बूढ़े व्यक्ति को भी जवान बना देने की ताकत रखता है आंवला

21 फरवरी 2019   |  सतीश कालरा   (63 बार पढ़ा जा चुका है)

आँमला उच्चकोटी का रसायन है। इसके बहुत से फायदे हैं, आँवले का उपयोग बुढ़ापा दूर रखने व जवानी बनाए रखने मे सहायक है । यह रक्त से विषैले व हानिकारक पदार्थो को निकालने मे सक्षम है । आंवलो के मौसम मे रोज सुबह व्यायाम या भ्रमण के पश्चात दो पके हुए पुष्ट आँवलों को चाबा कर खाये। अगर कछ आँवला ना खा सके तो आँवला का रस दो चम्मच तथा शहद दो चम्मच मिला कर पिये या इसका का बारीक चूर्ण एक चम्मच की मात्रा, दो चम्मच शहद में रात को सोते समय आखरी वस्तु के रूप मे ले । इस तरह तीन छ: महीनों तक इसका सेवन करने से मनुष्य की काया पलट हो जाती है।

amla

आँवले का उपयोग बुढ़ापा दूर रखता है व जवानी बनाए रखता है, आँवले का निरंतर प्रतिदिन सेवन करने से पाचन शक्ति बढ़ जाती है। गहरी नींद आने लगती है । मर्दाना ताकत बढ़ती है। दाँत मजबूत होते है। बाल काले व चमक दार हो जाते है। मनुष्य बुढ़ापे मे भी जवान बना रहता है।

आँवले मे विटामिन 'सी' अत्यधिक मात्रा मे पाया जाता है । मौसमी से बीस गुना अधिक विटामिन सी पाया जाता है। आँवले मे गेलिक एसिड, अल्बुमिन, टेनिक एसिड, शर्करा कैल्शियम, सेलुलोस पाये जाते है। बीजो से भूरे रंग का तेल निकलता है जो की 16 प्रतिशत होता।

यह भी पढ़े : Aloe vera ke gun, fayde tatha upyog

amle ka ped

आँवले के सेवन से रक्त वाहीनिओ मे लचक बनी रहती है। जिससे मनुष्य का हृदेय फेल नही होता और ना ही उच्च रक्तचाप (high blood pressure) होता है, साथ ही रक्त का थक्का भी नही जमता जिससे दिमाग की नसे नही फटती, आँवले के लगातार सेवन करने से रक्त वहीनिआ लचीली बनी रहती है, चेहरे की झुर्रिया दूर हो जाती है । मनुष्य वृद्धावस्ता मे भी जवान तथा ताकत वर बना रहता है। इस लिए यह बुढ़ापा दूर रखने व जवानी बनाए रखने मे सहायक है।

Read more : नीम का उपयोग त्वचा रोग मे कैसे करें

अगला लेख: एक धार्मिक कहानी तुलसी कौन थी, और इसका विवाह किसके साथ हुआ था



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
02 मार्च 2019
हम लोगो की जिंदगी में सब्जियों का बहुत महत्व है। सब्जियां हम हर रोज ही खाते हैं, सब्जियां न सिर्फ हमारे भोजन का स्वाद बढाती हैं, बल्कि सब्जियां स्वास्थ्य के लिये बहुत ही लाभदायक भी होती हैं, हर सब्जी की अपनी एक अलग उपयोगिता होती है,पर इसके बावजूद कुछ सब्जियां हमारी स्वास्थ के लिए बहुत अच्छी होती हैं
02 मार्च 2019
24 फरवरी 2019
तुलसी के बारे में आप जानते है । यह बुखार सर्दी, जुकाम, खाँसी मे प्रयोग की जाती है । तुलसी सर्वरोग निवारक, जीवनीय शक्तिवर्धक होती है । इसे वृंदा, वैष्णवी, विष्णु बल्लभा, श्री कृष्ण बल्लभा आदि नामो से जाना जाता है । इस औषधि की देवी की तरह पूजा की जाती है । ये सब जगह पाय
24 फरवरी 2019
25 फरवरी 2019
हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों के प्रभाव को हटाने के लिए हमारे शरीर में एक जन्म जात अंग है लीवर । हमारे शरीर की सफाई व स्वतस्थ बनाए रखने के लिए किसी भी बाहरी चीज की आवश्यकता नहीं होती है । लीवर चाहे शरीर के अंदर ही होता है, पर उसके खराब होने का असर शरीर के सभी हिस्सों पर पड़ता है इस लिए लीवर का ख़ास
25 फरवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x