कभी यहां जाने के लिए मरते थे लोग, आज यहां जा कर मर जाते है

30 नवम्बर 2018   |  अंकिशा मिश्रा   (44 बार पढ़ा जा चुका है)

कभी यहां जाने के लिए मरते थे लोग, आज यहां जा कर मर जाते है

पूरा विश्व कई अजब- गजब कहानियों का संग्रह है।यहां हर चीज़ अपनी ही अलग कहानी बयां करते है। विश्व में न जाने ऐसी कितनी ही अजीबों- गरीब जगह हैं जिनकी खुद की ही एक अलग कहानी है। ऐसे ही कुछ भूतिया जगह के बारे में हम आपको बताने जा रहे है जो एक समय में बेहद ख़ूबसूरत हुआ करती थीं पर आज वहां परिंदा भी देखने को नहीं मिलता, इंसान तो दूर की बात है।




ये जार्जिया का ख़ूबसूरत टाउन हुआ करता था लेकिन लोगों का कहना है की यहाँ लोग नहीं बुरी शक्तियां रहते हैं।



ये तुर्की का एक शहर है जो कभी बहुत खूबसूरत हुआ करता था, यहां हर जगह लोगों की हंसी बिखरी हुई थी पर आज ये वीराना पड़ा हुआ हैं।



इटली के इस शहर को भूतिया माना जाता है एक समय था जब यहां लगभग 1000 से ज्यादा लोगों की जनसँख्या थी।





अरब का ये शहर अपनी कलाकारी के लिए मशहूर था पर आज ये शहर ख़ाली पड़ा है और लोग इसे भूतिया मानते हैं।



अगला लेख: सैफ की लाडली कर रहीं हैं इस बॉलीवुड अभिनेता को डेट



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
21 नवम्बर 2018
इतिहास की बात की जाये तो पूरे देश के इतिहास को यदि तराजू के एक तरफ रख दें और केवल मेवाड़ के ही इतिहास को दूसरी ओर रख दें, तो भी मेवाड़ का पलड़ा हमेशा भारी ही रहेगा | कभी गुलामी स्वीकार न करने वाले शूरवीर महाराणा प्रताप ने इतने संघर्षों के बाद अकबर को मेवाड़ से खदेड़ने पर मजबूर कर दिया था |न जाने मेव
21 नवम्बर 2018
22 नवम्बर 2018
Aaj ka itihas वर्ष/साल प्रमुख घटनाएं1165 पोप एलेक्जेंडर तृतीय निर्वासन के बाद रोम वापस लौटे।1744 ब्रिटिश प्रधानमंत्री जान कार्टरे ने इस्तीफा दिया।1848 अमेरिका के वोस्टन में महिला मेडिकल शैक्षणिक सोसाइटी का गठन।1857 कोलिन कैंपबेल ने लखनऊ में सिपाही विद्
22 नवम्बर 2018
22 नवम्बर 2018
डॉ.कुमार विश्वास “कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है”कुमार विश्वास का जन्म 10 फ़रवरी 1970 को पिलखुआ (ग़ाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश) में हुआ था। चार भाईयों और एक बहन में सबसे छोटे कुमार विश्वास ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा लाला गंगा सहाय स्कूल, पिलखुआ में प्राप्त की। उनके पिता डॉ. चन्द्रपाल शर्मा आर एस
22 नवम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x