अंग्रेजों के जमाने में भारतीयों की हालत कैसी होती थी देखे इन 100 साल पुरानी तस्वीरों में

10 दिसम्बर 2018   |  रेखा यादव   (119 बार पढ़ा जा चुका है)

अंग्रेजों के जमाने में भारतीयों की हालत कैसी होती थी देखे इन 100 साल पुरानी तस्वीरों में

हम बहुत सालो से ग़ुलाम रहे है, हम भारतीयों पर अंग्रेज़ों ने राज किया है वो भी पूरे 200 साल तक. और आज जो हमारा देश दुनिया से पीछे छूट गया है उसका जो असली कारण है वो यही है. यदि हमारा देश ग़ुलाम नहीं हुंआ होता तो आज हमारा देश पूरी दुनिया से आगे निकल गया होता. पर वो दिन अब दूर नहीं है हमारा देश एक दिन तो ज़रूर आगे निकलेगा पर वो दिन उस समय आएगा जब हमारा देश हमारे देश के युवाओं को सही तरीके से इस्तेमाल करना सीख जाएगा. चलिए दोस्तों तो आज हम आपको दिखाते है 100 साल पुरानी तस्वीरें जिन्हें देखकर आप भी हैरान रह जाएँगे.

अंग्रेजों के जमाने में भारतीयों की हालत कैसी होती थी, देखे इन 100 साल पुरानी तस्वीरों में

google images

दोस्तों हम भारतीय लोगों की हालत इन अंग्रेज़ों ने बहुत ही ज्यादा बुरी की है, हम लोग बहुत ही ज्यादा भाग्यशाली है जो हमारा देश आज आज़ाद है और हम किसी के ग़ुलाम नहीं है. नहीं तो हमारे दादा पड़ दादा ही जानते है की ग़ुलामो की जिंदगी कैसी होती है. आज हमारा पूरा देश एक दूसरे से लड़ता है अलग अलग कारण से पर यदि आज हम सभी ग़ुलाम होते तो हम एक दूसरे से कभी नहीं लड़ते. और ये हम सभी की एक दूसरे के साथ लड़ने की आदत है इसी आदत के कारण से ही हमारा देश ग़ुलाम हुंआ था.

google images

आज हम लोग काम करते है और हर महीने तन्खा ले कर घर आ जाते है. पर अंग्रेज़ों के समय में हम सभी ग़ुलाम होते थे और हम काम तो ज़रूर करते थे पर हमें उस काम का सही मोल नहीं मिलता था. और हमसे फ़ैक्टरियों में जानवरों की तरह काम करवाया जाता था. और हमें वो सारा का सारा काम करना भी पड़ता था. और जो भी इसमें विरोध में आवाज़ उठाता था उसे जेल कर दी जाती थी या फिर उसे फाँसी दे दी जाती थी ताकि और कोई भी दोबारा आवाज़ न उठाये.

google images

इस तस्वीर को देखकर आप सभी की समझ में आ ही गया होगा की उस समय हमारी जिंदगी कैसी होती होगी. हम लोग तो आज आराम से बस में सफर करते है और आराम से जहाँ भी जाना होता है गाड़ी में ही जाते है. पर उस समय जिंदगी बहुत ही ज्यादा अलग थी अँग्रेज़ हम लोगों को जानवरों की तरह समझते थे और जानवरोंं की ही तरह हमसे काम करवाते थे. और ये बहुत ही दुःख की बात होती थी. उस समय हम बहुत काम करते थे, और आज आप देखे आज तो युवा कोई काम कभी भी करना ही नहीं चाहता है.

