गोद में बच्चा लेकर रिक्शा चलाती है यह मां,इसके जज्बे के आगे पुरुषों की हिम्मत भी जवाब दे जाएगी

17 दिसम्बर 2018   |  अखिलेश ठाकुर   (169 बार पढ़ा जा चुका है)

गोद में बच्चा लेकर रिक्शा चलाती है यह मां,इसके जज्बे के आगे पुरुषों की हिम्मत भी जवाब दे जाएगी

मां. एक ऐसा शब्द है जो दिल को बेहद सुकून देता है। घर संभालने के लिए मां दिन-रात एक कर देती है। 24 घंटे ड्यूटी होती है इनकी। सुबह उठकर खाना बनाना, काम पर जाना, घर की छोटी सी छोटी बातों का ख्याल रखना..ऐसा सिर्फ मां ही कर सकती है। मां के जज्बे के आगे तो पुरुषों की हिम्मत भी जवाब दे जाती है। आज हम आपको एक ऐसी मां की तस्वीर दिखा रहे हैं जिसने पुरुषों को भी सलाम ठोंकने पर मजबूर कर दिया है। ये तस्वीर है एक ऐसी मां की जो दो वक्त की रोटी परिवार को खिला सके इसके लिए वह अपने बच्चे को गोद में लेकर दिन-रात रिक्शा चलाती है।


इंसान पेट भरने के लिए क्या नहीं करता है। कोई पत्थर तोड़ता है, कोई खेती करता है। हर कोई खून-पसीना बहाकर दो वक्त की रोटी कमाता है। लगभग हर कोई अपना पेट भरने के लिए ही करता है। ऐसा ही कुछ अनोखा त्रिपुरा के अगरतला की सड़कों में रोजाना देखने को मिला। यहां सोमा चक्रवर्ती के जज्बे के आगे तो पुरुषों की हिमम्त भी जवाब दे जाएगी। जी हां- यह महिला अपनी गोद में अपने बच्चे को टांग करके रिक्शा चलाती है।


इलाके में सोमा को हर कोई जानता है। अगर आप यहां किसी से सोमा के बारे में पूछेंगे तो लोग सिर्फ यही कहेंगे – वो बहुत पुरुषार्थ वाली महिला है। वह अपने बच्चे को गोद में लेकर पूरे शहर में रिक्शा चलाने का काम करती है। यह काम बिल्कुल भी आसान नहीं है, लेकिन सोमा ने इसे इतनी आसानी से किया कि अब यह काम बेहद आसान लगता है। सोमा काम के दौरान अपने बच्चे का भी पूरा ध्यान रखती है। इसके लिए वह दूध और पानी की बोतल के साथ खाने का भी सामान साथ रखती है।


सोमा के 5 बच्चे हैं। जब सोमा काम पर जाती है तो उसके साथ उसका सबसे छोटा बेटा होता है। सोमा के बाकी2 बड़े बच्चों दूसरों के घर पर होते हैं और उनके घरों में रोजाना का काम करते हैं। बाकी 2 बच्चों को सोमा अनाथालय में चोड़ आई है। सोमा का कहना है कि अगर आपके अंदर आपके बच्चों को पालने की हैसियत नहीं है तो आपको उन्हें अनाथालय में छोड़ देना चाहिए। वहां उनकी अच्छी परवरिश होगी।

गोद में बच्चा लेकर रिक्शा चलाती है यह मां,इसके जज्बे के आगे पुरुषों की हिम्मत भी जवाब दे जाएगी

गोद में बच्चा लेकर रिक्शा चलाती है यह मां,इसके जज्बे के आगे पुरुषों की हिम्मत भी जवाब दे जाएगी

अगला लेख: शर्मनाक : जश्न में मस्त कांग्रेस कार्यकर्ता ने 'मोदी' बन उठाई चाय की केतली, हुई आलोचना |



काश सोमा को फैमिली प्लानिंग का अहसास होता बस दो ही बच्चे होते हैं घर में अच्छे

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
18 दिसम्बर 2018
देश के एक सरपंच ने बेहद अनोखी शादी करके मिसाल पेश की। ऐन मौके पर दूल्हे का फैसला सुनकर दुल्हन उसका चेहरा ही देखती रह गई, वहीं मां बाप और गांव वाले भी हैरान हैं।हरियाणा में रोहतक जिले के कलानौर क्षेत्र के तैमूरपुर गांव के सरपंच ने अपनी शादी में कन्या भ्रूण हत्या न करने का भी संदेश दिया। शादी में सात
18 दिसम्बर 2018
24 दिसम्बर 2018
क्रिसमस के मौके पर हर घर में छोटे से लेकर बड़े क्रिसमस ट्री को बेहद आकर्षक ढंग से सजाया जाता है। गिफ़्ट, लाइट और मोमबत्तियों से सजा क्रिसमस ट्री बेहद सुंदर दिखता है, लेकिन क्या कभी आपने सोचा क्रिसमस ट्री को सजाने की शुरुआत कैसे हुई और इसे क्यों सजाया जाता है? zoom ऐसा माना
24 दिसम्बर 2018
16 दिसम्बर 2018
जैसा कि आप सभी लोग जान रहे हैं कि आजकल शादियों का माहौल बड़े जोरों शोरों से चल रहा है आम लोग ही नहीं बल्कि यहां तक कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में भी शादियां बड़ी धूमधाम से हो रही है आजकल बॉलीवुड की मशहूर हस्तियों की महंगी शादियां काफी सुर्खियों में छाई हुई है वैसे देखा जाए तो ब
16 दिसम्बर 2018
17 दिसम्बर 2018
विधानसभा चुनावों में जीत के बाद अब कांग्रेस बड़ी ही जोर शोर से अपने मुख्यमंत्री पद के दावेदारों को पद की शपथ दिलाने की तैयारी में जुटे हुए हैं। बता दें कि भोपाल में कमलनाथ की ताजपोशी की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। कल सुबह यानी 18 दिसंबर को कमलनाथ जम्बूरी मैदान में मध्य प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री के
17 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x