मक्का मदीना: जानिए क्या है मक्का मदीना में शिवलिंग का रहस्य

07 जनवरी 2019   |  अभय शंकर   (166 बार पढ़ा जा चुका है)

मक्का मदीना: जानिए क्या है मक्का मदीना में शिवलिंग का रहस्य - शब्द (shabd.in)

मक्का मदीना: इस दुनिया में लाखो – करोड़ो लोग रहते हैं जो अपने अलग-अलग धर्म और रीति रिवाजों से संबंध रखते हैं. जैसे हम हिंदू और सिख लोग मंदिरों और गुरुद्वारों को उत्तम मानते हैं, ठीक वैसे ही मुस्लिमों के लिए मक्का मदीना किसी जन्नत से कम नहीं है. मक्का मदीना का इतिहास कईं सालों से रहस्मयी बना हुआ है. हर मुस्लिम अपनी जिंदगी में एक बार मक्का मदीना जाने की ख्वाहिश जरुर रखता है. मक्का मदीना की यात्रा को हम लोग “हज” के नाम से भी जानते हैं. हर साल लाखों मुस्लिम लोग हज यात्रा के लिए जाते हैं. ऐसी मान्यता है कि मक्का मदीना जो भी मुस्लिम पहुँच जाता है, उसका जीवन सफल हो जाता है. वहीँ कुछ लोग मक्का मदीना के इतिहास को हिंदुओ से जोड़ते हैं. बहरहाल इस तथ्य में कितनी सच्चाई है और कितना झूठ चलिए जानते हैं.

कहाँ हैं मक्का मदीना?

मक्का मदीना साउथ अरेबिया की धरती पर मौजूद है. कहा जाता है कि सऊदी अर्ब में ही इस्लाम धर्म की नींव रखी गई थी. मक्का में मौजूद काबा की परिक्रमा करके हर मुसलमान धनी हो जाता है. हर साल 10 जिलहज को यहाँ दुनिया के कौने-कौने से मुसलमान पहुँचते हैं. मक्का मदीना असल में साम्राज्य शासक की राजधानी है जोकि समुद्र सतह से 277 मीटर (909 फ़ीट) ऊँची जिन्नाह की घाटी पर शहर से 70 किलोमीटर अंदर स्थित है. मक्का मदीना को ‘अल-मदीना अल-मुनव्वरा’ भी कहा जाता है. मक्का मदीना का इतिहास मुस्लिमों के पैगंबर हज़रत मुहम्मद से जुदा हुआ है. मान्यता है कि हज़रत मोहम्मद ने ही इसे मुस्लिमों का तीर्थ स्थल बनाया था. यहीं पर पैगंबर हज़रत मुहम्मद को दफ़न किया गया था.

मक्का मदीना में ‘काफ़िर’ शब्द का राज़

मक्का मदीना एक संकरी, बकुई और अनउपजाऊ घाटी में बसा शहर है जहाँ बहुत कम वर्षा होती है. यहाँ के नगर का पूरा खर्चा यात्रियों से वसूले गए कर से चलाया जाता है. इसके मध्य में मौजूद काबा एक क्यूब के आकर की ईमारत है, जहाँ मुस्लिम 7 चक्कर लगाते हैं और फिर इसे चूमते हैं. बता दें कि यही पर पैगंबर मुहम्मद साहब ने 570 ई. पू. में जन्म लिया था लेकिन वह 620 ई. पू. में मक्का छोड़ कर मदीना चले गए थे. पैगंबर मुहम्मद के अनुसार हर मुस्लिम को अपने पापों से मुक्ति पाने के लिए एक बार यहाँ जरुर जाना चाहिए. आज भी यहाँ पैगंबर मुहम्मद के चरण चिन्ह मौजूद हैं. कुछ समय पहले की सूचनाओ के अनुसार यहाँ के प्रवेश द्वारा पर “काफिरों का आना माना है” लिखा गया था. जिसे हिंदुओं के साथ जोड़ा जा रहा था. लेकिन असल में काफिर शब्द का अर्थ “गैर मुसलमान” है. अर्थात यहाँ मुसल्मानों के इलावा किसी भी अन्य धर्म के व्यक्ति का जाना वर्जित रखा गया है.

