क्या आप जानते हैं “Gully Boy” से जुड़े ये 11 Facts ?

12 फरवरी 2019   |  अंकिशा मिश्रा   (75 बार पढ़ा जा चुका है)

क्या आप जानते हैं “Gully Boy” से जुड़े ये 11 Facts ?

“अपना टाइम आएगा” ये एक ऐसा डायलॉग है जो हर एक इंसान को अपने बुरे वक्त में आगे बढ़ने की ताकत देता है। उसको ये बताता है कि जो भी है बीत जायेगा और उसके बाद “अपना टाइम आएगा” . बता दें कि इसी टैग लाइन के साथ एक फिल्म आ रही है “गली बॉय” जिसमें रणबीर सिंह और आलिया भट्ट लीड रोल में हैं। इस फिल्म की कहानी मुंबई में रहने वाले उन रैपर्स की है जिन्होंने अपना सफर स्लम्स और झुग्गियों से शुरू किया लेकिन आज वे सब अपने लिए म्यूजिक इंडस्ट्री में अपनी एक अलग जगह बना चुके हैं। उनका सफर इतना प्रेरणादायक रहा कि उस पर बॉलीवुड डायरेक्टर जोया अख्तर ने फिल्म बनाने का फैसला किया। गली बॉय की कहानी मुंबई के ही एक रैपर विवयन फर्नांडेस उर्फ़ डिवाइन की है। गली बॉय के ट्रेलर के रिलीज़ के बाद से ही डिवाइन एक बार फिर सुर्ख़ियों में आ गए और हर जगह ट्रेंडिंग बन गए है। डिवाइन की कहानी तो शायद आप जानते होंगे लेकिन आज हम डिवाइन से जुड़े ऐसे 11 तथ्य बताने जा रहे हैं जिनके बारे में शायद ही आपको पता होगा।


ये हैं डिवाइन से जुड़े 11 अनसुने तथ्य




  1. डिवाइन का रियल नाम विवयन फर्नांडेस है और उन्होंने अपना स्टेज नाम डिवाइन अपने टी-नेज के दौरान रखा जब वह रिलीजस रैप किया करते थे। डिवाइन का कहना है कि उनकी दादी रोज़ उनको चर्च लेकर जाया करती थी तो उन डिओन मुझे धार्मिक कविताये लिखना बेहद पसंद था और वहां से ही मैंने अपना स्टेज नाम डिवाइन रखा।

  2. डिवाइन का बचपन मुंबई के स्लम्स में बीता जहां उनके माता-पिता की शादी-शुदा ज़िंदगी में बहुत परेशानियां थी। डिवाइन ने एक इंटरव्यू में बताया कि उनके पिता एक शराबी थे और जिसकी वजह से उनके पिता उनको और उनकी माता के साथ मार-पीट किया करते थे। उसके बाद डिवाइन की माता ने ही उनके पुरे परिवार की ज़िम्मेदारी उठाई।

  3. पारिवारिक समस्याओं के चलते डिवाइन को अपनी दादी के घर जाना पड़ा जहां से उन्होंने हिप-हॉप में रूचि लेना शुरू किया। हुआ यूँ कि 2004 में उन्होंने अपने एक दोस्त की टी-शर्ट पर एक अमेरिकन हिपो आर्टिस्ट 50सेंट की फोटो बनी हुई थी तो जब डिवाइन ने अपने दोस्त से 50सेंट के बारे में पूछा तो उसने उस समय के पॉपुलर हिप-हॉप आर्टिस्टों के बारे में उन्हें बताया और उसे उनके गानों की एक सीडी भी भेजी। उस सीडी को सुनने के बाद डिवाइन हिप-हॉप की तरह रूचि लेने और उनका रैपर बनने का सपना वहीं से शुरू हुआ।

  4. डिवाइन से हमेशा उनके हिप-हॉप इन्फ़्लुएंस के बारे में पूछा जाता है और कई बार उन्होंने 50सेंट और उन सभी हिप-हॉप रैपर के बारे में बताया जिनसे उन्हें रैपिंग की प्रेरणा मिली।

  5. 2013 में डिवाइन ने अपना पहला गाना “voice of streets” को रिलीज़ किया उन दिनों डिवाइन केवल अंग्रेजी में ही रैप किया करते थे।

