Google ने विंटर सोलस्टाइस पर डूडल बनाकर साल की सबसे लंबी रात को चिन्हित किया - Winter Solstice in Hindi

20 दिसम्बर 2018   |  शब्दनगरी संगठन   (47 बार पढ़ा जा चुका है)

Google ने विंटर सोलस्टाइस पर डूडल बनाकर साल की सबसे लंबी रात को चिन्हित किया - Winter Solstice in Hindi

आज 21 दिसंबर यानि विंटर सोलस्टाइस है | गूगल ने इस खास अवसर पर Winter Solstice को दर्शाता हुआ डूडल बनाया है | आज उत्तरी गोलार्ध में रहने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए साल 2018 का सबसे छोटा दिन और सबसे लंबी रात है |

इस साल का विंटर सोलस्टाइस खास है क्योंकि इस साल विंटर सोलस्टाइस पूर्ण चंद्रमा की रात है, जिसे शीत चंद्रमा (Cold Moon) नाम दिया गया है | आज रात आकाश में उर्सिड उल्का शॉवर (Ursid meteor shower) दिखाई देगा।


आज पृथ्वी अपने अक्ष पर 23.5 डिग्री झुकी होती है | इस कारण उतरी गोलार्ध और सूर्य की दुरी बढ़ जाती है और मकर रेखा पृथ्वी के निकटतम होती है | इस कारण आज का दिन सबसे छोटा होता है | और इस कारण आज की रात साल की सबसे लम्बी रात होती है | चाँद की शीतल किरणों का प्रसार आज पूरे साल में सर्वाधिक होता है |


winter solstice 2018



शीतकालीन संक्रांति कब है?


राष्ट्रीय मौसम सेवा (एनडब्ल्यूएस) के मुताबिक, इस साल का विंटर सोलस्टाइस लगभग 5:23 ईटी (3:23 एमएसटी) पर होगा।

सूर्य दोपहर के आसपास अपनी सबसे कम ऊंचाई पर दिखाई देगा |


आज आम दिन के 12 घंटो के मुकाबले केवल 9 घंटे, 53 मिनट और 21 सेकंड के लिए ही रौशनी (Daylight) रहेगी |


</span><span style=Ursid meteor shower" />

गूगल ने क्यों बनाया डूडल ?


इस साल के शीतकालीन संक्रांति के साथ एक पूर्ण चंद्रमा और उल्का शॉवर होगी।

शीत चंद्रमा के नाम से जाना जाने वाला चंद्रमा सर्दियों के संक्रांति के एक दिन बाद 22 दिसंबर को दिखाई देगा । नासा के मुताबिक यह शीत चंद्रमा 12:49ET को पूरी तरह से दिखाई देगा।

नासा के मुताबिक, 2010 से सर्दियों के संक्रांति के साथ एक पूर्णिमा नहीं हुआ है और 20 9 4 तक सोलस्टिस में शामिल होने की उम्मीद नहीं है।


</span><span style=winter solstice" />

फॉर्च्यून की रिपोर्ट में कहा गया है कि वार्षिक उर्सिड उल्का शॉवर भी 21 दिसंबर और 22 दिसंबर को दिखने की उम्मीद है। आठ साल में पहली बार उर्सिड उल्का शॉवर और शीत चंद्रमा एक साथ दिखाई देंगे।


भारत के संदर्भ में

विंटर सोल्‍टाइस को भारत में दिसंबर दक्षिणायन कहा जाता है | पौराणिक मान्यतें यह भी है कि आज ही के दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण में प्रवेश करता हैं। आज के बाद से ही ठण्ड बढ़ जाती है | कई इतिहासकार और खगोलशास्त्री मानते है कि 1700 साल पहले आज के ही दिन 'मकर संक्रान्ति' मनाई गई थी | जो कि अब 14 जनवरी आती है। और आने वाले कुछ वर्षों में 15 जनवरी को मनाई जाएगी |


वहीं 'विंटर सोलस्टाइस' के ठीक विपरीत 20 से 23 जून के बीच 'समर सोलस्टाइस' भी मनाया जाता है। तब दिन सबसे लंबा और रात सबसे छोटी होती है तो वहीं 21 मार्च और 23 सितंबर को दिन और रात का समय बराबर होता है।


</span><span style=winter solstice in India" />

अगला लेख: मृतक दाता से प्राप्त गर्भाशय को प्रत्यारोपित कर हुआ विश्व के प्रथम बच्चे का जन्म



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x