मक्का मदीना में शिवलिंग का सच

बहुत से लोग मक्का मदीना का इतिहास हिंदू धर्म से जोड़ते हैं. मान्यता है कि यहाँ मक्का मदीना बनने से पहले हिंदुओं का बहुत बड़ा मक्केश्वर महादेव मंदिर था. इतिहासकारों के अनुसार यहाँ एक काले रंग का विशाल शिवलिंग भी था जो आज भी वहां खंडित अवस्था में मौजूद है. इसके बारे में प्रसिद्ध इतिहासकार स्व0 पी.एन.ओक ने अपनी पुस्तक ‘वैदिक विश्व राष्ट्र का इतिहास’ में बहुत विस्तार से लिखा है. इस पुस्तक के अनुसार मुस्लिम लोग काबा में जिस पत्थर को चूमते हैं वह कोई और नहीं बल्कि भगवान शिव का शिवलिंग ही है. इसके बारे में कुछ समय पहले ही सोशल मीडिया पर एक तस्वीर को काफी शेयर किया गया था, जिसमे लोग एक शिवलिंग को मक्का मदीना से जोड़ रहे थे. हालाँकि यह सब हमारी काल्पनिक सोच है, मक्का मदीना में ना तो कोई शिवलिंग है और ना ही मुस्लिम लोग वहां किसी अन्य धर्म के व्यक्ति को अंदर जाने देते हैं.

मक्का मदीना | मक्का मदीना का इतिहास | मक्का मदीना में शिवलिंग

https://www.newstrend.news/202757/macca-madina/?fbclid=IwAR14-E3lao2IPMT3SdlSaegIAjDUMvSPL1OC1Uduh9TIBohg2FhIso6b1PU

मक्का मदीना: जानिए क्या है मक्का मदीना में शिवलिंग का रहस्य - शब्द (shabd.in)

अगला लेख: मकर संक्रांति के दिन ये एक गलती भूलकर भी न करें, वरना शुरू हो जायेगा बुरा समय



