शुक्र का वृश्चिक में गोचर

01 जनवरी 2019   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (16 बार पढ़ा जा चुका है)

शुक्र का वृश्चिक में गोचर  - शब्द (shabd.in)

शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर

सर्वप्रथम सभी को नववर्ष 2019 की हार्दिक शुभकामनाएँ | आज मंगलवार एक जनवरी को प्रातः नौ बजकर पचास मिनट पर बुध का गोचर धनु राशि में हुआ है, और आज ही रात्रि आठ बजकर तैतालीस मिनट के लगभग समस्त सांसारिक सुख, समृद्धि, विवाह, परिवार सुख, कला, शिल्प, सौन्दर्य, बौद्धिकता, राजनीति तथा समाज में मान प्रतिष्ठा में वृद्धि आदि का कारक शुक्र अपनी स्वयं की राशि तुला से निकलकर मंगल की वृश्चिक राशि में प्रविष्ट हो जाएगा | शुक्र के वृश्चिक राशि में प्रवेश के समय पौष कृष्ण एकादशी तिथि, बालव करण और धृति योग होगा तथा शुक्र इस समय विशाखा नक्षत्र में रहेगा | यहाँ 29 जनवरी तक निवास करने के पश्चात 29 जनवरी को ही धनु राशि में प्रस्थान कर जाएगा | वृश्चिक राशि में भ्रमण करते हुए शुक्र का भ्रमण पाँच जनवरी से अनुराधा नक्षत्र में तथा 17 जनवरी से ज्येष्ठा नक्षत्र में रहेगा | आइये जानने का प्रयास करते हैं कि प्रत्येक राशि के लिए शुक्र के कन्या राशि में गोचर के सम्भावित परिणाम क्या रह सकते हैं...

मेष : आपका द्वितीयेश और सप्तमेश होकर शुक्र का गोचर आपके अष्टम भाव में हो रहा है | इस अवधि में एक ओर जहाँ किसी प्रकार से भी गुप्त विरोधियों की ओर से सावधान रहने की आवश्यकता है | आप स्वयं भी इस दौरान ऐसा कोई कार्य न करें जिसके कारण आपकी मान प्रतिष्ठा को किसी प्रकार की हानि होने की सम्भावना हो | वहीं दूसरी ओर आपके कार्य की दृष्टि से तथा आर्थिक दृष्टि से यह गोचर अनुकूल प्रतीत होता है | किन्तु पैसे के लेन देन के प्रति सावधान रहने की आवश्यकता है | आपकी वाणी प्रभावशाली बनी रहेगी | Opposite Sex की ओर इस अवधि में आपका झुकाव बढ़ सकता है | आगे बढ़ने से पूर्व पार्टनर के सम्बन्ध में पूरी जानकारी अवश्य हासिल कर लें | साथ ही पार्टनरशिप में कार्य आरम्भ करना चाहते हैं तो उसके लिए भी यह गोचर अनुकूल नहीं प्रतीत होता | यदि आप महिला हैं तो आपको विशेष रूप से स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहने की आवश्यकता है |

वृषभ : आपका राश्यधिपति तथा षष्ठेश होकर शुक्र आपके सप्तम भाव में गोचर करने जा रहा है | आपके उत्साह और मनोबल में वृद्धि के साथ ही आपका व्यक्तित्व भी इस अवधि में प्रभावशाली रहने की सम्भावना है | साथ ही यदि आप कलाकार हैं या सौन्दर्य से सम्बन्धित किसी कार्य जैसे ब्यूटी पार्लर आदि का कार्य है तो आपके लिए यह गोचर विशेष रूप से भाग्यवर्द्धक प्रतीत होता है | आय के नवीन स्रोत आपके तथा आपके जीवन साथी के समक्ष उपस्थित हो सकते हैं | यदि किसी के साथ Romantic Relationship में हैं तो उसमें विघ्न उपस्थित हो सकता है | विवाहित हैं तो दाम्पत्य जीवन में भी किसी मित्र के कारण तनाव उत्पन्न होने के संकेत हैं | सुख सुविधाओं के साधनों में वृद्धि के योग हैं |

