आज भी बॉर्डर पर शहीद जवान की आत्मा देती है पहरा, सैलरी और प्रमोशन मरने के बाद भी मिलता है!

10 जनवरी 2019   |  अभय शंकर   (102 बार पढ़ा जा चुका है)

आज भी बॉर्डर पर शहीद जवान की आत्मा देती है पहरा, सैलरी और प्रमोशन मरने के बाद भी मिलता है!

भारतीय सेना में जवानों की कोई कमी नहीं है, सब एक से बढ़कर एक जवान हैं। हर किसी की अपनी ख़ासियत है।ऐसा ही एक जवान भारतीय सेना में था जिसकी आत्मा आज भी भारतीय सीमाओं की रक्षा करती है एक ऐसा जवान जिसकी आत्मा भी करती है। इतना ही नहीं उस जवान (Baba Harbhajan Singh) को सैलरी और प्रमोशन भी दिया जाता है। हैं ना आश्चर्य वाली बात लेकिन यह बिलकुल ही सही है।

उस जवान का सिक्किम के गंगटोक के पास मंदिर भी बनाया गया है। उस वीर जवान का नाम हरभजन सिंह था, जिसकी आत्मा आज शरहद की रक्षा करती है। उस जवान की अब पूजा भी की जाती है एवं उन्हें बाबा हरभजन के नाम से जाना जाता है। हरभजन के बंकर जिसे मंदिर कहा जाता है उस में भारी संख्या में सेना के अलावा सैलानी और श्रद्धालु पहुँचते हैं और बाबा हरभजन (Baba Harbhajan SIngh) से अपनी सलामती के लिए पूजा करते हैं। आइये हम आपको इस बारे में विस्तार से बताते हैं….

border patrol is the soul of the young martyr

हरभजन सिंह 1968 तक 24 पंजाब रेजीमेंट में जवान थे, अपनी ड्यूटी करते हुए वह एक हादसे में वो शहीद हो गए। हादसा हो जाने के बाद कई दिनों तक उनका पार्थिव शरीर सेना को नहीं मिला। लोगों का कहना है कि एक दिन हरभजन सिंह एक सिपाही के सपने में आये और उसे अपने पार्थिव शरीर का ठिकाना बताया। उस सिपानी ने यह बात अपने सीनियर को बताई और अगले दिन खोज अभियान हुआ। खोज के दौरान जहाँ सपने में जहग बताई गयी थी शहीद हरभजन सिंह (Baba Harbhajan Singh) का पार्थिव शरीर वहीँ पर मिला। इसके बाद उनका अंतिम संस्कार किया गया और जहाँ से हरभजन का पार्थिव शरीर मिला था वहाँ पर एक बंकर बना दिया। बंकर बनने के बाद वहाँ पर पूजा की जाने लगी।

border patrol is the soul of the young martyr

वहाँ के सैनिक यह मानते हैं कि बाबा हरभजन की आत्मा यहाँ के सैनिकों की और यहाँ के शरहद की रक्षा करती है। यह भी पता चला कि अगर चीन कोई चालबाजी करता है तो उसकी खबर बाबा हरभजन तुरंत सैनिकों तक पहुँचा देते हैं। सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात यह है कि भारतीय सेना हरभजन को आज भी सैलरी और प्रमोशन देती है। भारतीय सेना का यह मानना है कि आज भी हरभजन सिंह अपनी ड्यूटी पर तैनात हैं और सीमा की रक्षा करते हैं।

Baba Harbhajan Singh, The Young martyr's is still on duty after his death.

https://www.newstrend.news/12719/young-martyr-baba-harbhajan-singh/?fbclid=IwAR0lJAc46ld24WPfxgknegAi2n2DewZ80uP0hTwSj9CkFxm2_nMYI-tC0F4

अगला लेख: मकर संक्रांति के दिन ये एक गलती भूलकर भी न करें, वरना शुरू हो जायेगा बुरा समय



