अंग्रेजों के जमाने में भारतीयों की हालत कैसी होती थी देखे इन 100 साल पुरानी तस्वीरों में

10 दिसम्बर 2018   |  रेखा यादव   (75 बार पढ़ा जा चुका है)

अंग्रेजों के जमाने में भारतीयों की हालत कैसी होती थी देखे इन 100 साल पुरानी तस्वीरों में - शब्द (shabd.in)

हम बहुत सालो से ग़ुलाम रहे है, हम भारतीयों पर अंग्रेज़ों ने राज किया है वो भी पूरे 200 साल तक. और आज जो हमारा देश दुनिया से पीछे छूट गया है उसका जो असली कारण है वो यही है. यदि हमारा देश ग़ुलाम नहीं हुंआ होता तो आज हमारा देश पूरी दुनिया से आगे निकल गया होता. पर वो दिन अब दूर नहीं है हमारा देश एक दिन तो ज़रूर आगे निकलेगा पर वो दिन उस समय आएगा जब हमारा देश हमारे देश के युवाओं को सही तरीके से इस्तेमाल करना सीख जाएगा. चलिए दोस्तों तो आज हम आपको दिखाते है 100 साल पुरानी तस्वीरें जिन्हें देखकर आप भी हैरान रह जाएँगे.

अंग्रेजों के जमाने में भारतीयों की हालत कैसी होती थी, देखे इन 100 साल पुरानी तस्वीरों में

google images

दोस्तों हम भारतीय लोगों की हालत इन अंग्रेज़ों ने बहुत ही ज्यादा बुरी की है, हम लोग बहुत ही ज्यादा भाग्यशाली है जो हमारा देश आज आज़ाद है और हम किसी के ग़ुलाम नहीं है. नहीं तो हमारे दादा पड़ दादा ही जानते है की ग़ुलामो की जिंदगी कैसी होती है. आज हमारा पूरा देश एक दूसरे से लड़ता है अलग अलग कारण से पर यदि आज हम सभी ग़ुलाम होते तो हम एक दूसरे से कभी नहीं लड़ते. और ये हम सभी की एक दूसरे के साथ लड़ने की आदत है इसी आदत के कारण से ही हमारा देश ग़ुलाम हुंआ था.

google images

आज हम लोग काम करते है और हर महीने तन्खा ले कर घर आ जाते है. पर अंग्रेज़ों के समय में हम सभी ग़ुलाम होते थे और हम काम तो ज़रूर करते थे पर हमें उस काम का सही मोल नहीं मिलता था. और हमसे फ़ैक्टरियों में जानवरों की तरह काम करवाया जाता था. और हमें वो सारा का सारा काम करना भी पड़ता था. और जो भी इसमें विरोध में आवाज़ उठाता था उसे जेल कर दी जाती थी या फिर उसे फाँसी दे दी जाती थी ताकि और कोई भी दोबारा आवाज़ न उठाये.

google images

इस तस्वीर को देखकर आप सभी की समझ में आ ही गया होगा की उस समय हमारी जिंदगी कैसी होती होगी. हम लोग तो आज आराम से बस में सफर करते है और आराम से जहाँ भी जाना होता है गाड़ी में ही जाते है. पर उस समय जिंदगी बहुत ही ज्यादा अलग थी अँग्रेज़ हम लोगों को जानवरों की तरह समझते थे और जानवरोंं की ही तरह हमसे काम करवाते थे. और ये बहुत ही दुःख की बात होती थी. उस समय हम बहुत काम करते थे, और आज आप देखे आज तो युवा कोई काम कभी भी करना ही नहीं चाहता है.

google images

हम जितने भी भारतीय लोग थे सभी के सभी इन अंग्रेज़ों के नौकर होते थे. और ये जो अंगेज़ होते थे हम सभी इनकी सेवा में ही लगे रहते थे. और इसे ही हम लोग सबसे बड़ी नौकरी मानते थे. और कुछ लोग तो ऐसे भी थे जो की अंग्रेज़ों के ऐसे नौकर थे जो की अपने भारतीय लोगों का साथ देने के स्थान पर अंग्रेज़ों का साथ देते थे और भारत को आज़ाद करवाने के स्थान पर इसे ग़ुलाम बनवा रहे थे. और ये चीज़ हम भारतीय लोगों की आज भी बहुत ही ज्यादा बुरी थी.

google images

अँग्रेज़ लोग तो इंग्लैंड से आ कर ऐसे हीरो बनते थे हमारे भारत में जैसे की ये देश हमारा नहीं उनका है. और हम भारतीय लोगों को सोचते थे की ये तो जानवर है जो भी काम करवाना है करवा लो. और हम आज के लोग तो ये चीज़ कभी भी इमेजिन भी नहीं कर सकते की उस समय भारतीय लोगों की जिंदगी कैसी होती होगी. न तो कभी खुल के जी सकते थे न ही खुल के कुछ कर सकते थे. और ऐसी जिंदगी तो किसी को भी पसंद नहीं होती होगी. हम अपने ही देश में एक कैदी की जिंदगी जीने में बिबश हो गए थे.