google images

हम जितने भी भारतीय लोग थे सभी के सभी इन अंग्रेज़ों के नौकर होते थे. और ये जो अंगेज़ होते थे हम सभी इनकी सेवा में ही लगे रहते थे. और इसे ही हम लोग सबसे बड़ी नौकरी मानते थे. और कुछ लोग तो ऐसे भी थे जो की अंग्रेज़ों के ऐसे नौकर थे जो की अपने भारतीय लोगों का साथ देने के स्थान पर अंग्रेज़ों का साथ देते थे और भारत को आज़ाद करवाने के स्थान पर इसे ग़ुलाम बनवा रहे थे. और ये चीज़ हम भारतीय लोगों की आज भी बहुत ही ज्यादा बुरी थी.

google images

अँग्रेज़ लोग तो इंग्लैंड से आ कर ऐसे हीरो बनते थे हमारे भारत में जैसे की ये देश हमारा नहीं उनका है. और हम भारतीय लोगों को सोचते थे की ये तो जानवर है जो भी काम करवाना है करवा लो. और हम आज के लोग तो ये चीज़ कभी भी इमेजिन भी नहीं कर सकते की उस समय भारतीय लोगों की जिंदगी कैसी होती होगी. न तो कभी खुल के जी सकते थे न ही खुल के कुछ कर सकते थे. और ऐसी जिंदगी तो किसी को भी पसंद नहीं होती होगी. हम अपने ही देश में एक कैदी की जिंदगी जीने में बिबश हो गए थे.

google images

आज आप सभी जानते है की शेर कम हो रहे है, और उस समय जब भारत में अंगेज़ होते थे तो उस समय ये अंगेज़ इन शेरो को अपने शोक के लिए मार डालते थे. और वो भी आमने सामने आ कर मारे तो भी बात बनती है ये तो चुप चुप कर शेरो को मारते थे. और आप तो जानते है की शेर के सामने जाने की हिम्मत तो ये कभी कर ही नहीं सकते है और चुप के बार करने की तो इन्हें आदत होती ही है.

google images

हम भारतीय लोग अंग्रेज़ों के ऐसे नौकर थे की कहीं पर इन्हें जाना होता था तो ये तो खुद किसी न किसी चीज़ पर सवार हो कर ही जाते थे पर हम भारतीय लोगों को इनके साथ जाना होता था वो भी पैदल और साथ में ये जिस जानवर पर सवार होते थे उसे भी ले कर जाना होता था. और अगर इन्हें जल्दी कहीं पर पहुंँचना होता था तो हमें भी जानवरोंं की तरह जल्दी चलना होता था. अभी आप ही बताओ दोस्तों की उस समय हमारी जिंदगी कैसी रही होगी.

google images

हम सभी तो ऐसे नौकर थे जो की बिना किसी ठोस बेतन के इनके घर काम करने का काम करते थे. साथ में ये हमारे देश को लूट लूट कर जो भी सोना था उसे भी अपने देश ले गए. और हम भारतीय लोगों के पास जो भी था सब कुछ लूट लिया. में तो सोच के ही दुखी हो जाता हुं जब सोचता हुं की अगर अंग्रेज़ों ने राज नहीं किया होता तो आज हमारा देश कितना आगे निकल जाता. पर चलो जो भी है आज हमारा देश भी दुनिया के कई देशों से आगे है और आने वाले समय में भी आगे ही रहेगा.

तो दोस्तों कैसी लगी आपको ये तस्वीरें हमें कमेंट कर के ज़रूर लिखे. और यदि आर्टिकल पसंद आया हो तो लाइक का बटन भी ज़रूर दवा दे. और ऐसे ही आर्टिकल अपने पास पाते रहने के लिए फॉलो का बटन भी ज़रूर दवा दे.

https://www.ucnews.in/news/%E0%A4%85%E0%A4%82%E0%A4%97%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%87%E0%A4%9C%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%9C%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A4%A4%E0%A5%80%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%B2%E0%A4%A4-%E0%A4%95%E0%A5%88%E0%A4%B8%E0%A5%80-%E0%A4%B9%E0%A5%8B%E0%A4%A4%E0%A5%80-%E0%A4%A5%E0%A5%80-%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%96%E0%A5%87-%E0%A4%87%E0%A4%A8-100-%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%B2-%E0%A4%AA%E0%A5%81%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A5%80-%E0%A4%A4%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%B5%E0%A5%80%E0%A4%B0%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82/485503186955341.html