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
28 दिसम्बर 2018
पीएम मोदी के सत्तासीन होने के बाद से ही विभिन्न क्षेत्रों में देश की उपलब्धियों से दुनिया में भारत का नाम रोशन होता रहा है। वर्ष 2018 में भी यह सिलसिला जारी रहा। आइए, एक नजर डालते हैं, इस साल की उन उपलब्धियों पर जो पहली बार भारत को हासिल हुईं और जिन्होंने हर भारतवासी को दुनिया में गर्व से सिर ऊंचा क
28 दिसम्बर 2018
07 जनवरी 2019
यूपी की दबंग आईएएस (IAS) अधिकारी बी. चंद्रकला हमेशा अपने तीखे तेवर, अधिकारियों को सबके सामने फटकारने और बयानों को लेकर सुर्खियों में बनी रहती हैं. जो भी गलत काम करते हैं चाहे वो ठेकेदार हो या पुलिस कर्मी सभी को जेल भिजवाने की धमकी देकर कई बार मीडिया के सामने हीरो बनी बी. चंद्रकला यूपी के कई जिलों मे
07 जनवरी 2019
04 जनवरी 2019
बीजेपी के वरिष्ठ नेता और विधायक प्रदीप पुरोहित ने कहा कि पीएम मोदी ओडिशा के पुरी से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं, बीजेपी विधायक ने कहा कि कोई भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ओडिशा से चुनाव लड़ने की संभावना को खारिज नहीं कर सकता है, इस बात की 90 फीसदी संभावना है कि नरेन्द्र
04 जनवरी 2019
07 जनवरी 2019
तीन राज्यों से करारी हार के बाद भाजपा के कर्ता-धर्ता और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आने वाले लोकसभा चुनाव के लिए हर कदम फूंक-फूंककर रख रहे है. लोकसभा 2019 चुनाव को मद्देनजर रखते हुए मोदी सरकार ने प्राइवेट नौकरी करने वालों के लिए नये साल का तोहफा दिया है. सरकार ने प्राइवेट नौकरी वाले कर्मचारियों
07 जनवरी 2019
07 जनवरी 2019
हिन्दू धर्म के शास्त्रों के अनुसार किसी भी व्यक्ति के नाम का पहला अक्षर उसके व्यक्तित्व और व्यवहार से जुड़ी कईं बातों से हमे रूबरू करवाता है. हर नाम का पहला अक्षर उस व्यक्ति के बारे में हमे अच्छी और बुरी दोनों बातें बताता है. आज हम बात करने जा रहे हैं “S” अक्षर से शुरू होने वाले नाम वले व्यक्तियों की
07 जनवरी 2019
28 दिसम्बर 2018
दैनिक भास्कर पटना उत्सव सेलेब्रिटी टॉक शो में पहुंचे शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) बोले हम दिल्ली वाले भी पटना वालों की तरह ही हैं। जैसे ही उन्होंने डॉन फिल्म का डायलॉग ’11 मुल्कों की पुलिस…’ बोला, तो पूरा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। अपने संघर्ष के बारे में बताते
28 दिसम्बर 2018
02 जनवरी 2019
सभी लोगों को खुशहाल जीवन पसंद है ऐसा कोई व्यक्ति होगा जो अपने जीवन में खुश रहना नहीं चाहता होगा लगभग सभी लोग चाहते हैं कि उनके जीवन में कभी भी कोई मुसीबत या कठिन परिस्थितियां ना आए व्यक्ति रोजाना अपना कोई ना कोई कार्य करता रहता है कभी-कभी ऐसा होता है कि व्यक्ति कोई का
02 जनवरी 2019
27 दिसम्बर 2018
मोदी सरकार जबसे केंद्र में आई है तब से उसका एक ही प्रयास है कि ऐसी योजनाएं चलाई जाएं जिससे आर्थिक रूप से अत्यधिक कमजोर वर्गों को सहायता मिले और वह लोग भी समाज में बराबर का योगदान दे पाए।इस संबंध में सरकार ने कई योजनाओं, स्कीम्स को लॉन्च किया है और लोगों तक पहुंचने का प्रयास किया है। और यह भी मैसेज भ
27 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
Guest Post क्या है ?Guest Post करना क्यों ज़रूरी हैं ?Guest Post करने के फ़ायदे Guest Post करते समय किन-किन बातों का ध्यान दें ?शब्दनगरी पर Guest Post करें यदि आप एक हिंदी ब्लॉगर (Hindi Bloggar) हैं तो आपका यह जानना ज़रूरी है कि Guest Post क्या है ? ये करना क्यों ज़रूरी ह
26 दिसम्बर 2018
27 दिसम्बर 2018
सलमान के बारे में बॉलीवुड में एक बात कही जाती है कि वो बड़े ही मासूम इंसान हैं...वह काम को दिल से करते हैं या फिर करते ही नहीं हैं लेकिन इस बात में भी कोई दो राह नहीं है कि सलमान का दिल बार बार टूटा है। संगीता बिजलानी, सोमी अली, ऐश्वर्या राय, केटरीना कैफ, जरीन खान, स्नेहा उल्लाल, ये सब नाम सलमान खान
27 दिसम्बर 2018
28 दिसम्बर 2018
हमारे देश में लोग कहते हैं कि रिलायंस देश के उद्योगों का वो बुलबुला है जिसमें फूटकर छा जाने की कूवत है. मैं कहता हूं कि मैं वो बुलबुला हूं जो फूट चुका है.-धीरूभाई अंबानी ने एक प्रेस कांफ्रेंस में मुस्कुराते हुए कहा थाकई लोगों ने इसे धीर
28 दिसम्बर 2018
29 दिसम्बर 2018
निहित स्वार्थ वाले लोग किसी विश्वास को बनाने या कायम रखने के लिए एक ऐसा आवरण बनाते हैं, जिससे आप महसूस करते हैं कि किसी खास खास वस्तु या सेवा से आपके जीवन में रोचक परिवर्तन आ सकता है। मार्केटर्स हर साल आपको यह समझाने के लिए अरबों डॉलर खर्च करते हैं कि आप उनके इंडस्ट्री का
29 दिसम्बर 2018
31 दिसम्बर 2018
क्या आपके मन में भी कभी ये ख्याल आता है कि आखिर क्यों हर साल न्यू ईयर पर कैलेंडर की तारीखों में बदलाव होता रहता है।आखिर क्यों हर साल त्योहारों से लेकर जन्मदिन तक की सारी तारीखें बदल जाती हैं।अगर आपके मन को भी इन सवालों ने परेशान कर रखा है तो आइए जानते हैं न्यू ईयर मनाने की शुरुआत सबसे पहले कब और कैस
31 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x