3 फ़ीट की इस महिला IAS अफसर ने किया ऐसा काम, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हुए मुरीद

26 दिसम्बर 2018   |  अंकिशा मिश्रा   (239 बार पढ़ा जा चुका है)

3 फ़ीट की इस महिला IAS अफसर ने किया ऐसा काम, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हुए मुरीद

इंसान नहीं इंसान का काम बोलता है ये लाइन अपने कई बार सुनी होगी। आज ऐसे ही एक महिला IAS की कहानी हम आपको बताने जा रहे हैं जिसने इस वाक्य को सही ठहरा दिया।देहरादून में पली-बढ़ी IAS अफसर आरती डोगरा अपने काम के ज़रिये सुर्खियों में बनी रहती हैं। ये ही नहीं इन्होंने ऐसे ऐसे काम किये हैं की खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इनके कामों से बहुत प्रभावित हुए हैं। इंसान चाहे सुन्दर हो या न हो, गरीब हो या अमीर, लम्बा हो या कम हाईट का अगर उसमे कुछ कर दिखने का जुनून है तो दुनिया की कोई भी ताकत उसे नहीं रोक सकती। कुछ ऐसा ही कर दिखाया 3 फ़ीट की महिला IAS अफसर ने जिसकी चर्चाएं ज़ोरों पर हैं। अपनी पढ़ाई और कड़ी मेहनत से आज उनके सामने ऊँचे कद के बड़े बड़े लोग उनके आगे झुकते हैं।


सिर्फ 3 फ़ीट की हैं ये महिला IAS अफ़सर




वर्ष 2006 में पास आउट हुई IAS आरती डोगरा भली ही कद में छोटी हों लेकिन उन्होंने अपने प्रशासनिक फैसलों से न सिर्फ राजस्थान के लिए बल्कि पूरी देश की महिलाओं के लिए मिसाल बनने का काम किया है। 18 दिसंबर को राजस्थान के नए मुख्यमंत्री ने अपना कार्यभार सँभालने हुए एक बड़ा फैसला लिया, जिसमें उन्होंने 40 IAS अफसरों का तबादला कराया। सूबे में हुए इस अहम् प्रशासनिक बदलाव के साथ ही आरती डोगरा को संयुक्त सचिव् की ज़िम्मेदारी दी गई। बता दें कि इससे पहले आरती अजमेर में कलेक्टर के पद पर कार्यरत थीं और अपनी क़ाबलियत का लोहा मनवा चुकी हैं। डोगरा अजमेर से पहले बीकानेर कलेक्टर सहित कई अन्य पदों पर भी कार्य कर चुकीं हैं। प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी भी कई बार उनकी तारीफ़ कर चुके हैं। IAS आरती के मुताबिक, इंसान को लड़की और लड़के में कभी फ़र्क नहीं करना चाहिए और अगर कोई महिला अफसर बन जाये तो उसके साथ भी पुरुष अफसर जैसा सामान व्यवहार करना चाहिए।


एक अवार्ड इवेंट में आरती ने बताया कि जब वह IAS बनी थीं तो सभी लोग उनके घर उन्हें बधाई देने आये थे, उन्हीं में से एक ने मेरी माँ से कहा कि “आपकी बेटी ने बेटे की कमी पूरी कर दी” इसके जवाब में मेरी माँ ने कहा “बेटे की कमी कभी थी ही नहीं, वो हमारी बेटी है और उसने अपना काम किया है और हमारा नाम रोशन किया है”


IAS आरती डोगरा द्वारा किये गए कार्य

मोदी सरकार ने देश में स्वच्छ भारत अभियान चलाया जिसमें देश से गंदगी साफ करने की जिम्मेदारी यहां रहने वाले हर नागरिक की हो गयी। इसी दौरान खुले में शौच नहीं करने की मुहीम चलाई गई और कई गांवों में शौचालय बनवाए गए. उस दौरान आरती बीकानेर में कलेक्टर के पद पर कार्यरत रहीं और उन्होंने ‘बंको बिकाणो’ नाम का एक कैंपेन चलाया जिसके अंतर्गत खुले में शौच नहीं करने के लिए लोगों को प्रेरित किया गया। एडमिनिस्ट्रेशन के लोग सुबह 4 बजे से ही उस गांव और आस-पास के इलाकों में घूमकर खुले में शौच करने वालों को रोकते थे। उनके रहते गांवों में पक्के शौचालय भी बनाए गए इसकी मॉनीटरिंग मोबाइल सॉफ्टवेयर के जरिए की जाती थी।