google images

आज आप सभी जानते है की शेर कम हो रहे है, और उस समय जब भारत में अंगेज़ होते थे तो उस समय ये अंगेज़ इन शेरो को अपने शोक के लिए मार डालते थे. और वो भी आमने सामने आ कर मारे तो भी बात बनती है ये तो चुप चुप कर शेरो को मारते थे. और आप तो जानते है की शेर के सामने जाने की हिम्मत तो ये कभी कर ही नहीं सकते है और चुप के बार करने की तो इन्हें आदत होती ही है.

google images

हम भारतीय लोग अंग्रेज़ों के ऐसे नौकर थे की कहीं पर इन्हें जाना होता था तो ये तो खुद किसी न किसी चीज़ पर सवार हो कर ही जाते थे पर हम भारतीय लोगों को इनके साथ जाना होता था वो भी पैदल और साथ में ये जिस जानवर पर सवार होते थे उसे भी ले कर जाना होता था. और अगर इन्हें जल्दी कहीं पर पहुंँचना होता था तो हमें भी जानवरोंं की तरह जल्दी चलना होता था. अभी आप ही बताओ दोस्तों की उस समय हमारी जिंदगी कैसी रही होगी.

google images

हम सभी तो ऐसे नौकर थे जो की बिना किसी ठोस बेतन के इनके घर काम करने का काम करते थे. साथ में ये हमारे देश को लूट लूट कर जो भी सोना था उसे भी अपने देश ले गए. और हम भारतीय लोगों के पास जो भी था सब कुछ लूट लिया. में तो सोच के ही दुखी हो जाता हुं जब सोचता हुं की अगर अंग्रेज़ों ने राज नहीं किया होता तो आज हमारा देश कितना आगे निकल जाता. पर चलो जो भी है आज हमारा देश भी दुनिया के कई देशों से आगे है और आने वाले समय में भी आगे ही रहेगा.

तो दोस्तों कैसी लगी आपको ये तस्वीरें हमें कमेंट कर के ज़रूर लिखे. और यदि आर्टिकल पसंद आया हो तो लाइक का बटन भी ज़रूर दवा दे. और ऐसे ही आर्टिकल अपने पास पाते रहने के लिए फॉलो का बटन भी ज़रूर दवा दे.

https://www.ucnews.in/news/%E0%A4%85%E0%A4%82%E0%A4%97%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%87%E0%A4%9C%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%9C%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A4%A4%E0%A5%80%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%B2%E0%A4%A4-%E0%A4%95%E0%A5%88%E0%A4%B8%E0%A5%80-%E0%A4%B9%E0%A5%8B%E0%A4%A4%E0%A5%80-%E0%A4%A5%E0%A5%80-%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%96%E0%A5%87-%E0%A4%87%E0%A4%A8-100-%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%B2-%E0%A4%AA%E0%A5%81%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A5%80-%E0%A4%A4%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%B5%E0%A5%80%E0%A4%B0%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82/485503186955341.html

अगला लेख: आज ही के दिन राहुल बने थे कांग्रेस अध्यक्ष, पहली सालगिरह पर मिला ये अद्भुत उपहार