मिथुन : आपका पंचमेश और द्वादशेश होकर शुक्र का गोचर आपकी राशि से छठे भाव में हो रहा है | एक ओर आपके लिए उत्साह में वृद्धि के योग प्रतीत होते हैं तो वहीं दूसरी ओर आपके लिए यह गोचर चुनौतियों से भरा हुआ भी हो सकता है | उन मित्रों को पहचानकर उनसे दूर होने की आवश्यकता है जो आपसे प्रेम दिखाते हैं लेकिन मन में ईर्ष्या का भाव रखते हैं | यदि आप कलाकार अथवा वक्ता हैं तो आपके कार्य की दृष्टि से अनुकूल समय प्रतीत होता है | किसी कोर्ट केस का निर्णय आपके पक्ष में आ सकता है | साथ ही विदेश यात्राओं के भी योग प्रतीत होते हैं | इन यात्राओं के दौरान अपने स्वास्थ्य के प्रति विशेष रूप से सावधान रहने की आवश्यकता है |

कर्क : आपका चतुर्थेश और एकादशेश होकर शुक्र का गोचर आपकी राशि से पंचम भाव में हो रहा है | सन्तान के साथ यदि कुछ समय से किसी प्रकार की अनबन चल रही है तो उसके दूर होने की सम्भावना इस अवधि में की जा सकती है | मान सम्मान तथा आय में वृद्धि के संकेत हैं | नौकरी के लिए इन्टरव्यू दिया है तो उसमें भी सफलता की सम्भावना है | आप इस अवधि में नया घर अथवा वाहन भी खरीद सकते हैं अथवा खरीदने की योजना बना सकते हैं | अपने वर्तमान घर को भी Renovate करा सकते हैं | सन्तान प्राप्ति के भी योग प्रतीत होते हैं | सन्तान के लिए भी यह गोचर समय अनुकूल प्रतीत होता है | आपके व्यक्तित्व में सकारात्मक परिवर्तन होने की सम्भावना है | आप अथवा आपकी सन्तान उच्च शिक्षा, नौकरी अथवा कला के प्रदर्शन के लिए विदेश यात्रा भी कर सकते हैं |

सिंह : आपका तृतीयेश और दशमेश होकर शुक्र का गोचर आपकी राशि से चतुर्थ भाव में हो रहा है | उत्साह में वृद्धि का समय प्रतीत होता है | आप कोई नया वाहन अथवा घर खरीदने की योजना बना सकते हैं | कार्य में उन्नति तथा आय में वृद्धि के संकेत हैं | किसी महिला मित्र के माध्यम से कोई नया कार्य भी आपको प्राप्त हो सकता है और इस कार्य में आप बहुत समय तक व्यस्त रहते हुए धनलाभ भी कर सकते हैं | परिवार में आनन्द का वातावरण रहेगा | किसी कन्या का विवाह भी इस अवधि में सम्भव है | नौकरी में पदोन्नति की सम्भावना है | मान सम्मान और पुरूस्कार आदि का लाभ भी हो सकता है | सुख सुविधाओं के साधनों में वृद्धि के संकेत हैं |

कन्या : आपका द्वितीयेश और भाग्येश होकर शुक्र आपकी राशि से तीसरे भाव में हो रहा है | एक ओर जहाँ आपके छोटे भाई बहनों के लिए कार्य की दृष्टि से समय अनुकूल प्रतीत होता है वहीं दूसरी ओर आपके लिए भी कार्य में वृद्धि तथा आय में वृद्धि के संकेत प्रतीत होते हैं | आपको इस अवधि में कुछ ऐसे नवीन प्रोजेक्ट्स भी प्राप्त हो सकते हैं जिनके कारण आपकी प्रशंसा होगी और भविष्य में उन प्रोजेक्ट्स का लाभ आपको प्राप्त होगा | आपकी प्रभावशाली वाणी का लाभ भी आपको प्राप्त हो सकता है | आपका कार्य कहीं विदेश से सम्बन्ध रखता है अथवा आप किसी प्रकार की Alternative Therapy से सम्बन्ध रखते हैं या दस्तकार हैं तो आपके लिए यह गोचर भाग्यवर्द्धक प्रतीत होता है |