एक रिपोर्ट के मुताबिक यह कैंपेन 195 ग्राम पंचायतों में चलाया गया। इस कैंपेन की कामयाबी के बाद आस-पास के जिलों में भी इस काम को किया गया और आरती डोगरा की खूब प्रशंसा हुई। आपको बता दें कि आरती डोगरा को स्टेट लेवल से लेकर नेशनल लेवल तक कई अवॉर्ड्स मिल चुके हैं।



अगला लेख: SEO content writing guidelines : प्रोफेशनल SEO Writer बनने के 7 आसान तरीके In Hindi



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
28 दिसम्बर 2018
चांद पर दाग हो तो चलता है, लेकिन आपके चांद से चेहरे पर दाग हो तो फिर मुश्किलें बढ़ जाती हैं। साथ ही अगर बात ख़ूबसूरती की आती है तो गोरा रंग सबसे पहले दिमाग में आता है। हर कोई चाहता है कि उसका चेहरा सबसे अच्छा औऱ खूबसूरत दिखे। सांवले रंगत की शक्ल भी अपने आप में खूबसूरत
28 दिसम्बर 2018
12 दिसम्बर 2018
न्यायपालिका प्रजातंत्र के चार स्तम्भों में से एक है। न्यायपालिका ही वो जगह है जहाँ हर किसी को इंसाफ मिलता है और अपने हक़ मिलते है। आज उसी न्यायपालिका में अपने हक़ की लड़ाई हमेशा लड़ती आ रहीं ट्रांसजेंडर स्वाति बरूआ न्याय की कुर्सी पर बैठ के न्याय करेंगी।बता दें कि 26 वर्षीय स्वाति अब असम की पहली और देश
12 दिसम्बर 2018
17 दिसम्बर 2018
भारत में लिंगानुपात का लगातार गिरना एक चिंता का विषय बनता जा रहा है। जिसके लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं बनाई गयी हैं।कन्या समृद्धि योजना भारत सरकार कन्याओं के सुनहरे भविष्य को सुरक्षित करने के लिए लेकर आयी है। बता दें कि देश में महिलाओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले काफ़ी कम है,जिसकी वजह से सरकार महिल
17 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
Guest Post क्या है ?Guest Post करना क्यों ज़रूरी हैं ?Guest Post करने के फ़ायदे Guest Post करते समय किन-किन बातों का ध्यान दें ?शब्दनगरी पर Guest Post करें यदि आप एक हिंदी ब्लॉगर (Hindi Bloggar) हैं तो आपका यह जानना ज़रूरी है कि Guest Post क्या है ? ये करना क्यों ज़रूरी ह
26 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
अपने हिंदी ब्लॉग (Hindi blog) और वेबसाइट (website) के ट्रैफिक को कैसे बढ़ायें ? यह 9 टिप्स आपके ब्लॉग के ट्रैफिक को न केवल बढ़ाएगा बल्कि गूगल पेज रैंक पर ऊपर भी लाएगा। आजकल हर हिंदी लेखक हिंदी ब्लॉगिंग (Hindi blogging) का इस्तेमाल कर रहा
21 दिसम्बर 2018
19 दिसम्बर 2018
क्रिसमस ईसाई समुदाय का सबसे बड़ा त्यौहार है । जैसे हिन्दू समुदाय के लिए दीपावली, मुस्लिम समुदाय के लिए ईद और सिख समुदाय के लिए लोहड़ी का त्यौहार होता है ठीक उसी तरह क्रिसमस ईसाई समुदाय का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण त्यौहार होता है। क्रिसमस हर साल 25 दिसंबर के दिन मनाया जाता
19 दिसम्बर 2018
04 जनवरी 2019
2019 लोकसभा चुनावों को लेकर सारी पार्टियां अपने जीत की जद्दोज़हद में लग गए हैं। इस बार पूरा विपक्ष एक होता दिख रहा है वहीं मोदी सरकार की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं। लेकिन एक कहावत है कि जंगल में एक ही शेर होता है और भाजपा इस वाक्य को सही साबित करने में लगी हुई है। इसी के चलते अभी बाकि पार्टियां
04 जनवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x