SEO content writing guidelines : प्रोफेशनल SEO Writer बनने के 7 आसान तरीके In Hindi

25 दिसम्बर 2018   |  अंकिशा मिश्रा   (36 बार पढ़ा जा चुका है)

SEO content writing guidelines : प्रोफेशनल SEO Writer बनने के 7 आसान तरीके In Hindi

SEO ब्लॉग और लेख हमारी ऑनलाइन पीआर सेवाओं और सामाजिक मीडिया प्रबंधन का वास्तव में महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।



SEO ब्लॉग और लेख हमारी ऑनलाइन पीआर सेवाओं और सामाजिक मीडिया प्रबंधन का वास्तव में महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।यदि आप भी एक अच्छे SEO लेख लेखक बनना चाहते हैं और अपने आर्टिकल को गूगल पर रैंक करना चाहते हैं तो ये आर्टिकल आपके लिए हैं - आइये जानते हैं ये 7 तरीके जिससे आप एक अच्छे प्रोफेशनल SEO लेखक बन सकते हैं।


प्रोफेशनल SEO Writer बनने के 7 आसान तरीके

1- सही Keyword की रिसर्च करें


यदि आप बिना किसी कीवर्ड के अपनी साइट पर कंटेंट पोस्ट करते हैं तो आपको यह सुनिश्चित करने के लिए समय लग सकता कि Google आपके प्रयास पर ध्यान दे। इसलिए कोई भी कंटेंट लिखने से पहले ये सुनिश्चित कर लें कि उस विषय पर लोग कौन से की-वर्ड और वाक्यांश खोजते हैं उसकी अच्छी तरह रिसर्च करें और एक कीवर्ड स्प्रेडशीट बनायें ताकि कीवर्ड खोजने में आसानी रहे और की-वर्ड की मदद से आप एक अच्छा कंटेंट लिखें ताकि गूगल आपके अच्छे पोस्ट को आसानी से पहचान सके और आपका आर्टिकल गूगल पर रैंक कर सके। की-वर्ड रिसर्च के लिए आप SEMrush जैसी वेबसाइट की मदद भी ले सकते हैं।

2- सही जगह की-वर्ड का इस्तेमाल करें


एक समय था जब SEO लेखक अपने लेख में Keywords को ज़बरदस्ती डालते थे जहां ज़रूरत होती थी वहां भी और जहाँ नहीं होती थी वहां भी, लेकिन अब खेल बदल गया है अब की-वर्ड्स को ज़बरदस्ती आर्टिकल में ठूंसने से वो गूगल पर रैंक नहीं करता। इसलिए आर्टिकल में की-वर्ड्स ज़बरदस्ती डालने की वजह उसका सही से इस्तेमाल करना चाहिए। साथ ही उन की-वर्ड को डालना चाहिए जिसे लोग अधिक सर्च करते हैं।

अपने कीवर्ड को पहले 300 शब्दों में, और पहले H1 या H2 में शामिल करें। ये भी ज़रूरी नहीं है कि दोनों में की-वर्ड्स होने ही चाहिए, किसी एक में भी हो तब भी काम बन सकता है बशर्ते ज़बरदस्ती की-वर्ड्स का इस्तेमाल न किया जाये। साथ ही आपको अपने कीवर्ड की विविधताओं का उपयोग करने की कोशिश करनी चाहिए।

3- Readers के लिए लिखें Google के लिए नहीं


जब भी आप कुछ लिखने बैठे तो सबसे पहले ये सोचें की आप लिख किस के लिए रहे हो ? क्योंकि अक्सर बहुत से लेखक बस गूगल पर अपने लेख को कैसे रैंक कराएं इन सब के पीछे लग जाते हैं और ये भूल जाते हैं कि वे लेख लोगों के लिए लिख रहे हैं जो गूगल पर आकर उसे पढ़ेंगे। यानि सीधी बात अपना लेख गूगल के लिए न लिख कर अपने रीडर्स के लिए लिखना चाहिए। इससे जब आपके लेख को अधिक से अधिक लोग पढ़ेंगे तो गूगल उसे अपने आप टॉप पर ले आएगा। साथ ही विशेषज्ञों का साक्षात्कार करने से न डरें, यदि आप अपनी पोस्ट में उनकी विशेषज्ञता को शामिल करते हैं, तो वे आपके पोस्ट को अपने सोशल चैनलों पर भो साझा क्र सकते हैं जिससे आपके साथ और रीडर्स जुड़ते हैं और इस तरह आप अपना नेटवर्क भी बढ़ा सकते हैं और इसका लाभ भी उठा सकते हैं।




4- तकनीकी SEO की मूल बातें जानें

अगर आप एक लेखक हैं तो आपको इतना तकनीकी चीजों के बारे में जानने की कोई खास ज़रूरत नहीं है। लेकिन फिर भी, तकनीकी SEO के बारे में कुछ बातें जानने से आप बेहतर SEO लेखक बन सकते हैं। सबसे पहले, यह समझना कि Google कैसे पृष्ठों को क्रॉल करता है और लिंक प्राधिकरण को सौंपने से आपको एक रणनीति बनाने में मदद मिल सकती है।
यदि आपको इस बात की अच्छी समझ है कि आपका ब्लॉग कैसे काम करता है, जिससे आप अपने हिसाब से पोस्ट को पहले से अधिक अच्छा बना सकते हैं।

5- 600 से अधिक शब्दों का लेख लिखें


बहुत सारे शोध हुए हैं जो बताते हैं कि Search engines कम से कम 2,000 शब्दों की "इन-डेप्थ" वाली पोस्ट को ही वरीयता देता है। बता दें कि गूगल कम से कम 600 या उससे अधिक शब्द के आर्टिकल को ज्यादा अहमियत देता है। और अधिक से अधिक जानकारी वाले आर्टिकल को लोगों के साथ साथ गूगल भी अहमियत देता है जो कि आपकी वेबसाइट और ब्लॉग के लिए बहुत आवश्यक है।


