Beginner Guide : अपनी वेबसाइट/ ब्लॉग की Traffic को बढ़ाने के लिए follow करें ये 9 टिप्स- IN HINDI

21 दिसम्बर 2018   |  अंकिशा मिश्रा   (54 बार पढ़ा जा चुका है)

Beginner Guide : अपनी वेबसाइट/ ब्लॉग की Traffic को बढ़ाने के लिए follow करें ये 9 टिप्स- IN HINDI

अपने हिंदी ब्लॉग (Hindi blog) और वेबसाइट (website) के ट्रैफिक को कैसे बढ़ायें ? यह 9 टिप्स आपके ब्लॉग के ट्रैफिक को न केवल बढ़ाएगा बल्कि गूगल पेज रैंक पर ऊपर भी लाएगा।


आजकल हर हिंदी लेखक हिंदी ब्लॉगिंग (Hindi blogging) का इस्तेमाल कर रहा है ताकि वह अपने ब्लॉग के ज़रिये अपने विचारों को लोगों के बीच साझा कर पाएं और उनसे जुड़े लोगों को विषय की जानकारी दे पायें। हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा है और कहा जाता है जिस भाषा में हम सोचते हैं उसमें अपने विचारों को वक्त करना आसान होता है। अपनी भावनाओं और विचारों को वक्त करने के लिए सबसे अच्छा मंच लेखन को माना जाता है, लेकिन इस मंच का उपयोग वही लोग सही ढंग से कर पाते हैं जो अपने शब्दों को पन्नों पर बखूबी उतरना जानते हैं। लेखन एक कला हैं और ऐसा माना जाता है की हर कोई कलाकार नहीं होता।


लेकिन यदि आपको एक अच्छा हिंदी ब्लॉग़र (Hindi blogger) बनना है और तो उसके लिए आपके ब्लॉग की पहुँच लोगों तक होनी चाहिए और बिना ट्रैफिक ये संभव नहीं है। इसलिए यदि आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर ट्रैफिक नहीं है तो आपका अच्छा लेखन व्यर्थ है। यदि आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट से कमाई की सोच रहें हैं तो भी बिना ट्रैफिक ये संभव नहीं है।


आज हम आपसे ऐसी ही कुछ ख़ास टिप्स साझा करने जा रहे हैं जिससे आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर ट्रैफिक ला सकते हैं और साथ ही ट्रैफिक में इजाफा भी कर सकते हैं। ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक ही आपके ब्लॉग या वेबसाइट को विश्वसनीय बनता है जिससे लोग आपके साथ लमसे समय तक जुड़े रहते हैं जो कि एक ब्लॉगर या वेबसाइट के लिए बहुत आवश्यक है। साथ ही अधिक ट्रैफिक आपके लिए कमाई का भी अच्छा साधन है।




हिंदी ब्लॉग या हिंदी वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाने के 9 आसान तरीके


1- उच्चतम गुणवत्ता का कंटेंट (High quality content)


आपका कंटेंट अच्छी क्वालिटी का होना चाहिए। अपने ब्लॉग में विषय से सम्बंधित अधिक से अधिक जानकारी दें और ऐसे जानकारी जो हर जगह उपलब्ध न हो। आपके ब्लॉग का कंटेंट अच्छा होना चाहिए ताकि लोग उसकी और आकर्षित हों और उसके पढ़ना चाहें। कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कि खुद को ब्लॉगर कहते हैं पर वे कंटेंट को कॉपी पेस्ट करके लिख देते हैं और गूगल को पागल बनाने की कोशिश करते हैं। और जनाब यदि आप सोच रहे हैं की आप गूगल को आसानी से पागल बना पा रहे हैं तो आप बिल्कुल गलत हैं। गूगल उन्ही आर्टिकल या ब्लॉग को इंडेक्स करता हैं जिसका कंटेंट अच्छा और ओरिजनल हो। इसलिए अच्छा और अधिक जानकारी वाला कंटेंट भी आपके ट्रैफिक बढ़ाने का एक तरीका है।


2- Backlinks बनायें


अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाने के लिए Backlinks बनाना बेहद ज़रुरी है। इससे आपके वेबसाइट का ट्रैफिक और उसकी विश्वसनीयता भी बढ़ती है। यदि आप हिंदी ब्लॉगर हैं और हिंदी में अपनी पहचान बनाना चाहते हैं तो shabd.in जो कि एक हिंदी ब्लॉगिंग और सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट है जिस पर आप गेस्टपोस्ट कर सकते हैं।