तुला : लग्नेश और अष्टमेश होकर शुक्र आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर कर रहा है | आर्थिक रूप से स्थिति में दृढ़ता आने के साथ ही आपके लिए कार्य से सम्बन्धित लम्बी विदेश यात्राओं के योग भी प्रतीत होते हैं | नवीन प्रोजेक्ट्स इस अवधि में प्राप्त होते रह सकते हैं जिनके कारण आप बहुत समय तक व्यस्त रहकर अर्थ लाभ भी कर सकते हैं | आपकी वाणी तथा व्यक्तित्व का प्रभाव दूसरों पर पड़ेगा और जिसके कारण आपकी प्रशंसा भी होगी तथा आपको किसी प्रकार का पुरूस्कार आदि भी प्राप्त हो सकता है | धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में आपकी रूचि में वृद्धि हो सकती है | आप सपरिवार कहीं घूमने जाने की योजना भी बना सकते हैं | किन्तु साथ ही विरोधियों की ओर से सावधान रहने की भी आवश्यकता है |

वृश्चिक : आपके लिए आपका सप्तमेश और द्वादशेश होकर शुक्र आपकी लग्न में ही गोचर कर रहा है | आप इस अवधि में अपने शारीरिक सौन्दर्य को निखारने में अधिक व्यस्त रह सकते हैं | Romantically यदि कहीं Involve हैं तो उस सम्बन्ध में अन्तरंगता के संकेत प्रतीत होते हैं | विवाहित हैं तो दाम्पत्य जीवन में भी माधुर्य तथा अन्तरंगता बने रहने के संकेत हैं | Opposite Sex के प्रति आपका रुझान इस अवधि में बढ़ सकता है | विदेश यात्राओं में वृद्धि के संकेत भी प्रतीत होते हैं | इन यात्राओं में किसी के प्रति आप आकर्षित हो सकते हैं जो विवाह सम्बन्ध में भी परिणत हो सकता है | किन्तु स्वास्थ्य की ओर से सावधान रहने की आवश्यकता है |

धनु : आपका षष्ठेश और एकादशेश होकर शुक्र का गोचर आपके बारहवें भाव में हो रहा है | आपके लिए यात्राओं में वृद्धि के संकेत प्रतीत होते हैं | इन यात्राओं से एक ओर आपके कार्य में प्रगति की तथा आर्थिक स्थिति में दृढ़ता आने की सम्भावना है तो वहीं दूसरी ओर इन यात्राओं में पैसा भी अधिक खर्च हो सकता है | साथ ही इन यात्राओं के दौरान अपने स्वास्थ्य तथा Important Documents का भी ध्यान रखने की भी आवश्यकता है | वाहन आदि चलाते समय भी किसी प्रकार की दुर्घटना आदिद से सावधान रहने की आवश्यकता है | महिलाओं को अधिक रक्तस्राव की समस्या हो सकती है अतः अपनी Gynaecologist से नियमित चेकअप अवश्य कराती रहें |

मकर : आपका योगकारक आपकी राशि से आपकी राशि से लाभ स्थान में गोचर कर रहा है | उत्साह तथा कार्य में वृद्धि के साथ ही धनलाभ के भी संकेत हैं | यदि आपका कोई कोर्ट केस चल रहा है तो उसके अनुकूल दिशा में प्रगति की सम्भावना है | यदि आप किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो उसमें भी आपको सफलता प्राप्त हो सकती है | कार्य तथा आय में वृद्धि के साथ ही मान सम्मान में भी वृद्धि की सम्भावना है | रुके हुए कार्य पूर्ण होने की सम्भावना है | जो लोग अभी तक आपकी बात नहीं समझ पा रहे थे वे अब आपके सुझावों का अनुमोदन कर सकते हैं, जिसका लाभ आपको अपने कार्य में निश्चित रूप से प्राप्त हो सकता है | अविवाहित हैं तो जीवन साथी की तलाश भी इस अवधि में पूर्ण हो सकती है | प्रेम सम्बन्ध विवाह में परिणत हो सकता है अथवा कोई नया प्रेम सम्बन्ध भी स्थापित हो सकता है | स्वास्थ्य की दृष्टि से भी यह गोचर अनुकूल प्रतीत होता है |