6 - लगातार अपने लेखों को Edit करते रहें


एक SEO लेखक की ज़िम्मेदारी सिर्फ एक अच्छा लेख लिख कर पूरी नहीं होती।बल्कि समय समय पर अपने लेख को एडिट करना भी बहुत ज़रूरी होता है। साथ ही साथ अपने पोस्ट में और जानकारी भी डालना बेहद ज़रूरी होता है। इससे आपका आर्टिकल को गूगल पर रैंक करने में मदद मिलती है।


7 -अपनी खुद की ऑनलाइन पीआर एजेंसी बनायें

सिर्फ लेख लिखना और उसे पोस्ट कर देने से एक SEO लेखक का काम ख़त्म नहीं होता बल्कि ये केवल आधा काम होता है। बता दें कि SEO लेखन का अंतिम चरण आपके ऑनलाइन पीआर एजेंसी के रूप में कार्य कर रहा है - सभी जगह आपकी सामग्री के लिए लिंक। ब्लॉग पर टिप्पणी करें और अपनी साइट पर वापस लिंक करें। Reddit और StumbleUpon में अपना कंटेंट सबमिट करें।साथ ही अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी अपने पोस्ट के लिंक डालें।


अगला लेख: 3 फ़ीट की इस महिला IAS अफसर ने किया ऐसा काम, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हुए मुरीद



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
24 दिसम्बर 2018
आजकल शादियों का सीजन चल रहा है। और किसी भी शादी में छोटी-मोटी भूल-चूक, नाराज़गी होना तो आम बात है। लेकिन जब इन छोटे छोटे बातों का लोग मुद्दा बना देते हैं तो शादी के रंग में भंग पड़ते देर नहीं लगती। जिसके चलते कभी कभी नौबत शादी टूटने तक भी आ जाती है। आपने शादी टूटने के कई कि
24 दिसम्बर 2018
19 दिसम्बर 2018
क्रिसमस ईसाई समुदाय का सबसे बड़ा त्यौहार है । जैसे हिन्दू समुदाय के लिए दीपावली, मुस्लिम समुदाय के लिए ईद और सिख समुदाय के लिए लोहड़ी का त्यौहार होता है ठीक उसी तरह क्रिसमस ईसाई समुदाय का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण त्यौहार होता है। क्रिसमस हर साल 25 दिसंबर के दिन मनाया जाता
19 दिसम्बर 2018
12 दिसम्बर 2018
न्यायपालिका प्रजातंत्र के चार स्तम्भों में से एक है। न्यायपालिका ही वो जगह है जहाँ हर किसी को इंसाफ मिलता है और अपने हक़ मिलते है। आज उसी न्यायपालिका में अपने हक़ की लड़ाई हमेशा लड़ती आ रहीं ट्रांसजेंडर स्वाति बरूआ न्याय की कुर्सी पर बैठ के न्याय करेंगी।बता दें कि 26 वर्षीय स्वाति अब असम की पहली और देश
12 दिसम्बर 2018
28 दिसम्बर 2018
चांद पर दाग हो तो चलता है, लेकिन आपके चांद से चेहरे पर दाग हो तो फिर मुश्किलें बढ़ जाती हैं। साथ ही अगर बात ख़ूबसूरती की आती है तो गोरा रंग सबसे पहले दिमाग में आता है। हर कोई चाहता है कि उसका चेहरा सबसे अच्छा औऱ खूबसूरत दिखे। सांवले रंगत की शक्ल भी अपने आप में खूबसूरत
28 दिसम्बर 2018
25 दिसम्बर 2018
★ नेहरू जी ने #नेशनल हेराल्ड नामक अखबार 1930 में शुरू किया। धीरे-धीरे इस अखबार ने 5000/- करोड़ की संपत्ति अर्जित कर ली। सन् 2000 में यह अखबार घाटे में चला गया और इस पर 90 करोड़ का कर्जा हो गया।★ "नेशनल हेराल्ड" की तत्कालीन डायरेक्टर्स, सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी और मोतीलाल वोरा ने, इस अखबार को यंग इं
25 दिसम्बर 2018
12 दिसम्बर 2018
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में फुटपाथ पर एक अलग ही दुनिया बसती है।जिसमें अधिकतर बसेरा बच्चों का हैं।ये बच्चे न जाने रोज़ कितने समस्याओं से झुझते हैं जिसमें नशे की लत, अभद्र व्यवहार और हिंसा का शिकार तो जैसे
12 दिसम्बर 2018
19 दिसम्बर 2018
Saikripa-Home for Homeless“साईंकृपा ( SaiKripa) - Saikripa-Home for Homeless दिल्ली एनसीआर में स्थित एक NGO (गैर-सरकारी संगठन ) है, जो कि वंचित बच्चों को पढ़ाने और उन्हें जीवन को नई दिशा देने का कार्य करता है।” बच्चे मानव जाति का भविष्य हैं। “Saikripa-Home for Homeles
19 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
Third party image referenceदोस्तों आप तो अपने हाथों के ऊँगली में यह निशान अक्सर देखते है। यह निशान किसीके हाथों में ज्यादा होता होता है और वही किसीके की हाथों में कम होता है। लेकिन जो भी हो क्या अापने कभी यह निशान आखिर क्यों आपके उंगलियों पर दिखते है यह अपने कभी सोचा है है ? आज हम इसी विषय पर बात कर
21 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x