अगला लेख: मात्र 2490 रु. में घूम आइए मां वैष्णो देवी के मंदिर..जाना-आना,खाना-रहना सब मात्र 2490 रुपए में



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
07 दिसम्बर 2018
पिताजी जोऱ से चिल्लाते हैं ।प्रिंस दौड़कर आता है, औरपूछता है…क्या बात है पिताजी?पिताजी- तूझे पता नहीं है, आज तेरी बहन रौनक आ रही है?वह इस बार हम सभी के साथ अपना जन्मदिन मनायेगी..अब जल्दी से जा और अपनी बहन को लेके आ,हाँ और सुन…तू अपनी नई गाड़ी लेकर जा जो तूने कल खरीदी है…उसे अच्छा लगेगा,प्रिंस – लेक
07 दिसम्बर 2018
27 नवम्बर 2018
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के नि-धन से पूरा देश शोक में डूबा है। अटल जी को शुक्रवार को अंतिम बिदाई दे दी गई, लेकिन लोगोंं के दिलोंं में वो हमेशा राज करेंगे। अटल के जाने से भारतीय राजनीति का एक अध्याय पूरी तरह से खत्म हो गया। अटल बिहारी को शब्दों में पिरो पाना संभव नही
27 नवम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
नवज्योति इंडिया फाउंडेशन (Navjyoti India Foundation) एक गैर-लाभकारी संगठन है। जिसकी शुरुआत 1988 में प्रथम महिला आईपीएस (IPS) डॉ. किरण बेदी और दिल्ली पुलिस के 16 पुलिस अधिकारियों की टीम के द्वारा भारत में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध, निरक्षरता, भेद-भाव, जैसी समाज में फ़ैली विकृतियों को एक जुट होकर साम
21 दिसम्बर 2018
24 दिसम्बर 2018
बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता नसीरुद्दीन शाह द्वारा एक इंटरव्यू में दिया गया एक बयान इस समय चर्चा का विषय बना हुआ है। उनके इस बयान पर जहां कुछ संगठनो ने आपत्ति जताई तो कुछ लोग ऐसे भी थे जिन्होंने उनकी बात पर सहमती जताई और उनकी बात का सपोर्ट
24 दिसम्बर 2018
20 दिसम्बर 2018
हम आपके लिए 11 बहुत ही खूबसूरत तस्वीरें लेकर आए हैं। आज की तस्वीरों पर आपको गर्व जरूर होगा। क्योंकि ये तस्वीरें हिंदू मुस्लिम एकता का प्रतीक है। भारत में सैकड़ों धर्म मौजूद है। यहां पर हिंदू और मुस्लिम दो मुख्य धर्म है। इन दोनों धर्मो को मानने वाले करोड़ों लोग इस देश में रहते हैं दोनों ही समुदाय के
20 दिसम्बर 2018
08 दिसम्बर 2018
फ्री में पेट्रोल चाहिए तो करना होगा बस ये. जी हाँ फ्री पेट्रोल, और वो भी 5 लीटर। ये फ्री पेट्रोल आपको सिर्फ इंडियन आयल के पेट्रोल पम्पस से ही मिल सकता है।यह ऑफर इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन और एसबीआई ने संयुक्त रूप से अपने ग्राहकों के लिए निकला है। ये जानकारी एसबीआई ने ट्वीट कर
08 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
जब सुहाना खान की ‘पूल’ और ‘हॉलिडे’ वाली ‘हॉट’ तस्वीरें नहीं वायरल हो रही थीं, तब भी वो ख़बरों में थीं. शाहरुख खान की बेटी जो हैं. स्टार्स के बच्चे हमेशा ख़बरों में रहते हैं क्योंकि वो स्टार्स के बच्चे हैं. मगर असल में तो हैं वो बच्चे ही और स्कूल भी जाते हैं. मगर उनके स्कूल