कुम्भ : आपका योगकारक शुक्र आपकी राशि से दशम भाव में गोचर कर रहा है | आपके कार्य में हर प्रकार से लाभ के संकेत हैं | नौकरी में हैं तो पदोन्नति के साथ स्थानान्तरण के भी संकेत हैं | आपका अपना व्यवसाय है तो उसमें भी प्रगति की सम्भावना है | कलाकारों को किसी प्रकार का पुरूस्कार आदि भी प्राप्त हो सकता है | सहकर्मियों का सहयोग आपको प्राप्त रहेगा जिसके कारण आपके कार्य समय पर पूर्ण होते रहेंगे | परिवार में आनन्द का वातावरण बना रह सकता है | आप अपने लिए नया घर अथवा वाहन भी खरीद सकते हैं, अथवा खरीदने की योजना बना सकते हैं | जिस घर में अभी निवास करते हैं उसे Renovate भी करा सकते हैं | सामाजिक गतिविधियों में वृद्धि के साथ ही मान प्रतिष्ठा में वृद्धि के भी संकेत हैं |

मीन : आपके लिए तृतीयेश और अष्टमेश होकर शुक्र का गोचर आपके नवम भाव में हो रहा है | आपके लिए यह गोचर अत्यन्त भाग्यवर्धक प्रतीत होता है | एक ओर परिवार में सौहार्द का वातावरण बना रहेगा वहीं दूसरी ओर आपके कार्य में भी प्रगति की सम्भावना की जा सकती है | आप इस अवधि में नया घर अथवा वाहन भी खरीद सकते हैं | अथवा जिस घर में आप रहते हैं उसे ही Renovate और Decorate करा सकते हैं | परिवार में माँगलिक कार्यों की भी सम्भावना है | कार्य से सम्बन्धित विदेश यात्राओं के भी योग बन रहे हैं | इन यात्राओं में आपको सफलता प्राप्त हो सकती है | आपके छोटे भाई अथवा बहन का विवाह इस अवधि में हो सकता है | किन्तु छोटे भाई बहनों के साथ व्यर्थ की बहस से बचने का प्रयास आवश्यक है | साथ ही धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में आपकी रूचि बढ़ सकती है |

किन्तु ध्यान रहे, ये समस्त फल सामान्य हैं | व्यक्ति विशेष की कुण्डली का व्यापक अध्ययन करके ही किसी निश्चित परिणाम पर पहुँचा जा सकता है | अतः कुण्डली का विविध सूत्रों के आधार पर व्यापक अध्ययन कराने के लिए किसी Astrologer के पास ही जाना उचित रहेगा |

अन्त में, ग्रहों के गोचर अपने नियत समय पर होते ही रहते हैं – यह एक ऐसी खगोलीय घटना है जिसका प्रभाव मानव सहित समस्त प्रकृति पर पड़ता है | वास्तव में सबसे प्रमुख तो व्यक्ति का अपना कर्म होता है | तो, कर्मशील रहते हुए अपने लक्ष्य की ओर हम सभी अग्रसर रहें इसी कामना के साथ एक बार पुनः नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ…

https://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2019/01/01/venus-transits-scorpio/

