30 अक्तूबर 2018
लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर (157 फीट) ऊंची प्रतिमा (स्टैच्यू ऑफ यूनिटी)का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनकी 143वीं जयंती पर करने जा रहे हैं. मोदी 31 अक्टूबर को उद्घाटनकरेंगे. वहीं स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के ऊपर जाने के लिए लिफ्ट लगेगी, जिसके जरिये सरदार
30 अक्तूबर 2018
31 अक्तूबर 2018
हर दिवाली पर वर्ष की बड़ी फिल्मों में से कोई एक रिलीज होती है। इसका बजट भारी-भरकम रहता है। नामी सितारे रहते हैं। इस दिवाली पर यश राज फिल्म्स की 'ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान' प्रदर्शित हो रही है। इस फिल्म में अमिताभ बच्चन, आमिर खान और कैटरीना कैफ जैसे सितारे हैं। पहली बार बॉलीवुड के दो दिग्गज साथ काम कर रहे
31 अक्तूबर 2018
31 अक्तूबर 2018
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के प्रथम गृहमंत्री रहे सरदार वल्लभभाई पटेलके सम्मान में बनाई गई दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति 'स्टैचू ऑफ यूनिटी' का अनावरण कर रहे हैं। इसी क्रम में पीएम ने सरदार पटेल की प्रतिमा के ठीक सामने बने 'वैली ऑफ फ्लावर' का भी उद्घाटन किया है। 250 एकड़ में फूलों की यह घाटी इस जगह क
31 अक्तूबर 2018
05 नवम्बर 2018
लगता है, भारत एक अमीर व विकसित देश हो गया है? आज का ही (31 अक्टूबर) दिन पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के कारण ‘‘बलिदान दिवस’’ व भारत की एकता व अखंडता बनाए रखने में अति विशिष्ट महत्वपूर्ण व एकमात्र योगदान देने के कारण पूर्व गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस को राष्ट्र एकता दिवस
05 नवम्बर 2018
31 अक्तूबर 2018
भारत के आयरन मैन कहे जाने वाले सरदार वल्लभभाई पटेल की याद में गुजरात में 'स्टैचू ऑफ यूनिटी' का निर्माण किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नर्मदा जिले में आज इस प्रतिमा का अनावरण करेंगे। इस मूर्ति की कई ऐसी खासियत है, जिसे दुनिया में पहले कभी नहीं देखा गया। यह दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है, जिसक
31 अक्तूबर 2018
31 अक्तूबर 2018
15 अगस्त 1947 को जब भारत आजाद हुआ तो उससे कुछ महीनों पहले दुनिया की सर्वाधिक प्रतिष्ठित मैग्जीन्स में से एक टाइम मैग्जीन के कवर पर एक भारतीय नेता छा गया। जनवरी 1947 में कवर पेज पर इस नेता को लेकर टाइम ने टाइटल लगाया 'द बॉस'। वह नेता थे आजाद भारत के पहले उप प्रधानमंत्री, पहले गृहमंत्री, देश के सर्वाध
31 अक्तूबर 2018
31 अक्तूबर 2018
किसी भी खिलाड़ी के लिए सबसे खास पल वह होता है जब वह अपने देश की जर्सी पहनकर दर्शकों के बीच उतरता है। भारतीय क्रिकेटर रोहित शर्मा ने यह साबित भी कर दिया कि देश उनके नाम से कहीं ऊपर है। रोहित जब मुंबई के ब्रेबोर्न स्टेडियम में वेस्ट इंडीज के खिलाफ सीरीज के चौथे वनडे में फील्डिंग कर रहे थे, तब ही कुछ ऐ
31 अक्तूबर 2018
30 अक्तूबर 2018
अक्षय कुमार ने करण जौहर के चैट शो 'कॉफी विद करण' में एक मजेदार बात बताई। उन्होंने ऐसी तीन महिलाओं के बारे में कहा कि उनका फोन वे हर काम को छोड़ उठाते हैं।ये तीन महिलाएं हैं- अक्षय की मां, अक्षय की पत्नी ट्विंकल खन्ना और अक्षय की मैनेजर जेनोबिया। अक्षय का कहना है कि चाहे कितना भी जरूरी काम हो, यदि इन
30 अक्तूबर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x