इसरो ने सफलतापूर्वक लॉन्च किया GSAT-29

14 नवम्बर 2018   |  समीर मिश्र   (22 बार पढ़ा जा चुका है)

इसरो ने सफलतापूर्वक लॉन्च किया GSAT-29 - शब्द (shabd.in)

श्रीहरिकोटा

इंडियन

स्पेस रिसर्च

ऑर्गनाइजेशन (इसरो) ने बुधवार को

जीएसएलवी

माक-3 रॉकेट की मदद से जीसैट-29 सैटलाइट सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया। यह प्रक्षेपण श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से किया गया। यह सैटलाइट भू स्थिर कक्षा में स्थापित किया जाएगा। बता दें कि इस साल यह

इसरो

का पांचवां लॉन्च है।

आपको यह भी बता दें कि इस रॉकेट में दुनिया के दूसरे सबसे बड़े बूस्टर S200 का इस्तेमाल किया गया। 3423 किलोग्राम वजन का यह सैटलाइट भारत की जमीन से लॉन्च किया गया अब तक का सबसे भारी सैटलाइट है। यह एक हाईथ्रोपुट कम्युनिकेशन सैटलाइट है। इसमें लगे ऑपरेशनल पेलोड्स डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत जम्मू और कश्मीर के साथ उत्तर-पूर्वी राज्यों को बेहतर सेवा मुहैया कराएंगे। इससे इन क्षेत्रों में हाईस्पीड इंटरनेट में काफी मदद मिलेगी।

नई स्पेस तकनीक में मिलेगी मदद
जीसैट-29 नई स्पेस तकनीक को टेस्ट करने में एक प्लैटफॉर्म की तरह काम करेगा। इसरो चीफ ने बताया कि ऑपरेशनल पेलॉड्स के अलावा यह सैटलाइट तीन प्रदर्शन प्रौद्योगिकियों, क्यू ऐंड वी बैंड्स, ऑप्टिकल कम्युनिकेशन और एक हाई रेजॉल्यूशन कैमरा भी अपने साथ ले गया है। भविष्य के स्पेस मिशन के लिए पहली बार इन तकनीकों का परीक्षण किया गया।

10 साल तक करेगा काम
इसरो के अनुसार, जीएसएलवी-एमके III रॉकेट की दूसरी उड़ान है, जो लॉन्च होने के बाद 10 साल तक काम करेगा। लॉन्च होने के बाद पृथ्वी से 36,000 किमी दूर जियो स्टेशनरी ऑर्बिट (जीएसओ) में स्थापित किया गया है। यह भारत के दूरदराज के क्षेत्रों में हाई स्पीड डेटा को ट्रांसफर करने में मदद करेगा।

पूरी तरह भारत में बना रॉकेट
GSAT-29 को लॉन्च करने के लिए जीएसएलवी-एमके 2 रॉकेट का इस्तेमाल किया गया है। इसे भारत का सबसे वजनी रॉकेट माना जाता है, जिसका वजन 640 टन है। इस रॉकेट की सबसे खास बात यह है कि यह पूरी तरह भारत में बना है। इस पूरे प्रॉजेक्ट में 15 साल लगे हैं। इस रॉकेट की ऊंचाई 13 मंजिल की बिल्डिंग के बराबर है और यह चार टन तक के उपग्रह लॉन्च कर सकता है। अपनी पहली उड़ान में इस रॉकेट ने 3423 किलोग्राम के सैटलाइट को उसकी कक्षा में पहुंचाया था। इस रॉकेट में स्वदेशी तकनीक से तैयार हुआ नया क्रायोजेनिक इंजन लगा है, जिसमें लिक्विड ऑक्सिजन और हाइड्रोजन का ईंधन के तौर पर इस्तेमाल होता है।

(एएनआई से इनपुट्स के साथ)


https://navbharattimes.indiatimes.com/state/other-states/other-cities/isro-successfully-launched-gsat-29-with-gslo-mark-3-rocket/articleshow/66621258.cms

अगला लेख: क्या है आमिर का मिशन 500 करोड़??