अगला लेख: मकर संक्रान्ति की हार्दिक शुभकामनाएँ



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
29 दिसम्बर 2018
बुधका धनु में गोचरनव वर्ष 2019 के प्रथम दिवस अर्थात एकजनवरी को पौष कृष्ण एकादशी को बव करण, धृति योग और विशाखा नक्षत्र में 09:50 के लगभग बुध काप्रवेश सूर्य और शनि के साथ गुरु की धनु राशि और मूल नक्षत्र में हो जाएगा |सर्वप्रथम सभी को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ… धनु राशि में बुधका गोचर सभी के लिए भाग
29 दिसम्बर 2018
22 दिसम्बर 2018
मंगल का मीन राशि में गोचरआज 22 दिसम्बरको अर्द्धरात्र्योत्तर 12:57 के लगभग मार्गशीर्ष कृष्ण प्रतिपदा को आर्द्रा नक्षत्र, कौलव करण और ब्रह्म योगतथा पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में विचरते हुए भूमिसुत मंगल का गोचर अपने मित्र ग्रहगुरु की मीन राशि में होगा | जहाँ 5 फरवरी 2019 को 23:48 तक भ्रमण करने के पश्चातयह
22 दिसम्बर 2018
25 दिसम्बर 2018
ओजस्वी औरसंवेदनशील कवि, महान राजनीतिज्ञ श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के जन्मदिवस परउभिन की दो रचनाओं के साथ समर्पित हैं श्रद्धा सुमन – इस महान युग पुरुष को… न दैन्यं न पलायनम्कर्तव्य के पुनीत पथ को हमने स्वेद से सींचा है, कभी-कभी अपने अश्रु और प्राणों का अर्ध्य भी दिया है |किंतु, अपनी ध्येय-यात्रा में
25 दिसम्बर 2018
19 दिसम्बर 2018
"
"छंदमुक्त काव्य"कूप में धूपमौसम का रूप चिलमिलाती सुबहठिठुरती शाम है सिकुड़ते खेत, भटकती नौकरीकर्ज, कुर्सी, माफ़ी एक नया सरजाम हैसिर चढ़े पानी का यह कैसा पैगाम है।।तलाश है बाली कीझुके धान डाली कीसूखता किसान रोजगुजरती हुई शाम है कुर्सी के इर्द गिर्द छाया किसान हैखेत खाद बीज का भ्रामक अंजाम हैसिर चढ़े पानी
19 दिसम्बर 2018
12 जनवरी 2019
अर्द्ध कुम्भ प्रयागराज 2019चौदह जनवरी से मकरसंक्रान्ति के स्नान के साथ ही प्रयागराज में अर्द्धकुम्भ मेला आरम्भ होने जा रहाहै | जो चार मार्च को सम्पन्न होगा | कुम्भ मेला हर बारह वर्ष में आता है यह तोसभी जानते हैं | कुम्भ के आयोजन में नवग्रहों में से सूर्य, चन्द्र, गुरु और शनि की भूमिका महत्वपूर्ण मान
12 जनवरी 2019
22 दिसम्बर 2018
मंगल का मीन राशि में गोचरआज 22 दिसम्बरको अर्द्धरात्र्योत्तर 12:57 के लगभग मार्गशीर्ष कृष्ण प्रतिपदा को आर्द्रा नक्षत्र, कौलव करण और ब्रह्म योगतथा पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में विचरते हुए भूमिसुत मंगल का गोचर अपने मित्र ग्रहगुरु की मीन राशि में होगा | जहाँ 5 फरवरी 2019 को 23:48 तक भ्रमण करने के पश्चातयह
22 दिसम्बर 2018
02 जनवरी 2019
प्रदोष व्रत 2019कर्पूगौरंकरुणावतारं संसारसारं भुजगेन्द्रहारम् |सदा वसन्तं हृदयारविन्दे भवं भवानी सहितन्नमामि ||कल यानी गुरूवार तीन जनवरी को वर्ष 2019 का प्रथम प्रदोषव्रत होगा | सबसे पहले तो आइये जानते हैं कि प्रदोष व्रत होता क्या है |प्रत्येकमाह के शुक्ल और कृष्ण दोनों पक्षों की त्रयोदशी को प्रदोष क
