अकेला

25 फरवरी 2019   |  मंजू गीत   (28 बार पढ़ा जा चुका है)

जो जीता है हर किसी के लिए, सोचता है अपनों के लिए। आज फिर वो शख्सअकेला हो गया। बनाया था जिसे अपना दोस्त, साथी, आज वो बेगाना सा हो गया, कहने को बहुत है उसके अपने, फिर भी आज फिर वो अकेला हो गया। तनहाई में करवटें बदलनी तो संभलते होश ने सिखा दी थी। कहते थे जिससे मन की वो भी जहर ए तीर का फनकार निकला। आज फिर वो शख्स अकेला हो गया। एक तरफ सब्र था दूसरी तरफ शिकायत थी, दोनों के बीच में उसका सफ़र निकला। बहुत समझा और समझाया जिसे, वही दिल का जख्म निकला। आज फिर वो शख्स अकेला हो गया। जमाना तो जालिम था ही, मन की कही जिसे, वो भी बेरहम जमाने का किस्सा निकला। कौन था अपना शांत दिवारों, किनारों, के सिवा? कौन था अपना तन्हाई और बीती यादों के सिवा? आज फिर वो शख्स अकेला हो गया। मन रोने को चाहे, कुछ ना कहने को चाहे। लोगों की चार तरह की बातें सोच, खुद से बस यही कहे, जो हुआ अच्छा हुआ... आज फिर वो शख्स अकेला हो गया। बहुत आसान होता है, किसी को अपना कहना। उसको हम बताना। उतना ही मुश्किल होता है, उसे हमारा समझाने में, उसे अपनाने में। अपने मय में तो हर शख्स चूर निकला। आज फिर वो शख्स अकेला हो गया। कभी कुछ नहीं चाहा उससे, कभी कुछ नहीं कहा उससे, फिर भी वो क्यों दूर निकला? अब क्या कहें, क्या ना कहें? अजनबी पन तक ही ये, मन का, साथी का, दोस्ती का दस्तूर निकला.... उसके बाद जो मिला वो गरूर मिला। आज फिर वो शख्स अकेला हो गया। उसे जो मिला, वो सितारा था जो जल गया और जमीं पर भी न आया। ये शख्स इस अनंत आसमां का चांद निकला। जो किसी का लाल बन गया, किसी का महबूब, किसी की उपमा, किसी का अरमान निकला। आज फिर वो शख्स अकेला हो गया। खुद की रोशनी, आस से, विश्वास से हर किसी के लिए खास हुआ। उसकी नाराजगी, शिकायतों , तीखे बोल, सवाल से तो कहीं अच्छा है ख़ामोशी की चादर में खुद को दोहराना। अब नहीं कहेंगे हाल ए दिल उनसे, उनके जहर ए बोल से कहीं अच्छा है, दूर रहना.... अपना मन पाकर भी, आज फिर वो शख्स अकेला हो गया। हां बीतते वक्त के साथ अनुभव खजाना हो गया। हर जानने वाले से डर का पैमाना कुछ ऊंचा हो गया। आज फिर वो शख्स अकेला हो गया।

अगला लेख: कौन



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
सं
25 फरवरी 2019
रि
04 मार्च 2019
कौ
14 फरवरी 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x