जब दुनिया ने ठीक से जीना नहीं सीखा था, तब नालंदा ने पढ़ना सिख लिया था

26 दिसम्बर 2018   |  रेखा यादव   (1196 बार पढ़ा जा चुका है)

जब दुनिया ने ठीक से जीना नहीं सीखा था, तब नालंदा ने पढ़ना सिख लिया था

यूनेस्को द्वारा नालंदा यूनिवर्सिटी को वर्ल्ड हेरिटेज साइट का दर्ज़ा दिया गया ।

'नालंदा' नाम की उत्पत्ति 3 संस्कृत शब्दों के संयोजन से हुई: "ना", "आलम" और "दा", जिसका अर्थ है 'ज्ञान के उपहार को ना रोकना'।

नालंदा यूनिवर्सिटी दुनिया की सबसे प्राचीन रेज़िडेंशियल यूनिवर्सिटी में से एक है |

जब दुनिया ने ठीक से जीना नहीं सीखा था, तब नालंदा ने पढ़ना सिख लिया था !



पाली भाषा का उपयोग नालंदा विश्वविद्यालय में पढ़ाने के लिए किया जाता है।


1193 में बख्तियार खिलजी के अधीन एक सेना द्वारा नालंदा में तोड़फोड़ की गई और नष्ट कर दिया गया। बख्तियार खिलजी ने विश्वविद्यालय को यह सोचकर नष्ट कर दिया कि यह साम्राज्य का किला है।

नालंदा विश्वविद्यालय में पढ़ाने के लिए पाली भाषा का उपयोग किया जाता है। नालंदा में एक वक़्त था जब 2 हज़ार से अधिक शिक्षक और 10 हज़ार छात्र छात्रा पढ़ने आते थे।

अगर आप इसकी तुलना 378 साल पुरानी हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से भी करें, तो उसमें 2,400 शिक्षक और 21 हज़ार छात्र हैं।

2006 में पूर्व राष्ट्रपति ए. पी. जे. अब्दुल कलाम के द्वारा नालंदा यूनिवर्सिटी को दोबारा जीवन देने का अवसर प्राप्त हुआ । इसके लिए बिहार सरकार के द्वारा राजगीर में यूनिवर्सिटी के लिए 450 एकड़ ज़मीन खरीदी गई ।

उसके बाद नोबेल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन की अगुवाई में 2007 में परियोजना की निगरानी के लिए टीम का गठन किया गया।

जब दुनिया ने ठीक से जीना नहीं सीखा था, तब नालंदा ने पढ़ना सिख लिया था

अगला लेख: लक्ष्मीपुराण : इंसान का अच्छा वक्त आने से पहले महालक्ष्मी इंसान को देती हैं 8 तरह के संकेत



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
26 दिसम्बर 2018
Guest Post क्या है ?Guest Post करना क्यों ज़रूरी हैं ?Guest Post करने के फ़ायदे Guest Post करते समय किन-किन बातों का ध्यान दें ?शब्दनगरी पर Guest Post करें यदि आप एक हिंदी ब्लॉगर (Hindi Bloggar) हैं तो आपका यह जानना ज़रूरी है कि Guest Post क्या है ? ये करना क्यों ज़रूरी ह
26 दिसम्बर 2018
11 दिसम्बर 2018
आज हम आपके लिए कुछ ऐसी तस्वीरें लेकर आए हैं, जिन्हें देखने के बाद आप समझ जाएंगे कि इंसान के पास कार हो ना हो बाइक जरूर होनी चाहिए।इन्होंने बाइक में जितना सामान लाद रखा है इतना तो कार में भी नहीं आएगा।Third party image referenceयह महाशय उनसे भी एक कदम आगे निकल गए।Third party image referenceवाह क्या ब
11 दिसम्बर 2018
25 दिसम्बर 2018
SEO ब्लॉग और लेख हमारी ऑनलाइन पीआर सेवाओं और सामाजिक मीडिया प्रबंधन का वास्तव में महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।SEO ब्लॉग और लेख हमारी ऑनलाइन पीआर सेवाओं और सामाजिक मीडिया प्रबंधन का वास्तव में महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।यदि आप भी एक अच्छे SEO लेख लेखक बनना चाहते हैं और अपने आर्
25 दिसम्बर 2018
14 दिसम्बर 2018
बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो कि अपने आपको स्लिम और फिट दिखाने की चाह में कई तरह के तरीकों को अपनाते हैं, जैसे कि डाइटिंग, दवाइयां, जिम में घंटों कसरत करना आदि। अक्सर ही हम इस बात को भी नजरअंदाज कर देते हैं कि जो हम कोशिश कर रहे हैं क्या वह हमारे शरीर को फिट बनाने की बजाए नुकसान तो नहीं दे रही। बहुत स
14 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
Third party image referenceदोस्तों आप तो अपने हाथों के ऊँगली में यह निशान अक्सर देखते है। यह निशान किसीके हाथों में ज्यादा होता होता है और वही किसीके की हाथों में कम होता है। लेकिन जो भी हो क्या अापने कभी यह निशान आखिर क्यों आपके उंगलियों पर दिखते है यह अपने कभी सोचा है है ? आज हम इसी विषय पर बात कर
21 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x