02 जनवरी 2019
22 दिसम्बर 2018
मंगल का मीन राशि में गोचरआज 22 दिसम्बरको अर्द्धरात्र्योत्तर 12:57 के लगभग मार्गशीर्ष कृष्ण प्रतिपदा को आर्द्रा नक्षत्र, कौलव करण और ब्रह्म योगतथा पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में विचरते हुए भूमिसुत मंगल का गोचर अपने मित्र ग्रहगुरु की मीन राशि में होगा | जहाँ 5 फरवरी 2019 को 23:48 तक भ्रमण करने के पश्चातयह
22 दिसम्बर 2018
15 जनवरी 2019
सूर्यके उत्तरायण गमन के पर्व मकर संक्रान्ति की सभी को हार्दिक शुभकामनाएँ…इसशुभावसर पर प्रस्तुत है महाभारत के वनपर्व अध्याय तीन से उद्धृत सूर्यअष्टोत्तरशतनामस्तोत्रम्… धौम्यउवाचसूर्योSर्यमा भगस्त्वष्टा पूषार्क: सविता रवि: |गभस्तिमानज: कालो मृत्युर्धाता प्रभाकर: ||पृथिव्यापश्च तेजश्च खं वायुश्च परायणम
15 जनवरी 2019
29 दिसम्बर 2018
बुधका धनु में गोचरनव वर्ष 2019 के प्रथम दिवस अर्थात एकजनवरी को पौष कृष्ण एकादशी को बव करण, धृति योग और विशाखा नक्षत्र में 09:50 के लगभग बुध काप्रवेश सूर्य और शनि के साथ गुरु की धनु राशि और मूल नक्षत्र में हो जाएगा |सर्वप्रथम सभी को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ… धनु राशि में बुधका गोचर सभी के लिए भाग
29 दिसम्बर 2018
22 दिसम्बर 2018
मंगल का मीन राशि में गोचरआज 22 दिसम्बरको अर्द्धरात्र्योत्तर 12:57 के लगभग मार्गशीर्ष कृष्ण प्रतिपदा को आर्द्रा नक्षत्र, कौलव करण और ब्रह्म योगतथा पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में विचरते हुए भूमिसुत मंगल का गोचर अपने मित्र ग्रहगुरु की मीन राशि में होगा | जहाँ 5 फरवरी 2019 को 23:48 तक भ्रमण करने के पश्चातयह
22 दिसम्बर 2018
28 दिसम्बर 2018
एकादशी व्रत 2019आने वाले तीनदिन बाद सन् 2018 को विदा करके सन् 2019 में विश्व प्रवेश करेगा | नववर्ष कीअग्रिम शुभकामनाओं सहित प्रस्तुत है वर्ष 2019 में आने वाले हिन्दू पर्व औरत्योहारों की तिथियाँ… सबसे पहले एकादशी…हिन्दू धर्म में एकादशी का विशेष महत्त्व है | पद्मपुराण के अनुसार भगवान् श्री कृष्ण नेधर्
28 दिसम्बर 2018
29 दिसम्बर 2018
द एक्सीडेंटल प्राईम मिनिस्टर ? डॉ शोभा भारद्वाज डॉ मनमोहन सिंह जी परबनी फिल्म एक्सीडेंटल प्राईम मिनिस्टर का टेलर रिलीज किया गया है विवाद होनास्वाभाविक है डॉ मनमोहन सिंह की छवि एक ईमानदार व्यक्ति की रही रही है उनकी ईमानदारी पर किसी को शक नहीं है लेकिन आलोचक एवं विपक्ष उनकेकाल को घोटालों का काल
29 दिसम्बर 2018
12 जनवरी 2019
वास्तव में हमारे देश में यदि किसी भी ‘‘सरकार’’ से कोई निर्णय अपने पक्ष में करवाना हो तो सरकार के चुने जाने के 4 साल तक तो वह आपकी मांगे व मुद्दो पर गंभीरता से कोई विचार ही नहीं करती है, क्योकि तब तक वह आपके चुनावी दबाव में ही नहीं होती है। परन्तु चुनावी वर्ष में चुनावी मोड में आ जाने के बाद आपका मु
12 जनवरी 2019
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x