4- सोशल मीडिया शेयरिंग


हिंदी वेबसाइट या हिंदी ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ाने का एक बहुत ही महत्वपूर्ण साधन है। आजकल के व्यस्तता भरे दिन में लोग अपने लिए समय निकालें या न निकालें पर वो अपने व्यस्त दिन में से सोशल मीडिया के लिए ज़रूर समय निकलते हैं। इसलिए यदि आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने सोशल मीडिया पर एक्टिव हों और अपने आर्टिक्ल, ब्लॉग, वेबसाइट के लिंक को सोसाइल मीडिया पर ज़रुर शेयर करें। ताकि आपका ब्लॉग ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास पहुंचे और लोग उसे पढ़ें। उदहारण के लिए सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्विटर, गूगलप्लस, क्वोरा, इत्यादि पर अपने लिंक को शेयर कर सकते हैं। सोशल मीडिया ट्रैफिक गूगल रैंकिंग में भी बहुत सहायक होता है।



सलाह

  • एक फेसबुक पेज बनायें और फेसबुक पर बने हिंदी ग्रुपों पर अपने पेज को शेयर करें।

  • अधिक से अधिक सोशल मीडिया साइट्स से जुड़ें जैसे फेसबुक, ट्विटर, गूगलप्लस इत्यादि और इन साइट्स पर अपने पोस्ट के लिंक को शेयर करें।


चेतावनी

  • अपने ब्लॉग या पोस्ट के लिंक को बहुत अधिक फेसबुक ग्रुपों में शेयर न करें, अन्यथा फेसबुक आपके URL को ब्लॉक कर देगी।



5- नियमित पोस्ट लिखें


यदि आप एक ब्लॉगर हैं या आपकी वेबसाइट है और आप उस पर कभी कभी ही लिखते हैं तो जान लें कि न ही आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक आएगा और न ही आप कभी अपने ब्लॉग्स या वेबसाइट को विश्वसनीय बना पाएंगे। वेबसाइट या ब्लॉग पर नियमित पोस्ट डालने से ही आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक आता है। ब्लॉगिंग एक ऐसा काम है जिसमें धैर्य रखना बेहद ज़रूरी हो जाता है क्योंकि लोगों के बीच अपना नाम बनाना और उन्हें अपने ब्लॉग से जोड़ना इतना आसान नहीं होता। यदि आप इस ऐसा सोचते हैं की महीने में एक दिन एक पोस्ट लिखने से आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर ट्रैफिक आ जायेगा तो आप यहाँ आप गलत हैं। अधिक से अधिक ट्रैफिक के लिए आपको नियमित पोस्ट लिखना बहुत आवश्यक है।


6- ट्रैंडिंग टॉपिक्स का चुनाव


भागदौड़ भरी इस ज़िंदगी में लोगों को हर चीज़ की बहुत जल्दी रहती है। किसी पर इतना समय नहीं होता कि वह ऐसे मुद्दों के बारे में जाने जो बहुत पुराने हैं हर कोई बस वही जानना चाहता है जो इस वक्त चल रहा हैं तो आप अपने वेबसाइट या ब्लॉग के ट्रैफिक के लिए ट्रैंडिंग टॉपिक्स का सही चुनाव कर के भी इसे बढ़ा सकते हैं। आप उन विषयों पर लिख सकते हैं जो ट्रेंड में हैं और लोग जिसके बारे में जानना चाहते हैं। बता दें कि गूगल ट्रैंडिंग टॉपिक्स को भी जल्दी पिक करता है। इसके चलते आप अपने ट्रैफिक में इजाफा कर सकते है।


7- अच्छे ब्लॉग नाम और सही URL का चुनाव


यदि आप चाहते हैं कि लोग आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर आएं और आपके साथ लम्बे समय तक जुड़े रहें तो आपको सबसे पहले अपने ब्लॉग या वेबसाइट का ऐसा नाम रखना होगा जो लोगों को अपनी ओर आकर्षित करे और वो आपके साइट पर आने के लिए लिए मजबूर हो जायें। नाम के साथ ही सही URL का चुनाव भी बहुत आवश्यक है एक अच्छा और सही URL गूगल इंडेक्सिंग में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाने के लिए ब्लॉग या वेबसाइट का अच्छा नाम और सही URL का इस्तेमाल करना बहुत आवश्यक होता है।




8- की-वर्ड रिसर्च


अच्छा लिखना , लेख पर मेहनत करना तो तभी कारगर सिद्ध होता है जब वह लोगों के पास पहुँचता है, और यदि आपका लेख लोगों के पास पहुंच ही नहीं रहा तो उस पर की गई मेहनत बिल्कुल व्यर्थ है। इसलिए लिखने से पहले हमेशा ही की-वर्ड की सही रिसर्च करना बेहद आवश्यक है और उन्ही की-वर्ड्स को ध्यान में रखकर लिखें। ताकि यूज़र जिस की-वर्ड को सर्च करे तो आपका आर्टिकल भी उस तक पहुंचे। ऐसे की-वर्ड्स का चुनाव करें जिसे ज्यादा से ज्यादा लोग गूगल पर सर करते हों।


