पुराना कैलेंडर रखना क्यों माना जाता है अशुभ, क्यों बदलते हैं हर साल कैलेंडर , समझें कैलेंडर का पूरा विज्ञान ?

31 दिसम्बर 2018   |  कुनाल मंजुल   (59 बार पढ़ा जा चुका है)

पुराना कैलेंडर रखना क्यों माना जाता है अशुभ,  क्यों बदलते हैं हर साल कैलेंडर , समझें कैलेंडर का पूरा विज्ञान ?

क्या आपके मन में भी कभी ये ख्याल आता है कि आखिर क्यों हर साल न्यू ईयर पर कैलेंडर की तारीखों में बदलाव होता रहता है।आखिर क्यों हर साल त्योहारों से लेकर जन्मदिन तक की सारी तारीखें बदल जाती हैं।अगर आपके मन को भी इन सवालों ने परेशान कर रखा है तो आइए जानते हैं न्यू ईयर मनाने की शुरुआत सबसे पहले कब और कैसे हुई।साथ ही किस धर्म में कब मनाया जाता है नया साल।

जूलियस सीजर ने की थी पहले कैलेंडर की स्थापना

न्यू ईयर मनाने की परंपरा करीब 4000 साल पुरानी बताई जाती है।कहा जाता है कि सबसे पहले नया साल 21 मार्च को बेबीलोन में मनाया गया।ये वो समय था जब रोम के तानाशाह जूलियस सीजर ने ईसा पूर्व 45वें वर्ष में जूलियन कैलेंडर की स्थापना की, उस समय विश्व में पहली बार 1 जनवरी को नए वर्ष का जश्न मनाया गया।हालांकि कुछ समय बाद इस कैलेंडर में कुछ खामियों की वजह से पोप ग्रेगारी ग्रेगेरियन कैलेंडर लेकर आए जो कि जूलियन कैलेंडर का ही रूपांतरण है।

कैलेंडर का पूरा इतिहास मौसमों के चक्र की समझ से जुड़ा हुआ है।2000 साल के इतिहास में कैलेंडर में बहुत से संशोधन करने पड़े थे।ऐसा इसलिए भी था क्योंकि हम बहुत धीरे-धीरे ये जान पाए थे कि कि हमारी पृथ्वी सूरज का एक चक्कर ठीक-ठीक कितने समय में लगाती है।वैसे एक साल का हिसाब बनाने के लिए चांद भी बहुत काम आया।बहरहाल इसी आधार पर दुनिया के तमाम देशों ने अपने-अपने कैलेंडर बनाएं।दुनिया में इस समय सैकड़ों कैलेंडर अस्तित्व में हैं, जिसमें भारतीय पंचांग भी शामिल हैं।

हिंदू नववर्ष

हिंदू नववर्ष की शुरुआत चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा से मानी जाती है।इसे नव संवत कहते हैं।मान्यता है कि भगवान ब्रह्मा ने इसी दिन से सृष्टि की रचना प्रारंभ की थी। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह तिथि अप्रैल में आती है।

इस्लामी नववर्ष

इस्लामी कैलेंडर के अनुसार, मोहर्रम महीने की पहली तारीख को मुस्लिम लोगों का नया साल हिजरी शुरू हो जाता है।ये कैलेंडर चंद्र पर आधारित होता है।

जैन नववर्ष

जैन नववर्ष दीपावली से अगले दिन शुरू हो जाता है। मान्यता के अनुसार, भगवान महावीर स्वामी को दीपावली के दिन ही मोक्ष की प्राप्ति हुई थी।इसके अगले दिन ही जैन धर्म के अनुयायी नया साल मनाते हैं। इसे वीर निर्वाण संवत कहते हैं।

सिक्ख नववर्ष

पंजाब में नया साल बैसाखी पर्व के रूप में मनाया जाता है। जो अप्रैल में आता है। सिक्ख नानकशाही कैलेंडर के अनुसार, होला मोहल्ला (होली के दूसरे दिन) नया साल होता है।



https://www.amarujala.com/lifestyle/new-year-2019-know-why-does-the-calendar-dates-change-every-year?fbclid=IwAR2mn0wxgdB98IEzeuSrvwgheXJpbqs8k3WEYsjzwoA_kH_hmY5_24FtK5Q

