बिहार: डायन करार देकर महादलित बुज़ुर्ग महिला की चाकू से काटी जीभ |

26 दिसम्बर 2018   |  कुनाल मंजुल   (98 बार पढ़ा जा चुका है)

बिहार: डायन करार देकर महादलित बुज़ुर्ग महिला की चाकू से काटी जीभ |

बिहार में महिलाओं के साथ बलात्कार, छेडछाड़, अपहरण, दहेज के लिए हत्या एवं प्रताड़ना के मामलें तेजी से बढ़ा है। बिहार में इस बढ़ते हुए महिला अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताज़ा मामले की बात करें तो बिहार के रोहतास जिले के तिलौथु थाना क्षेत्र में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना हुई। बुजुर्ग महिला पर डायन होने का आरोप लगा कर उसकी जीभ काट दी गई।


बिहार के रोहतास जिले के रेडिया गाँव में रविवार को गांव के कई लोगों ने महादलित समुदाय की 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला पर डायन होने का आरोप लगाया जिसके बाद कुछ अपराधियों ने चाकू से उसकी जीभ काट दी और सिर पर लोहे के रॉड से प्रहार किया। घटना के बाद स्थानीय ग्रामीणों ने बिहार के सासाराम सदर अस्पताल में लाया जिसके बाद बुज़ुर्ग महिला की हालत गंभीर बनी है।


रेडिया गांव निवासी 70 वर्षीय विधवा बुजुर्ग महिला अपने एक पोते व दो पोतियों के साथ सोई हुई थी। पोती 16 वर्षीय संतरा ने बताया कि कुछ लोग शनिवार देर रात को जबरदस्ती घर में घुस गए और उसकी दादी पर ताबतोड़ चाक़ू से कई वार किये उनकी जीभ काट दी। वही गाँव वाले भी इस में शामिल है क्यूंकि दादी पर जादू-टोना करने का आरोप लगाया है।


इस मामले में बुज़ुर्ग महिला की प्रारम्भिक इलाज़ करने वाले डॉ डी. एन. प्रसाद ने बताया कि महिला की स्तिथि बहुत गंभीर बनी होने के बाद उसको रेफर कर दिया गया। वही थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार ने बताया कि महिला बयान देने की स्तिथि में नहीं है। परिजन से जानकारी लेने के बाद प्राथमिकता दर्ज़ की जा चुकी है।


हालांकि बिहार के रोहतास जिले में ऐसी कोई पहली घटना नहीं जब किसी दलित महिला को डायन करार दे उसके मौत के घाट न उतरे गए हो। इससे पहले सितम्बर 2018 में बिहार के रोहतास जिले के डेहरी में महा दलित महिला की पडोसी द्वारा डायन बता कर लोहे के रॉड से हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद महिला के पति ऐसे स्तिथि देख कर हार्डअटेक द्वारा मृत्यु हो गई थी।


इतना ही नहीं 20 अगस्त को भोजपुर जिले के बिहिया थाना क्षेत्र में एक युवक की हत्या के संदेह में एक महिला को कथित तौर पर निर्वस्त्र कर घुमाया गया। उस महिला पर भी स्थानीय लोगों द्वारा डायन होने का आरोप लगाया गया।


बिहार में महिलाओं पर बढ़ते आपराधिक आकड़ों की बात करें तो पिछले दो महीने में इस में एक प्रतिशत की भी कमी नहीं आई है। महिला उत्पीड़न को लेकर जुलाई, अगस्त, सितम्बर में पुरे बिहार में 1832 मामले दर्ज़ किये गए, वही SC-ST उत्पीड़न के 990 मामले दर्ज़ किये गए।


इस मामले में राज्य के पुलिस मुख्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक वर्ष 2017 के दौरान प्रदेश में महिला अपराध से जुडे़ कुल 15,784 मामले दर्ज़ की जब की वर्ष 2018 के जून तक बिहार में महिला अपराध के कुल 7683 मामले दर्ज़ हुए।


इस मामले में बिहार के अपर पुलिस महानिर्देशक संजीव कुमार ने जानकारी साझा करते हुए बताया कि पुलिस द्वारा विधि-व्यवस्था कायम रखने के कारण अपराध के ग्राफ लगातार गिर रहे है। हालांकि उन्होंने ये बात स्वीकार किया कि कुछ घटनाओं के कारण बिहार में पुलिस की छवि नकारात्मक बनी हुई है।

http://twocircles.net/2018oct23/426630.html

अगला लेख: जब 101 साल की इस चायवाली दादी से मिले अनुपम खेर, ये नहीं देखा तो क्या देखा!



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
26 दिसम्बर 2018
8 नवंबर 2016 की नोटबंदी के बाद नोटों की दुनिया में क्रांति आ गई. कुछ बंद हो गए, कुछ नए आ गए, बाकियों का नाक-नक्शा बदल गया. पुराने वाले हज़ार-पांच सौ लापता हो गए. दो हज़ार और दो सौ के नए नोट दिखने लगे. जो बचे थे उनके साथ दिवाली खेली गई. आई मीन जैसे दिवाली पर घर को नया रंग-र
26 दिसम्बर 2018
31 दिसम्बर 2018
क्या आपके मन में भी कभी ये ख्याल आता है कि आखिर क्यों हर साल न्यू ईयर पर कैलेंडर की तारीखों में बदलाव होता रहता है।आखिर क्यों हर साल त्योहारों से लेकर जन्मदिन तक की सारी तारीखें बदल जाती हैं।अगर आपके मन को भी इन सवालों ने परेशान कर रखा है तो आइए जानते हैं न्यू ईयर मनाने की शुरुआत सबसे पहले कब और कैस
31 दिसम्बर 2018
31 दिसम्बर 2018
अगर आप ऑफिस जाते हैं तो आपको छुट्टियों की कीमत तो पता होगी क्योंकि हर एम्प्लॉयी को हर महीने कुछ ही छुट्टियां मिलती हैं लेकिन अगर छुट्टियां ज्यादा हो जाएं तो फिर क्या बात है, दरअसल अगर किसी शख्स को कुछ ज्यादा छुट्टियां मिलती हैं तो वो अपनी फैमिली या फ्रेंड्स के साथ आसानी स
31 दिसम्बर 2018
31 दिसम्बर 2018
वर्तमान समय में किसी भी इंसान को समझ पाना काफी कठिन है किस के मन में क्या है और कब कौन आपको धोखा दे दे इस बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता इसलिए व्यक्ति को अपनी तरफ से ही बचने की कोशिश करनी चाहिए आप सभी लोग आचार्य चाणक्य जी को तो जानते ही हैं इन्होंने “चाणक्य नीति” नामक ए
31 दिसम्बर 2018
24 दिसम्बर 2018
जहां प्रिया प्रकाश वारियर अपनी मुस्कान और कातिलाना निगाहों से हर युवा दिल की धड़कन बनी हुई हैं और देखते ही देखते महज कुछ दिनों में देश-दुनियाभर में छा गईं हैं, अब इसी कड़ी में एक और भारतीय इन्टरनेट पर छाया हुआ है। जहाँ अमूमन इन्टरनेट सेंसेशन बॉलीवुड की हसीनाएं, क्रिकेटरर्स, कॉमेडियंस होते हैं, वहीं यह
24 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x