9- एक विशेष क्षेत्र पर ही ध्यान दें


कहते हैं न दो नावों में सवारी करने वाला हमेशा डूबता ही है ठीक उसी प्रकार अपने हिंदी ब्लॉग में अगर आप एक क्षेत्र पर फोकस न करते हुए कई टॉपिक्स पर लिखते है तो आपका ब्लॉग या वेबसाइट बिखर सा जाता है , और इससे यूज़र कन्फ्यूज़ हो जाता है कि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग है किस बारे में।


इसलिए एक विश्वसनीय वेबसाइट बनाने के लिए और लोगों को खुद के साथ जोड़ने के लिए एक विशेष क्षेत्र में ही काम करना चाहिए। उदाहरण के लिए यदि आपका ब्लॉग मनोरंजन, लाइफस्टाइल इत्यादि का है तो आप उन विषयों पर ही आर्टिकल लिखें ताकि लोगों को आपकी वेबसाइट से इस विषयों की जानकारी हो और वे आपसे लम्बे समय तक जुड़े रहें ये नहीं कि यूज़र आपके वेबसाइट पर मनोरंजन के लेख देखने आ रहा है और उसे स्वास्थ्य के लेख मिलते हैं। इससे आपके ब्लॉग की विश्वसनीयता भी कम होती है और लोग आपके ब्लॉग को महत्त्व भी नहीं देते साथ ही गूगल भी इसे ज्यादा तवज्जो नहीं देता। इसलिए एक ही क्षेत्र में फोकस आपके ट्रैफिक को बढ़ाने में भी एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है।




10- लाइट वेट थीम का इस्तेमाल


आपकी वेबसाइट की थीम लाइट वेट थीम और मोबाइल फ्रेंडली होनी चाहिए ताकि जब आप अपना लेख कहीं शेयर करते हैं तो वह आसानी से और जल्दी मोबाइल में खुल सके। आमतौर पर ऐसा देखा जाता है कि यदि कोई वेबसाइट हमारे मोबाइल में एक क्लिक पर नहीं खुलती हो हम उसे तुरंत बंद कर देते हैं और फिर इतना समय नहीं लगते उस पर कि दोबारा उससे देखें। इसलिए आपकी वेबसाइट यूज़र फ्रेंडली होनी चाहिए ताकि लोग उससे आसानी से जुड़ सके।



अगला लेख: Beginner Guide: जानें क्या है ब्लॉगिंग और इससे कैसे करें कमाई - What is Blogging in Hindi



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
25 दिसम्बर 2018
SEO ब्लॉग और लेख हमारी ऑनलाइन पीआर सेवाओं और सामाजिक मीडिया प्रबंधन का वास्तव में महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।SEO ब्लॉग और लेख हमारी ऑनलाइन पीआर सेवाओं और सामाजिक मीडिया प्रबंधन का वास्तव में महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।यदि आप भी एक अच्छे SEO लेख लेखक बनना चाहते हैं और अपने आर्
25 दिसम्बर 2018
24 दिसम्बर 2018
क्या आप जानते हैं ब्लॉग (Blog) क्या होता है ?ब्लॉगिंग (Blogging) कैसे करते हैं ?ब्लॉगिंग के कितने प्लेटफार्म होते हैं?ब्लॉग से पैसे कैसे कमायें ?हर हिंदी ब्लॉगर (Hindi Blogger) के मन में ये सवाल आते है। पर क्या आप इन सवालों के जवाब जानते हैं, अगर नहीं तो इस आर्टिकल को
24 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
नवज्योति इंडिया फाउंडेशन (Navjyoti India Foundation) एक गैर-लाभकारी संगठन है। जिसकी शुरुआत 1988 में प्रथम महिला आईपीएस (IPS) डॉ. किरण बेदी और दिल्ली पुलिस के 16 पुलिस अधिकारियों की टीम के द्वारा भारत में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध, निरक्षरता, भेद-भाव, जैसी समाज में फ़ैली विकृतियों को एक जुट होकर साम
21 दिसम्बर 2018
17 दिसम्बर 2018
भारत में लिंगानुपात का लगातार गिरना एक चिंता का विषय बनता जा रहा है। जिसके लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं बनाई गयी हैं।कन्या समृद्धि योजना भारत सरकार कन्याओं के सुनहरे भविष्य को सुरक्षित करने के लिए लेकर आयी है। बता दें कि देश में महिलाओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले काफ़ी कम है,जिसकी वजह से सरकार महिल
17 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x