अगला लेख: एक वीडियो जो आपको मजबूर कर देगा ये मानने के लिए कि भारत को अंग्रेजों ने बस 99 साल के लिए आजाद किया था?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
03 जनवरी 2019
बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर सोशल मीडिया पर काफ़ी एक्टिव रहते हैं। हाल ही में अनुपम खेर ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट किया है। इस वीडियो में वो एक चाय बेचने वाली महिला के साथ बातचीत कर रहे हैं। ये वीडियो लोग बेहद पसंद कर रहे हैं।वीडियो में जो महिला दिखाई दे रही
03 जनवरी 2019
26 दिसम्बर 2018
8 नवंबर 2016 की नोटबंदी के बाद नोटों की दुनिया में क्रांति आ गई. कुछ बंद हो गए, कुछ नए आ गए, बाकियों का नाक-नक्शा बदल गया. पुराने वाले हज़ार-पांच सौ लापता हो गए. दो हज़ार और दो सौ के नए नोट दिखने लगे. जो बचे थे उनके साथ दिवाली खेली गई. आई मीन जैसे दिवाली पर घर को नया रंग-र
26 दिसम्बर 2018
25 दिसम्बर 2018
★ नेहरू जी ने #नेशनल हेराल्ड नामक अखबार 1930 में शुरू किया। धीरे-धीरे इस अखबार ने 5000/- करोड़ की संपत्ति अर्जित कर ली। सन् 2000 में यह अखबार घाटे में चला गया और इस पर 90 करोड़ का कर्जा हो गया।★ "नेशनल हेराल्ड" की तत्कालीन डायरेक्टर्स, सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी और मोतीलाल वोरा ने, इस अखबार को यंग इं
25 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
8 नवंबर 2016 की नोटबंदी के बाद नोटों की दुनिया में क्रांति आ गई. कुछ बंद हो गए, कुछ नए आ गए, बाकियों का नाक-नक्शा बदल गया. पुराने वाले हज़ार-पांच सौ लापता हो गए. दो हज़ार और दो सौ के नए नोट दिखने लगे. जो बचे थे उनके साथ दिवाली खेली गई. आई मीन जैसे दिवाली पर घर को नया रंग-र
26 दिसम्बर 2018
25 दिसम्बर 2018
SEO ब्लॉग और लेख हमारी ऑनलाइन पीआर सेवाओं और सामाजिक मीडिया प्रबंधन का वास्तव में महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।SEO ब्लॉग और लेख हमारी ऑनलाइन पीआर सेवाओं और सामाजिक मीडिया प्रबंधन का वास्तव में महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।यदि आप भी एक अच्छे SEO लेख लेखक बनना चाहते हैं और अपने आर्
25 दिसम्बर 2018
27 दिसम्बर 2018
बोधगया में है 2650 साल पुराना यह बोधिवृक्ष। बोधिमंदिर सहित इस वृक्ष की सुरक्षा में बिहार मिलिट्री पुलिस की चार बटालियन (करीब 360 जवान) तैनात हैं।इसकी टहनियां इतनी विशाल हैं कि इसे लोहे के 12 पिलर के सहारे खड़ा किया गया है। संभवत: यह देश का अकेला वृक्ष है, जिसके दर्शन के लिए हर साल 5 लाख से ज्यादा श्र
27 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
Third party image referenceदोस्तों आप तो अपने हाथों के ऊँगली में यह निशान अक्सर देखते है। यह निशान किसीके हाथों में ज्यादा होता होता है और वही किसीके की हाथों में कम होता है। लेकिन जो भी हो क्या अापने कभी यह निशान आखिर क्यों आपके उंगलियों पर दिखते है यह अपने कभी सोचा है है ? आज हम इसी विषय पर बात कर
21 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
बिहार में महिलाओं के साथ बलात्कार, छेडछाड़, अपहरण, दहेज के लिए हत्या एवं प्रताड़ना के मामलें तेजी से बढ़ा है। बिहार में इस बढ़ते हुए महिला अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताज़ा मामले की बात करें तो बिहार के रोहतास जिले के तिलौथु थाना क्षेत्र में मानवता को शर्मसार करने
26 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
:मध्य प्रदेश की नई सरकार में वादे के अनुसार जगह ना मिलने से 3 निर्दलीय विधायक समेत सपा और बसपा के विधायक भी खासे नाराज हैं, तीनों निर्दलियों के साथ सपा और बसपा के दोनों विधायकों ने एक होटल में मीटिंग की है। शपथ ग्रहन समारोह के बाद निर्दलयी विधायक सुरेन्द्र सिंह उर्फ शेरा
26 दिसम्बर 2018
28 दिसम्बर 2018
हमारे देश में लोग कहते हैं कि रिलायंस देश के उद्योगों का वो बुलबुला है जिसमें फूटकर छा जाने की कूवत है. मैं कहता हूं कि मैं वो बुलबुला हूं जो फूट चुका है.-धीरूभाई अंबानी ने एक प्रेस कांफ्रेंस में मुस्कुराते हुए कहा थाकई लोगों ने इसे धीर
28 दिसम्बर 2018
25 दिसम्बर 2018
★ नेहरू जी ने #नेशनल हेराल्ड नामक अखबार 1930 में शुरू किया। धीरे-धीरे इस अखबार ने 5000/- करोड़ की संपत्ति अर्जित कर ली। सन् 2000 में यह अखबार घाटे में चला गया और इस पर 90 करोड़ का कर्जा हो गया।★ "नेशनल हेराल्ड" की तत्कालीन डायरेक्टर्स, सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी और मोतीलाल वोरा ने, इस अखबार को यंग इं
25 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
Guest Post क्या है ?Guest Post करना क्यों ज़रूरी हैं ?Guest Post करने के फ़ायदे Guest Post करते समय किन-किन बातों का ध्यान दें ?शब्दनगरी पर Guest Post करें यदि आप एक हिंदी ब्लॉगर (Hindi Bloggar) हैं तो आपका यह जानना ज़रूरी है कि Guest Post क्या है ? ये करना क्यों ज़रूरी ह
26 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
यूनेस्को द्वारा नालंदा यूनिवर्सिटी को वर्ल्ड हेरिटेज साइट का दर्ज़ा दिया गया ।'नालंदा' नाम की उत्पत्ति 3 संस्कृत शब्दों के संयोजन से हुई: "ना", "आलम" और "दा", जिसका अर्थ है 'ज्ञान के उपहार को ना रोकना'।न
26 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
29 दिसम्बर 2018
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x