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
31 अक्तूबर 2018
गुजरात में बनी सरदार वल्लभभाई पटेल की मूर्ति दुनिया में सबसे ऊंची प्रतिमा है। इस प्रतिमा के आसपास के क्षेत्र को पर्यटन के रूप में विकसित किया जा रहा है। आखिर जानते हैं इस प्रतिमा को देखने के लिए आम आदमी को कितने रुपए चुकाने होंगे?मूर्ति में दो लिफ्ट लगी हैं, जो इसी में सरदार पटेल के सीने तक जाती हैं
31 अक्तूबर 2018
30 अक्तूबर 2018
अनूप जलोटा बिग बॉस 12 के घर से बेघर होने के बाद हर मीडिया इंटरव्यू में यह बात रिपीट कर रहे हैं कि जसलीन से कोई उनका कोई रिलेशन नहीं है, वो केवल उनकी स्टूडेंट हैं। यही नहीं उनका जसलीन से गर्लफ्रेंड ब्वॉयफ्रेंड जैसा रिलेशन नहीं है।बॉलीवुडलाइफ से बातचीत में अनूप ने कहा है कि वह जसलीन और शिवाशिष मिश्रा
30 अक्तूबर 2018
27 नवम्बर 2018
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के नि-धन से पूरा देश शोक में डूबा है। अटल जी को शुक्रवार को अंतिम बिदाई दे दी गई, लेकिन लोगोंं के दिलोंं में वो हमेशा राज करेंगे। अटल के जाने से भारतीय राजनीति का एक अध्याय पूरी तरह से खत्म हो गया। अटल बिहारी को शब्दों में पिरो पाना संभव नही
27 नवम्बर 2018
31 अक्तूबर 2018
हर दिवाली पर वर्ष की बड़ी फिल्मों में से कोई एक रिलीज होती है। इसका बजट भारी-भरकम रहता है। नामी सितारे रहते हैं। इस दिवाली पर यश राज फिल्म्स की 'ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान' प्रदर्शित हो रही है। इस फिल्म में अमिताभ बच्चन, आमिर खान और कैटरीना कैफ जैसे सितारे हैं। पहली बार बॉलीवुड के दो दिग्गज साथ काम कर रहे
31 अक्तूबर 2018
31 अक्तूबर 2018
भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्‍या को आज 34 साल पूरे हो गए हैं। 31 अक्टूबर, 1984 को उनके ही सुरक्षाकर्मियों ने उन्‍हें गोलियों से छलनी कर दिया था। आखिर क्‍या थी सिख समुदाय की नाराजगी की वजह, जो इंदिरा की मौत का कारण बनी? दरअसल सिख समुदाय का एक बड़ा
31 अक्तूबर 2018
30 अक्तूबर 2018
फ्लिपकार्ट इस फेस्टिव सीजन को अपने ग्राहकों के लिए खास बनाने की कोशिश में लगातार लगी हुई है, जिसके तहत उसने फिर से एक नई सेल की घोषणा कर दी है। इसबार फ्लिपकार्ट ने 'बिग दीवाली सेल' की घोषणा की है जोकि 1 नवंबर से शुरु होगी और 5 नवंबर तक चलेगी। हर बार के जैसे इस सेल में भी कंपनी सभी प्रोडक्ट्स की रेंज
30 अक्तूबर 2018
31 अक्तूबर 2018
15 अगस्त 1947 को जब भारत आजाद हुआ तो उससे कुछ महीनों पहले दुनिया की सर्वाधिक प्रतिष्ठित मैग्जीन्स में से एक टाइम मैग्जीन के कवर पर एक भारतीय नेता छा गया। जनवरी 1947 में कवर पेज पर इस नेता को लेकर टाइम ने टाइटल लगाया 'द बॉस'। वह नेता थे आजाद भारत के पहले उप प्रधानमंत्री, पहले गृहमंत्री, देश के सर्वाध
31 अक्तूबर 2018
21 नवम्बर 2018
इतिहास की बात की जाये तो पूरे देश के इतिहास को यदि तराजू के एक तरफ रख दें और केवल मेवाड़ के ही इतिहास को दूसरी ओर रख दें, तो भी मेवाड़ का पलड़ा हमेशा भारी ही रहेगा | कभी गुलामी स्वीकार न करने वाले शूरवीर महाराणा प्रताप ने इतने संघर्षों के बाद अकबर को मेवाड़ से खदेड़ने पर मजबूर कर दिया था |न जाने मेव
21 नवम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x