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
27 दिसम्बर 2018
बोधगया में है 2650 साल पुराना यह बोधिवृक्ष। बोधिमंदिर सहित इस वृक्ष की सुरक्षा में बिहार मिलिट्री पुलिस की चार बटालियन (करीब 360 जवान) तैनात हैं।इसकी टहनियां इतनी विशाल हैं कि इसे लोहे के 12 पिलर के सहारे खड़ा किया गया है। संभवत: यह देश का अकेला वृक्ष है, जिसके दर्शन के लिए हर साल 5 लाख से ज्यादा श्र
27 दिसम्बर 2018
10 जनवरी 2019
ग्रहों की स्थिति कब बदल जाये कुछ कहा नहीं जा सकता, ज्योतिष की मानें तो रोज़ाना किसी न किसी ग्रह में परिवर्तन ज़रूर होता है जिसकी वजह से 12 रशियन प्रभावित होती हैं। तो आइये जानते हैं पं दयानन्द शास्त्री से कि किन-किन राशियों पर है भगवान विष्णु की असीम कृपा और साथ ही कैसा
10 जनवरी 2019
10 जनवरी 2019
मकर संक्रांति का पर्व बहुत ही जल्दी आने वाला है पूरे भारतवर्ष में मकर संक्रांति का पर्व विभिन्न प्रकार से बड़ी ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है ज्योतिष की मानें तो इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है इसी वजह से मकर संक्रांति के दिन सूर्य
10 जनवरी 2019
28 दिसम्बर 2018
पीएम मोदी के सत्तासीन होने के बाद से ही विभिन्न क्षेत्रों में देश की उपलब्धियों से दुनिया में भारत का नाम रोशन होता रहा है। वर्ष 2018 में भी यह सिलसिला जारी रहा। आइए, एक नजर डालते हैं, इस साल की उन उपलब्धियों पर जो पहली बार भारत को हासिल हुईं और जिन्होंने हर भारतवासी को दुनिया में गर्व से सिर ऊंचा क
28 दिसम्बर 2018
28 दिसम्बर 2018
दैनिक भास्कर पटना उत्सव सेलेब्रिटी टॉक शो में पहुंचे शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) बोले हम दिल्ली वाले भी पटना वालों की तरह ही हैं। जैसे ही उन्होंने डॉन फिल्म का डायलॉग ’11 मुल्कों की पुलिस…’ बोला, तो पूरा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। अपने संघर्ष के बारे में बताते
28 दिसम्बर 2018
28 दिसम्बर 2018
अपनी ज़बरदस्त अभिनय शैली और प्रभावशाली संवाद अदायगी के कारण याद किये जाने वाले दिग्गज अभिनेता कादर ख़ान के स्वास्थ्य को लेकर एक बुरी ख़बर आ रही है। ख़बर है कि उन्हें गंभीर रूप से बीमार होने के बाद बाइपेप वेंटीलेटर पर रखा गया है। 81 साल के कादर ख़ान प्रोग्रेसिव सुप्रान्यूक्लीयर पाल्सी डिसऑर्डर (पीएसपी ) क
28 दिसम्बर 2018
11 जनवरी 2019
प्रिय मित्रों/पाठकों, आज के प्रतिस्पर्धा के इस दौर में हर कोई सफलता पाना चाहता है, लेकिन मेहनत के बाद भी सफल नहीं हो पाता है। इसका ये अर्थ नहीं होता है कि उस व्यक्ति की मेहनत में किसी तरह की कमी है।जीवन में सफलता हासिल करने के लिए सबसे जरूरी होता है इंसान को ऊर्जावान होना. स्वस्थ होना।अगर आप ऊर्जा स
11 जनवरी 2019
07 जनवरी 2019
हिन्दू धर्म के शास्त्रों के अनुसार किसी भी व्यक्ति के नाम का पहला अक्षर उसके व्यक्तित्व और व्यवहार से जुड़ी कईं बातों से हमे रूबरू करवाता है. हर नाम का पहला अक्षर उस व्यक्ति के बारे में हमे अच्छी और बुरी दोनों बातें बताता है. आज हम बात करने जा रहे हैं “S” अक्षर से शुरू होने वाले नाम वले व्यक्तियों की
07 जनवरी 2019
07 जनवरी 2019
यूपी की दबंग आईएएस (IAS) अधिकारी बी. चंद्रकला हमेशा अपने तीखे तेवर, अधिकारियों को सबके सामने फटकारने और बयानों को लेकर सुर्खियों में बनी रहती हैं. जो भी गलत काम करते हैं चाहे वो ठेकेदार हो या पुलिस कर्मी सभी को जेल भिजवाने की धमकी देकर कई बार मीडिया के सामने हीरो बनी बी. चंद्रकला यूपी के कई जिलों मे
07 जनवरी 2019
04 जनवरी 2019
आज के समय पर एक तरफ सरकार ना जाने कितनी तरह की योजनाएं ला रही हैं, बेटी बचाओ से लेकर के सुकन्या धन योजना ना जाने कितनी तरह की योजनाएं सरकार लेकर आ रही हैं जिससे लोगों के दिमाग में इतने सालों से चली आ रही रूढ़ीवादी समाज के एक बड़े वर्ग में आज भी बेटे को अहमियत देना जारी है।
04 जनवरी 2019
10 जनवरी 2019
प्रिय मित्रों/पाठकों, विघ्नविनाशक सिद्घिविनायक भगवान गणेश जी का सबसे लोकप्रिय रूप है। गणेश जी जिन प्रतिमाओं की सूड़ दाईं तरह मुड़ी होती है, वे सिद्घपीठ से जुड़ी होती हैं और उनके मंदिर सिद्घिविनायक मंदिर कहलाते हैं। कहते हैं कि सिद्धि विनायक की महिमा अपरंपार है, वे भक
10 जनवरी 2019
27 दिसम्बर 2018
मोदी सरकार जबसे केंद्र में आई है तब से उसका एक ही प्रयास है कि ऐसी योजनाएं चलाई जाएं जिससे आर्थिक रूप से अत्यधिक कमजोर वर्गों को सहायता मिले और वह लोग भी समाज में बराबर का योगदान दे पाए।इस संबंध में सरकार ने कई योजनाओं, स्कीम्स को लॉन्च किया है और लोगों तक पहुंचने का प्रयास किया है। और यह भी मैसेज भ
27 दिसम्बर 2018
03 जनवरी 2019
आपको बता दें कि मुंबई से लौटने के बाद दीपक मीडिया से रू-ब-रू हुए। उनके गांव में दीपक का शानदार स्वागत किया गया। दीपक ने कहा कि शो में मैंने बिहारीपन को पहचान दी। यह मेरे लिए सबसे बड़ी बात है। दीपक ने कहा कि बिग-बॉस शो में 13 प्रतिभागियों के साथ उसके अच्छे संबंध रहे। सभी उसे भाई की तरह प्यार करते थे।
03 जनवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x