21 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
अगर आप वैष्णो देवी जाना चाहते हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। IRCTC वैष्णो देवी की यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए खास पैकेज लेकर आया है। इस पैकेज के तहत यात्रियों को ट्रैवेलिंग से लेकर खाने-पीना से लेकर ठहरने तक की सुविधाए मिलेंगी।जानिए पैकेज के बारें में डिटेल्स : इस इकोनॉमी पैकेज में स्लीपर क्लास
21 दिसम्बर 2018
03 दिसम्बर 2018
३ दिसंबर यानि आज भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद की 131 वीं जयंती है। राजेंद्र प्रसाद एक प्रमुख व्यक्तित्व जिसने हमारे राष्ट्रीय स्वतंत्रता संग्राम में बहुत योगदान दिया, राजेंद्र प्रसाद पहले राष्ट्रपति थे जिन्होंने स्वतंत्र भारत के राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली और 12 वर्षों तक राज्य का सबस
03 दिसम्बर 2018
14 दिसम्बर 2018
कहते हैं शादी 7 जन्मों का रिश्ता होता है। रिश्ता पक्का होने के बाद से लड़के और लड़की के बीच नजदीकियों के बढ़ने का सिलसिला तेज होता है। जोकि पड़ाव दर पड़ाव दो जिस्म एक जान की दहलीज तक पहुंच जाता है। जब प्यार परवान चढ़ता है तो लड़का और लड़की एक दूसरे को प्यार भरे नामों से पुकारना शुरू करते हैं। कोई बा
14 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
Third party image referenceदोस्तों आप तो अपने हाथों के ऊँगली में यह निशान अक्सर देखते है। यह निशान किसीके हाथों में ज्यादा होता होता है और वही किसीके की हाथों में कम होता है। लेकिन जो भी हो क्या अापने कभी यह निशान आखिर क्यों आपके उंगलियों पर दिखते है यह अपने कभी सोचा है है ? आज हम इसी विषय पर बात कर
21 दिसम्बर 2018
10 दिसम्बर 2018
पटना, जेएनएन। जिन फूलों से मंडप सजना था, उनसे स्निग्धा की रविवार को अर्थी सजी। शनिवार को उसके तिलक की रस्म हुई थी। रविवार को मंडप था और सोमवार को शादी होनी थी। मंडप और घर को सजाने के लिए फूल मंगाए गये थे। शव शास्त्रीनगर थाने के पटेलनगर इलाके के स्नेही पथ स्थित उसके घर चंद्र विला लाया गया।शव को अंतिम
10 दिसम्बर 2018
11 दिसम्बर 2018
बच्चों का नाम जहाँ आता है वहां बचपने की एक तस्वीर आँखों के सामने आ जाती है, पर बदलते समय के साथ इस बचपन की तस्वीर धुंधली होती जा रही है। रोज़ाना हम सड़कों पर कूड़ा उठाते बच्चों को देखते हैं और उन्हें देखते ही हमारे ज़हन में बाल मजदूरी का ख़्याल आता है, पर मांजरा यहां कुछ औ
11 दिसम्बर 2018
20 दिसम्बर 2018
हम आपके लिए 11 बहुत ही खूबसूरत तस्वीरें लेकर आए हैं। आज की तस्वीरों पर आपको गर्व जरूर होगा। क्योंकि ये तस्वीरें हिंदू मुस्लिम एकता का प्रतीक है। भारत में सैकड़ों धर्म मौजूद है। यहां पर हिंदू और मुस्लिम दो मुख्य धर्म है। इन दोनों धर्मो को मानने वाले करोड़ों लोग इस देश में रहते हैं दोनों ही समुदाय के
20 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x