  6. अपने पहले गाने के बाद डिवाइन को ज्यादा रिस्पॉन्स तो नहीं मिला पर उन्हें ये पता चल गया कि जिस तरह के वो गाने लिख रहे हैं उस तरह की ऑडियंस उन गानों तक नहीं पहुंच पा रही क्योंकि उन गानों की भाषा अंग्रेजी थी उसके बाद डिवाइन ने हिंदी में रैप करना शुरू किया और अपनी दूसरी म्यूजिक वीडियो ये मेरा बॉम्बे को रिलीज़ किया ये गाना उनके पिछले गाने से कई ज्यादा सफल रहा और इस गाने को 2014 में रोलिंग स्टोन द्वारा बेस्ट म्यूजिक वीडियो का अवॉर्ड मिला।

  7. 2015 में डिवाइन का गाना मेरी गली में आना आया जिसमे उन्हें नेज़ी के साथ काम करते हुए देखा गया इस गाने से डिवाइन और नेज़ी दोनों की ही ज़िंदगी बदल गई जिसके बाद इसे सोनी म्यूजिक के द्वारा अप्रोच किया गया और खा की ये गण उनके लेबल के साथ लॉन्च करें यहीं से डिवाइन और नेज़ी की ज़िंदगी बदलती चली गई।

  8. बीबीसी एशियाई नेटवर्क फायर इन अ बूट में डिवाइन ने अपने रैप से इतिहास रच दिए जहां वो पहले ऐसे कलाकार बने जिसने हिंदी में रैप किया।

  9. डिवाइन अपने करिअर का सारा श्रेय अपनी माता को देते हैं क्योकि उन्होंने उनकी पढाई और उनको एक बेहतर ज़िंदगी देने के लिए कई त्याग दिए हैं।

  10. डिवाइन से जब हनी सिंह के म्यूजिक के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि जो हनी सिंह करते हैं वो रियल हिपहॉप नहीं है वो बॉलीवुड का अपना ही जॉनर बनाते हैं जिसमे गर्ल्स, शराब, गाड़ियां ये सब जिनसे में खुद को जोड़ नहीं पाता। जो लोग इन सब चीजों को खुद से जोड़ पाते है उनके लिए सही है पर में कोशिश करुगा की हमेशा ऑथेंटिक गाने ही फैंस के लिए लेकर आऊं क्योंकि आज मैं प्रसिद्ध भी उन्हीं गानों की वजह से हूँ तो मैं अपनी जड़ें कभी नहीं भूलुंगा।

  11. स्वतंत्रतापूर्वत काम करने के लिए डिवाइन ने सोनी म्यूजिक को छोड़ दिया और खुद का रिकॉर्ड लेबल लॉन्च किया जिसका नाम उन्होंने गली गैंग रखा। इस बैनर के तले ही वह अपना नया अल्बम वन साइड लॉन्च करेंगे और नई प्रतिभाओं को भी एक मंच देंगें।


अगला लेख: Basic Shiksha News: भारत में साक्षरता दर का पूर्ण विवरण



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
28 जनवरी 2019
ऐसा कहा जाता है कि व्यक्ति अपनी किस्मत खुद बनाता है क्योंकि व्यक्ति द्वारा किए गए कर्म के अनुसार वह अपनी किस्मत बदल सकता है लेकिन इस दुनिया में बहुत से व्यक्ति ऐसे हैं जो कड़ी मेहनत करते हैं और अच्छे कर्म भी करते हैं इसके बावजूद भी उनकी किस्मत नहीं बदल पाती है। आम भाषा में ये भी कहा जाता हैं कि हर
28 जनवरी 2019
04 फरवरी 2019
पाकिस्तान में लड़कियों के लिए कई कड़े नियम होते हैं। वहां रहने वाले लोगों को इन नियमों को मानना भी होता है, लेकिन कहते हैं ना कि जहां चाह वहां राह। एक ऐसा ही वाक्या पाकिस्तान में घटा है जिसके चलते वहां पर पहली बार कोई हिंदू महिला जज बनी हैं। बता दें सुमन पवन बोदानी नाम की ये महिला पहली महिला सिविल ज
04 फरवरी 2019
01 फरवरी 2019
आज हम आज़ादी का मजा लेते हुए अपने घरों में बड़े-बड़े मुद्दों को बड़ी आसानी से बहस में उड़ा देते है, लेकिन कभी सोचा है कि जिन्होंने अपनी जान की परवाह ना करते हुए देश को आज़ाद कराया, उनमें से जो जिंदा हैं, वो किस हाल में हैं ?ये हैं झाँसी के रहने वाले श्रीपत जी, 93 साल से भी ज्यादा की उम्र पार कर चुके श्रीप
01 फरवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x