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 दिसम्बर 2018
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी आज बेहद खुश है.आखिर खुश हो भी क्यों न, उनकी पार्टी ने इतना जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए भाजपा को मात दे दिया है. राजस्थान ,छत्तीसगढ़ में प्रचंड बहुमत के अलावे कांग्रेस मध्यप्रदेश में भी भाजपा को कांटे की टक्कर दे रही है. वो भी उस दिन जिस दिन कांग्रेस के राष्ट्री
11 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
नवज्योति इंडिया फाउंडेशन (Navjyoti India Foundation) एक गैर-लाभकारी संगठन है। जिसकी शुरुआत 1988 में प्रथम महिला आईपीएस (IPS) डॉ. किरण बेदी और दिल्ली पुलिस के 16 पुलिस अधिकारियों की टीम के द्वारा भारत में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध, निरक्षरता, भेद-भाव, जैसी समाज में फ़ैली विकृतियों को एक जुट होकर साम
21 दिसम्बर 2018
29 नवम्बर 2018
कैंसर, एक ऐसी बीमारी, जिसके नाम से रूह कांप जाती है। आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में कैंसर विभाग में तैनात हैं डॉ.सुरभि गुप्ता। एक ओर जहां सरकारी कर्मचारी अपनी नौकरी जल्द से जल्द खत्म करके घर जाना चाहते हैं। वहीं दूसरी ओर डॉ.सुरभि मित्तल अपने मरीजों के लिए हर समय तैयार रहती हैं।कैंसर के सैकड़ों मरीजों
29 नवम्बर 2018
12 दिसम्बर 2018
5 राज्यों में बीजेपी को मिली हार से सोशल मीडिया की आबोहवा भी बदली नजर आ रही है। उम्मीद अनुसार परिणाम न मिलने पर बीजेपी के नेता तो हताश हैं ही, पार्टी के समर्थकों भी हैरान परेशान हैं। जिस सोशल मीडिया पर कल राहुल गांधी और कांग्रेस का मजाक बनाया जाता था। वहां आज कांग्रेस की
12 दिसम्बर 2018
10 दिसम्बर 2018
पटना, जेएनएन। जिन फूलों से मंडप सजना था, उनसे स्निग्धा की रविवार को अर्थी सजी। शनिवार को उसके तिलक की रस्म हुई थी। रविवार को मंडप था और सोमवार को शादी होनी थी। मंडप और घर को सजाने के लिए फूल मंगाए गये थे। शव शास्त्रीनगर थाने के पटेलनगर इलाके के स्नेही पथ स्थित उसके घर चंद्र विला लाया गया।शव को अंतिम
10 दिसम्बर 2018
12 दिसम्बर 2018
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में फुटपाथ पर एक अलग ही दुनिया बसती है।जिसमें अधिकतर बसेरा बच्चों का हैं।ये बच्चे न जाने रोज़ कितने समस्याओं से झुझते हैं जिसमें नशे की लत, अभद्र व्यवहार और हिंसा का शिकार तो जैसे
12 दिसम्बर 2018
08 दिसम्बर 2018
फ्री में पेट्रोल चाहिए तो करना होगा बस ये. जी हाँ फ्री पेट्रोल, और वो भी 5 लीटर। ये फ्री पेट्रोल आपको सिर्फ इंडियन आयल के पेट्रोल पम्पस से ही मिल सकता है।यह ऑफर इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन और एसबीआई ने संयुक्त रूप से अपने ग्राहकों के लिए निकला है। ये जानकारी एसबीआई ने ट्वीट कर
08 दिसम्बर 2018
27 नवम्बर 2018
सभी भारतवासियों को संविधान दिवस (26 नवम्बर) की हार्दिक बधाई । भारत गणराज्य का संविधान 26 नवम्बर 1949 को बनकर तैयार हुआ था। संविधान सभा के निर्मात्री समिति के अध्यक्ष डॉ॰ भीमराव आंबेडकर जी ने भारत के महान संविधान को 2 वर्ष 11 माह 18 दिन में 26 नवम्बर 1949 को पूरा कर राष्ट्र को समर्पित किया। गणतंत्र
27 नवम्बर 2018
10 दिसम्बर 2018
ऊपर वाले की लीला ही अपरंपार है।कहा जाता है कि ऊपर वाला जब भी देता है छप्पर फाड़ के देता है।कुछ ऐसा ही हुआ अमेरिका के मेरीलैंड में रहने वाली एक महिला के साथ । चंद पलों में उसकी किस्मत बदल गई। वो गई तो थी गोभी लेने पर उसे क्या पता था की चंद पलों में उसकी किस्मत चमकने वाली है। जी हां! वो महिला देखते ही
10 दिसम्बर 2018
11 दिसम्बर 2018
पांच राज्यों के चुनावों के नतीजे लगभग आ चुके हैं. यहां राजस्थान में कांग्रेस को 100, बीजेपी को 74 और अन्यों को 25 सीटें मिली हैं. वहीं छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को 66, बीजेपी को 18 और अन्यों को 7 सीटे मिली हैं. तेलंगाना में टीएसआर को सबसे ज्यादा 87, कांग्रेस 21, अन्यों को 10 और बीजेपी को 1 सीट मिली है.
11 दिसम्बर 2018
11 दिसम्बर 2018
विधानसभा चुनाव के नतीजे जिस तरह से आ रहे हैं उन्हें देखकर लगता है कि राजस्थान में भाजपा की सरकार बनना अब मुश्किल है और वसुंधरा राजे के दोबारा मुख्यमंत्री बनने की उम्मीदें तो बेहद कम हो गई हैं. कांग्रेस और भाजपा के बीच का ये मुकाबला राजस्थान में बदलकर वसुंधरा खेमा और सचिन
11 दिसम्बर 2018
29 नवम्बर 2018
29 नवम्बर 2018
16 दिसम्बर 2018
जैसा कि आप सभी लोग जान रहे हैं कि आजकल शादियों का माहौल बड़े जोरों शोरों से चल रहा है आम लोग ही नहीं बल्कि यहां तक कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में भी शादियां बड़ी धूमधाम से हो रही है आजकल बॉलीवुड की मशहूर हस्तियों की महंगी शादियां काफी सुर्खियों में छाई हुई है वैसे देखा जाए तो ब
16 दिसम्बर 2018
05 दिसम्बर 2018
भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ISRO ने बुधवार को अपने अब तक के सबसे वजनी सैटेलाइट का प्रक्षेपण कर दिया। भारतीय समयानुसार मगंलवार-बुधवार की रात में दक्षिणी अमेरिका के फ्रेंच गुयाना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से ‘सबसे अधिक वजनी’ उपग्रह GSAT-11 को लॉन्च किया गया। सैटेलाइट बु
05 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x